लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा- कोविड-19 की चोट से तेजी से उबर रही है भारतीय अर्थव्यवस्था

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा- कोविड-19 की चोट से तेजी से उबर रही है भारतीय अर्थव्यवस्था

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा- कोविड-19 की चोट से तेजी से उबर रही है भारतीय अर्थव्यवस्था

इंदौर (मध्यप्रदेश): लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शनिवार को कहा कि भारत ने समाज के सभी तबकों के सहयोग से कोविड-19 संकट की चुनौतियों को अवसर में बदल दिया है. नतीजतन महामारी की चोट से देश की अर्थव्यवस्था तेजी के साथ उबर रही है.

सामूहिक सहयोग से कोरोना महामारी चुनौतियों के बाद भी अर्थव्यवस्था में हुआ सुधारः
ओम बिरला ने यहां कम्पनी सचिवों के 48वें राष्ट्रीय अधिवेशन में वीडियो कॉन्फ्रेंस से शिरकत करते हुए कहा कि भारत में हमने सामूहिक सहयोग से कोरोना महामारी की चुनौतियों को अवसर में बदलते हुए अपनी अर्थव्यवस्था में सुधार किया है. इसलिए हमारी अर्थव्यवस्था वी-आकार में बढ़ रही है. गौरतलब है कि वी-आकार की वृद्धि से तात्पर्य किसी अर्थव्यवस्था में तेज गिरावट के बाद तेजी से सुधार से होता है.

ओम बिरला ने शासन-प्रशासन के सभी क्षेत्रों में विकेंद्रीकरण को सबसे बड़ी आवश्यकता बतायाः
ओम बिरला ने कहा कि देश आत्मनिर्भर बनने की दिशा में आगे बढ़ रहा है और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करते हुए रोजगार के अवसरों में इजाफा करना चाहता है. उन्होंने देश में शासन-प्रशासन के सभी क्षेत्रों में विकेंद्रीकरण को सबसे बड़ी आवश्यकता बताया और कहा कि शासन-प्रशासन के विकेंद्रीकरण के पीछे हमारा मकसद यह है कि इस अवधारणा को अमली जामा पहनाने से खासकर ग्रामीण क्षेत्र मजबूत होगा. बिरला ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र को मजबूत करते हुए समाज को नई दिशा देने के लिए ग्राम पंचायतों का सशक्तिकरण जरूरी है क्योंकि ये निकाय लोकंतत्र की सबसे छोटी इकाइयां हैं.

कॉरपोरेट जगत में सुशासन और आर्थिक शुचिता के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रवृत्तियों को अपनाने का कम्पनी सचिवों से आह्वानः
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कम्पनी सचिवों से आह्वान किया कि वे कॉरपोरेट जगत में सुशासन और आर्थिक शुचिता के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रवृत्तियों को अपनाएं. उन्होंने कहा कि कम्पनी सचिव बनने की राह पर आगे बढ़ रहे विद्यार्थियों के मन में यह भाव रहना चाहिए कि वे अपने पेशेवर जीवन में सत्य की राह पर चलते हुए कंपनी संचालन को मजबूत बनाएंगे.
सोर्स भाषा

और पढ़ें