अनिद्रा के कारण रहता है दिनभर आलस्य, इससे मिलता है कई रोगों को निमंत्रण; यहां जानिए कैसे पाए भरपूर नींद

अनिद्रा के कारण रहता है दिनभर आलस्य, इससे मिलता है कई रोगों को निमंत्रण; यहां जानिए कैसे पाए भरपूर नींद

अनिद्रा के कारण रहता है दिनभर आलस्य, इससे मिलता है कई रोगों को निमंत्रण; यहां जानिए कैसे पाए भरपूर नींद

नई दिल्ली: लोगों को कोरोना काल में सबसे बड़ी गंभीर समस्या का सामना करना पड़ा वो अनिद्रा. अनिद्रा एक ऐसी बिमारी है जिसके कारण पूरे दिन आलस्य रहता है, पेट संबधि रोग पनपते है और सर ​हमेश भारी रहता है. कोरोना संक्रमण के चलते लोगों को कई तरह का गंभीर समस्याओं का सामना करना पड़ा. स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक इस दौरान लोगों में हृदय और फेफड़ों से संबंधित रोगों के मामले तेजी से बढ़े हैं. कोरोना ने लोगों की नींद को भी बुरी तरह से प्रभावित किया है, यही कारण है कि संक्रमण के कारण लोगों में अनिद्रा की दिक्कतें भी काफी अधिक देखने को मिली हैं. अनिद्रा, नींद से संबंधित एक विकार है, जिसमें लोगों के नींद नहीं आती है या नींद बार-बार टूट जाती है. लिहाजा व्यक्ति पूरे दिन थका हुआ महसूस करता है.

अनिद्रा आपके ऊर्जा के स्तर को करती है कम:
अनिद्रा न केवल आपके ऊर्जा के स्तर, साथ ही मनोदशा, स्वास्थ्य, कार्य की क्षमता और जीवन की गुणवत्ता को भी खराब कर सकती है. डॉक्टरों के मुताबिक सभी लोगों के लिए रोजाना पर्याप्त नींद लेना बेहद जरूरी होता है. वयस्कों को रात में सात से आठ घंटे की नींद आवश्यकता पूरी करनी चाहिए. यदि आप ऐसा करने में कठिनाई महसूस करते हैं, तो सावधान हो जाइए, आप अनिद्रा के शिकार हो सकते हैं. इस समस्या को ठीक करने के लिए वैसे तो कई तरह के उपचार उपलब्ध हैं.

आइए इस लेख में हम प्राकृतिक उपचार की विधियों में खान-पान की कुछ ऐसी चीजों के बारे में जानते हैं जिनका सेवन करना अनिद्रा के रोगियों के लिए काफी फायदेमंद हो सकता है.

रात में हल्दी वाला गर्म दूध पिना होता है फायदेमंद:
अनिद्रा को दूर करने का सबसे कारगर उपाय या इलाज है गर्म दूध. किंतु इसकी भी एक तासीर है. इसे कैसे लिया जाना चाहिए, कब लिया जाना चाहिए आदि. स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक जिन लोगों को नींद से जुड़ी समस्याओं की शिकायत होती है, उन्हें रोज सोने से पहले गर्म दूध में हल्दी मिलाकर पीना चाहिए. दिमाग और शरीर को आराम देने में गर्म दूध को बेहद ही लाभकारी माना जाता है. विशेषज्ञ कहते हैं कि दूध में ट्रिपटोपॉन होता है, जो नींद को बढ़ावा देने में मदद करता है, वहीं हल्की शरीर की कोशिकाओं की मरम्त करके शरीर को आराम दिलाती है.. एक कप गर्म दूध में आप एक या आधा चम्मच हल्दी पाउडर मिला कर सोने से पहले उसका सेवन करें. यह अनिद्रा की समस्या को दूर भगाने में मदद करेगी. 

केला करेगा शरीर में ऊर्जा का संचार:
नींद नहीं आने पर आप केले का उपयोग कर सकते है. केले में भरपुर मात्रा में प्रोटिन होता है. जिससे शरीर में जमा गंदगी को बाहर निकालकर शरीर को मजबूती प्रदान करता है. केले को अनिद्रा की समस्या में बहुत प्रभावी माना गया है. इसमें मौजूद खनिज, जैसे आयरन, कैल्शियम और पोटैशियम अच्छी नींद में सहायक होते हैं. बेड पर जाने से कम से कम एक-दो घंटा पहले आप केला खा सकते हैं. नींद की समस्याओं को दूर करने के साथ केले का सेवन स्वास्थ्य के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है. आहार में केले को शामिल करके आप कई प्रकार के लाभ प्राप्त कर सकते हैं.

दूध में केसर डालकर पीना:
दूध के स्वयं के फायदों का तो कहना ही क्या है यदि इसमें केसर की दो चुटकी मिलाकर पी जाए तो दूध की शक्ति और बढ़ जाती है. ऐसे में अच्छी नींद के लिए केसर भी बहुत उपयोगी होता है. इसमें कई तरह के गुण होते हैं, जो अनिद्रा के इलाज में मदद करते हैं. रात को सोने से पहले दो चुटकी केसर एक कप गर्म दूध में मिलाकर पिएं. इससे बेहतर नींद आएगी और सुबह उठ कर आप तरोताजा महसूस करेंगे. केसर त्वचा और मस्तिष्क के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है. दूध और केसर का सेवन शरीर के लिए बेहद लाभदायक हो सकता है. 

मसाले के रूप में उपयोग में लिया जाने वाला एक मसाला जायफल:
घरों में सब्जी को चटपटा, स्वादिष्ट और लजीज बनाने के लिए खड़े मसालों का उपयोग किया जाता है. ऐसे में घरों में मसाले के रूप में प्रयोग में लाया जाने वाला जायफल कई औषधीय गुणों से भरपूर माना जाता है. इसके इस्तेमाल से अनिद्रा की समस्या खत्म हो सकती है. इसके लिए आप एक कप गर्म दूध में एक-दो चम्मच जायफल पाउडर मिलाएं और सोने से पहले उसका सेवन करें. 

यह अनिद्रा के अलावा अपच और अवसाद के इलाज में भी उपयोगी है. जायफल में मौजूद औषधीय गुण फेफड़े और रक्त की शुद्धता के लिए भी फायदेमंद माना जाता है.

 

और पढ़ें