जानें करणपुरा स्टेशन पर एक्सप्रेस ट्रेन रुकने की 'असली' वजह!

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/10/13 11:16

जयपुर (काशीराम चौधरी)। अलवर जिले का करणपुरा स्टेशन इन दिनों चर्चा में है। यहां पर पहली बार किसी मेल या एक्सप्रेस ट्रेन का ठहराव दिया गया है। खास बात यह है कि स्टॉपेज भी उस एक्सप्रेस ट्रेन का दिया गया है, जिसका जयपुर से भरतपुर के बीच में एक भी स्टॉपेज नहीं है। यानी दौसा जिला रेलवे स्टेशन और बांदीकुई जैसे ए ग्रेड स्टेशन को छोड़कर इस छोटे से स्टेशन पर ट्रेन ठहरेगी। और तुर्रा यह कि इसे यात्रियों की मांग बता ठहराव दिया गया है। क्या है ठहराव का असली कारण, क्यों बड़े स्टेशन किए गए इग्नोर, खुलासा करती फर्स्ट इंडिया न्यूज की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट। 

रेलवे प्रशासन ने आगरा कैंट-अहमदाबाद-आगरा कैंट एक्सप्रेस ट्रेन को 6 अक्टूबर से अलवर जिले के करणपुरा रेलवे स्टेशन पर रोकना शुरू कर दिया है। करणपुरा रेलवे स्टेशन बांदीकुई से मंडावर-महवा रोड रेलवे स्टेशनों के बीच में स्थित है। यह बांदीकुई से करीब 23 किमी आगे भरतपुर रूट पर स्थित है। रेलवे की भाषा में इसे फ्लैग स्टेशन के नाम से जाना जाता है। यानी यहां पर केवल कुछ शटल ट्रेनों का ही ठहराव होता है, एक भी मेल या एक्सप्रेस ट्रेन का ठहराव अभी तक करणपुरा में नहीं था। रेलवे में वैसे तो पॉलिसी के अनुसार ट्रेनों के स्टॉपेज में यात्री भार एवं राजस्व अहम स्थान रखते हैं। लेकिन पिछले दिनों रेलवे बोर्ड के आगरा कैंट-अहमदाबाद एक्सप्रेस ट्रेन के करणपुरा फ्लैग स्टेशन पर स्टॉपेज के आदेश ने सभी नियम कायदे ताक पर रख दिए। आगरा कैंट-अहमदाबाद एक्सप्रेस ट्रेन संख्या 12547 सप्ताह में सोमवार, मंगलवार, गुरुवार, शुक्रवार को रात 10:10 पर आगरा कैंट से रवाना होकर देर रात 2:10 बजे जयपुर और अगले दिन दोपहर 1:40 बजे अहमदाबाद पहुंचती है। वापसी में यह ट्रेन संख्या 12548 अहमदाबाद से शाम 16:55 बजे सोमवार, बुधवार, गुरुवार एवं रविवार को रवाना होकर अगले दिन अल सुबह 04:05 बजे जयपुर और 8:30 बजे आगरा कैंट पहुंचती है।

आगरा कैंट-अहमदाबाद ट्रेन के स्टॉपेज को लेकर विवाद

- भरतपुर से जयपुर के बीच में किसी भी स्टेशन पर ठहराव नहीं
- 6 अक्टूबर से करणपुरा में शुरू किया ट्रेन का स्टॉपेज
- जयपुर के गांधीनगर से रोज 10 हजार यात्री, 11 लाख की आय
- बांदीकुई जंक्शन पर रोजाना 7500 यात्रीभार और 8.50 लाख की आय
- दौसा जंक्शन पर रोजाना 7000 यात्रीभार और 7 लाख रुपए की आय
- इसके बावजूद इन तीनों स्टेशनों पर नहीं दिया ट्रेन का स्टॉपेज
- रेलवे प्रशासन ने स्टॉपेज दिया करणपुरा स्टेशन पर, जहां रोज 150 यात्री
- रेलवे की रोज की आय मात्र 2500 से 3000 रुपए के बीच

इस ट्रेन का शुरूआत से ही आगरा कैंट, अछनेरा, भरतपुर, जयपुर, अजमेर, ब्यावर, मारवाड़, फलाना, पिंडार, आबूरोड, पालनपुर, महसाना के बाद अहमदाबाद स्टॉपेज चला आ रहा है। जयपुर रेल मंडल प्रशासन इस ट्रेन के लिए गांधीनगर और बांदीकुई पर स्टॉपेज देने के लिए लंबे समय से रेलवे बोर्ड से मांग कर रहा है। लेकिन बोर्ड ने इस मांग को दरकिनार करते हुए ट्रेन को एक ऐसे स्टेशन पर स्टॉपेज दे दिया जिसकी आय और यात्रीभार एक पैसेंजर ट्रेन के स्टोपेज के नियमों को भी पूरा नहीं करता। यहां केवल इक्का-दुक्का शटल ट्रेनों का ही ठहराव होता है। अब आगरा कैंट-अहमदाबाद एक्सप्रेस ट्रेन 6 अक्टूबर से आगरा कैंट से 10:10 बजे रवाना होकर रात 12:10 बजे करणपुरा स्टेशन पर एक मिनट का स्टॉपेज करेगी। वापसी में यह ट्रेन सुबह 5:58 पर आकर एक मिनट का स्टॉपेज के बाद आगरा कैंट के लिए रवाना होगी

आखिर क्या राज है ट्रेन के ठहराव का ?

- रेलवे का नियम है कि स्टेशन पर 2000 से 2500 यात्रियों का आवागमन हो
- रोजाना 1 लाख रुपए से ज्यादा टिकटों की आय स्टेशन से हो
- लेकिन करणपुरा में रेलवे की ये दोनों ही शर्तें पूरी नहीं
- न ही किसी राजनीतिक दबाव में किया गया है ट्रेन का स्टॉपेज
- सूत्रों के अनुसार करीब 20 अधिकारी हैं इसी गांव के
- रेलवे बोर्ड में पदस्थापित होने से किया ट्रेन का स्टॉपेज
- पहले दिल्ली से जयपुर होकर शटल ट्रेनों में सफर करना पड़ता था अफसरों को
- अब दिल्ली से आते समय एक्सप्रेस ट्रेन से उतर सकेंगे सीधे गांव में

हाल ही में 29 सितंबर को जयपुर मंडल की मंडलीय समिति की बैठक में जयपुर सांसद रामचरण बोहरा और दौसा सांसद हरीश मीना ने अजमेर-आगरा फोर्ट ट्रेन का ठहराव जगतपुरा और बांदीकुई स्टेशनों पर करने की मांग की थी, तो रेलवे अधिकारियों ने रेलवे बोर्ड से अनुमति मिलने के बाद ठहराव शुरू करने के बारे में कहा था। लेकिन रेलवे अफसरों ने अपनी मर्जी से आगरा कैंट-अहमदाबाद ट्रेन का ठहराव करणपुरा जैसे छोटे स्टेशन पर कर दिया है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in