close ads


Lockdown: देश में सादगी से मना बैसाखी पर्व, लोग घरों में मना रहे है उत्सव, सारे कार्यक्रम हुए रद्द

Lockdown: देश में सादगी से मना बैसाखी पर्व, लोग घरों में मना रहे है उत्सव, सारे कार्यक्रम हुए रद्द

नई दिल्ली: देश में हर सीजन में त्यौहार मनाये जाते है. भारत में सबसे ज्यादा त्यौहार मनाये जाते है. यहां की परम्पराये पूरी दुनिया से अलग है. यहां की संस्कृति ने पूरे देशों पर अपनी छाप छोड़ी है. आज पूरा देश बैसाखी का पर्व मना रहा है. देश के तमाम नेता बैसाखी पर्व पर अपनी शुभकामनाएं दे रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने भी बैसाखी पर्व पर शुभकामनाएं और बधाई दी है. 

इस वर्ष नहीं हुआ बैसाखी पर उत्सव:
हर वर्ष बैसाखी पर बडे ही धूमधाम से उत्सव मनाया जाता है, लेकिन इस वर्ष सारे त्यौहार कोरोना की भेंट चढ गए है. देशभर में लॉकडाउन है. कोरोना की वजह से सोशल डिस्टेंसिंग पालना जरूरी है. लोग घरों से बाहर नहीं निकल रहे है. लोग घरों में बैसाखी का उत्सव मना रहे है. लॉकडाउन के चलते इस वर्ष बैसाखी के सभी कार्यक्रम रद्द किए जा चुके हैं. कोरोना संकट के कारण से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए लोग इस बार त्योहार मना रहे हैं.

अभिनेता वरुण धवन के करीबी को हुआ कोरोना, फैंस से की घरों में रहने की अपील
  
इसलिए मनाया जाता है बैसाखी का पर्व:
बैसाखी का पर्व मनाने के पीछे एक मान्यता है. हमारे देश में इस सीजन में रबी की फसल पक कर तैयार हो जाती है. तो इस फसल का कटने का जो वक्त होता है, उसे बैसाखी पर्व के रूप में मनाया जाता है. इस पर्व पर किसानों में अलग ही खुशी रहती है.

इन राज्यों में विशेष महत्व:
वैसे तो पूरे देशभर में यह त्यौहार मनाया जाता है, लेकिन खासतौर पर पंजाब और हरियाणा में इस वर्ष का विशेष महत्व है. यहां पर इस पर्व पर अलग ही जोश नजर आता है. लोग ढोल-नगाड़ों पर नाचते-गाते है. गुरुद्वारों को विशेष रूप से सजाया जाता है. यहां भजन-कीर्तन होते है. घर-घर में पकवान बनते है, सारे परिवार के सदस्य एक साथ मिलकर ये त्यौहार मनाते है. 

Coronavirus Updates: कोरोना वारियर्स पर संकट, जोधपुर में एक पुलिसकर्मी को भी हुआ कोरोना, इलाज जारी

और पढ़ें