नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने साधा डोटासरा पर निशाना, कहा- अभी की जो घटना सामने आई उसे RPSC का चमत्कार कहे या भ्रष्टाचार कहें

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने साधा डोटासरा पर निशाना, कहा- अभी की जो घटना सामने आई उसे RPSC का चमत्कार कहे या भ्रष्टाचार कहें

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने साधा डोटासरा पर निशाना, कहा- अभी की जो घटना सामने आई उसे RPSC का चमत्कार कहे या भ्रष्टाचार कहें

जयपुर: नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने आज एक बार फिर पत्रकार वार्ता कर शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा का जकमर घेराव किया. मीडिया से वार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि RPSC द्वारा राजस्थान के योग्यतम व्यक्तियों का सिलेक्शन हो इसीलिए इसका गठन हुआ है. RPSC से राजस्थान के लाखों बच्चों का भविष्य जुड़ा रहता है. 

अभी की जो घटना सामने आई उसे आरपीएससी का चमत्कार कहे या भ्रष्टाचार कहें यह समझ से परे हैं. लेकिन मैं इसलिए चमत्कार कहूंगा क्योंकि मैं भी एक छोटा सा शिक्षक रहा हूं. आरपीएससी इंटरव्यू व्यवस्था पर फिर से विचार करना चाहिए. मैं इसे भ्रष्टाचार इसलिए कहूंगा, क्योंकि चमत्कार से भी ज्यादा यह भ्रष्टाचार है. 

नौजवानों को संघर्ष के लिए आगे आना चाहिए:
कटारिया ने कहा कि आरपीएससी मेंबर के सहयोगी कर्मचारी को 23 लाख की रिश्वतखोरी में ट्रैप किया गया. इससे प्रमाण सिद्ध होता है कि आरपीएससी में भी नंबर देने के पैसे लगते हैं. राजस्थान के नौजवानों को इसके लिए संघर्ष के लिए आगे आना चाहिए. उन्होंने कहा कि 16 की मेरिट लिस्ट में केवल 6 बच्चे ही ऐसे हैं जिन्हें 80% से ज्यादा और अंक मिले हैं. डोटासरा द्वारा कहा कि 300 से अधिक बच्चों के 75% से ज्यादा नंबर आये हैं. 

मुख्यमंत्री इस पूरे प्रकरण की जांच कराएं: 
उन्होंने कहा कि भूपेंद्र यादव की ईमानदारी का मैं प्रशंसक रहा हूं लेकिन इस बार मुझे इस घटना ने संदेह में खड़ा कर दिया है. नेता प्रतिपक्ष ने आगे बोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री इस पूरे प्रकरण की जांच कराएं और डोटासरा को मुक्त करें और जांच में यदि निर्दोष पाए जाएं तो उन्हें वापस बना दें. यह राजस्थान के लिए अफसोस जनक और शर्मनाक प्रकरण है. नंबर लुटाने के इस खेल में पाबंदी लगनी चाहिए. ओरल परीक्षा को और कम कर दिया जाना चाहिए. 

भाजपा नौजवानों के साथ सड़क पर संघर्ष करेगी:
गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि भाजपा नौजवानों के साथ सड़क पर संघर्ष करेगी. इसके साथ ही यह मामला विधानसभा में भी उठाया जाएगा. वहीं शिक्षा विभाग के तबादलों पर भी बोलते हुए कहा कि विभाग में एक जाति विशेष के तबादले हुए हैं और उन्हीं के ही विधानसभा क्षेत्र में सर्वाधिक हुआ हैं. ट्रांसफर की धमाचौकड़ी आप चाहो तो देख लो. 

और पढ़ें