लोकसभा चुनाव : जानें क्या है वस्‍त्रनगरी भीलवाड़ा के सियासी समीकरण

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/04/14 06:13

भीलवाड़ा। वस्‍त्रनगरी के रूप में विख्यात भीलवाड़ा का देश और प्रदेश की राजनीति में एक दशक पूर्व तक खासा हस्तक्षेप रहा। राजस्‍थान की राजनीति के धूरी रहे कपड़ा नगरी भीलवाड़ा से सांसद का चुनाव लड़कर केन्द्रीय मंत्री तक की कुर्सी भीलवाड़ा के सांसद ने हासिल की। 9 करोड़ मीटर कपड़ा हर माह बनाने वाले भीलवाड़ा में लोकसभा की चुनावी रंगत पूरी तरह दिखने लगी है। 

भाजपा ने अपना प्रत्‍याशी जहां पेशे से सीए (चार्टेड एकाउन्‍ट) सुभाष चन्‍द्र बहेडि़या को बनाया है तो वहीं कांग्रेस ने अपने निर्वतमान जिलाध्‍यक्ष रामपाल शर्मा पर दांव खेला है। मजेदार बात यह है कि चुनावी मैदान में उतरें भाजपा और कांग्रेस के दोनों प्रत्‍याशी अपने-अपने संगठन की सिढियां चढते हुए लोकसभा टिकट पाने के मुकाम तक पहुंचे है।

निर्वतमान सांसद व भाजपा प्रत्‍याशी सुभाष बहेडिया को 17 दिन पहले ही पार्टी ने टिकट दे दिया था और वह अगले दिन से ही गांवों में चौपाल तक पहुचने लगे। उधर, कांग्रेस प्रत्‍याशी रामपाल शर्मा को 5 दिन पूर्व टिकट दिया गया। दोनों प्रत्‍याशियों ने टिकट मिलने के अगले दिन से चुनावी समर में अपनी-अपनी जीत के दावों के साथ गांवों की चौपाली की तरफ रूख करना शुरू कर दिया। 

सुभाष बहेडिया का प्‍लस:

बहेडिया 2014 में दुसरी बार सांसद चूनकर गये थे। इससे पूर्व 1996 में भी बहेडि़या लोकसभा चुनाव के सदस्‍य रहे चूके हैं। सांसद की सादगी व बेदाग छवी है। बहेडिया एक बार भीलवाड़ा शहर से विधायक की पारी भी खेल चूके हैं। परिचित जनप्रतिनि‍धी को जनता ने यह सोचकर लोकसभा में भेजा। लोगों की उम्‍मीद थी कि जिले के पेयजल समस्‍या और मेडिकल हैल्‍थ सेवाओं में सुधार होगा और इस पर काफी हद तक बहेडिया खैर भी उतरें है। निर्वतमान सांसद का सबसे बडा प्‍लस पॉइन्‍ट यह है कि भीलवाडा जिले भर में संघ के धरातल पर मजबूत कार्य होना और वह संघ सांसद बहेडिया के पक्ष में खुलकर लगा है। सांसद बहेडिया का सबसे बडा माइनस हाल ही बीते विधानसभा चुनाव में भीलवाड़ा विधायक विठ्ठल शंकर अवस्‍थी की टिकट के दौरान परेवी से लेकर चुनाव नतीजे आने तक उनके साथ खडे रहने से टिकट के दावेदार करीब आधे दर्जन भीलवाड़ा के नेता उनके खिलाफ मन में खटास पाले हुए है। जिसमें कभी स्‍ंवय बहेडिया के सार्गीद रहे दामोदर अग्रवाल भी शामिल है।

कांग्रेस प्रत्‍याशी रामपाल शर्मा का प्‍लस:

शर्मा के पास लम्‍बा संगठन के कामकाज का अनुभव है। 33 साल रामपाल शर्मा ने संगठन के अलग-अलग पदों पर रहने के साथ-साथ यूआईटी चैयरमेन की पारी भी खेली है। भीलवड़ा युथ कांग्रेस के अध्‍यक्ष अपनी राजनिती का पारी का आगाज करने वाले रामपा शर्मा 2013 के विधानसभा चुनाव में माण्‍डल विधानसभा क्षैत्र से प्रत्‍याशी भी रह चूके है। 2013 के विधानसभा चुनाव में पार्टी ने उन्‍हे माण्‍डल से प्रत्‍याशी बनाया मगर वे करीब 45 हजार के मार्जिन से चुनाव हार गये। वहीं गत विधानसभा चुनाव में उन पर जिलाध्‍यक्ष होने के बावजूद पार्टी को आशानुरूप सफलता नहीं मिल पायी। ऐसे में चुनावी समर में सफर उनके लिए आसान नहीं दिख रहा है।

भीलवाड़ा लोकसभा क्षेत्र से कब कौन रहा सांसद:

 वर्ष                सांसद                             पार्टी

1952            हरीराम नाथानी               रामराज्‍य परिषद्
1957            रमेश चन्‍द्र व्‍यास              कांग्रेस (प्रमुख स्‍वाधिनता सेनानी और इंटक के संस्‍थापक)
1962            कालू लाल श्रीमाली           कांग्रेस (केंद्रीय शिक्षामंत्री रहे)
1964            शिवचरण माथूर               कांग्रेस (उपचुनाव) 
1971            हेमेन्‍द्र सिंह बनेड़ा             जनसंघ
1977            रूपलाल सोमानी              जनतापार्टी
1980            गिरधारी लाल व्‍यास           कांग्रेस  (प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष रहे)
1984            गिरधारी लाल व्‍यास           कांग्रेस
1989            हेमेन्‍द्र सिंह बनेड़ा              जनता दल
1991            शिवचरण माथुर                कांग्रेस ( मुख्‍यमंत्री और राज्‍यपाल रहे)
1996            सुभाष चन्‍द्र बहेडिया          भाजपा
1998            रामपाल उपाध्‍याय             कांग्रेस
1999            वीपी सिंह बदनौर              भाजपा
2004            वीपी सिंह बदनौर              भाजपा
2009            डॉ.सी.पी.जोशी                 कांग्रेस (केंद्र में मंत्री रहे)
2014            सुभाष चन्‍द्र बहेडिया          भाजपा

भीलवाड़ा लोकसभा क्षैत्र में जातिगत समीकरण यूं है:

अनूसूचित जाति – साढे 3 लाख
अनूसूचित जाति –  2 लाख
ब्राह्मण मतदाता – 3 लाख
गुर्जर मतदाता – 1 लाख 30 हजार
मुस्लिम मतदाता – 1 लाख 50 हजार
जाट मतदाता –   80 हजार           

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in