VIDEO: लोकसभा चुनाव : भाजपा के 16 योद्धा मैदान में, करीब 1 दर्जन सीटों पर असंतोष के सुर

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/03/24 11:19

जयपुर (योगेश शर्मा)। बीजेपी ने लोकसभा चुनावों के समर में 16 योद्धा तो उतार दिये, लेकिन जनता के बीच जाने के साथ साथ उन्हें जूझना पड़ रहा है। अंतर कलह से 16 लोकसभा क्षेत्रों में से तकरीबन 1 दर्जन सीटें ऐसी जहां असंतोष के सुर नजर आ रहे हैं। कुछ जगह डैमेज कंट्रोल नजर आ रहा है, तो कुछ जगहों पर कलह थाम ली गई है। बीजेपी की कोर कमेटी में भी प्रचार प्रसार के साथ अंतर कलह को थामने पर बात हुई है। खास रिपोर्ट: 

लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने टिकट वितरित करके बढ़त बना ली थी। राजस्थान में 16सीटों पर उम्मीदवार घोषित कर दिये। उम्मीदवारों ने भगवान को पूजने के साथ ही चुनावी प्रचार शुरु कर दिया था, लेकिन इनमें से अधिकांश को जूझना पड़ रहा है अंतर कलह से। झालावाड़-बारां समेत कुछ सीटें ही ऐसी है जहां पर किसी तरह का कोई असंतोष सामने नहीं आया है। 

पाली:
—यहां से बीजेपी प्रत्याशी है मौजूदा सांसद पीपी चौधरी 
—टिकट चयन से पहले ही चौधरी के खिलाफ पनप गया था असंतोष 
—पुष्प जैन के पक्ष में एक गुट हुआ था लामबंद 
—चौधरी को टिकट देने का विरोध किया गया था
—स्थानीय विधायक तक के खिलाफ नजर आये थे
—अब पीपी की कोशिश डैमेज को कंट्रोल किया जाये

बीकानेर:
—यहां से अर्जुन राम मेघवाल है बीजेपी के उम्मीदवार 
—मौजूदा सांसद मेघवाल को टिकट देने का भाटी ने किया था विरोध
—मेघवाल के कारण देवी सिंह भाटी ने बीजेपी से इस्तीफा दिया
—हालांकि पार्टी ने इस्तीफा मंजूर नहीं किया 
—मेघवाल के खिलाफ भाटी ने अन्य जातियों का सम्मेलन किया था
—अब मेघवाल की कोशिश असंतोष को थामा जाये

झुंझुनूं: 
—यहां से बीजेपी ने मौजूदा सांसद का टिकट काट दिया
—संतोष अहलावत टिकट कटने के बाद से नाराज
—बीजेपी ने अहलावत की जगह नरेन्द्र को टिकट थमाया
—दशरथ सिंह व काका सुंदर लाल रहे है अहलावत विरोधी

सीकर:
—सीकर से बीजेपी ने सुमेधानंद सरस्वती को फिर उतारा
—हरिराम रिणवां यहां से मजबूत दावेदार थे
—अब रिणवां व बाजौर कैम्प में असंतोष 
—सरस्वती विरोधी धड़ा सक्रिय है

कोटा:
—कोटा से ओम बिरला फिर बीजेपी के उम्मीदवार 
—हाड़ौती में बीजेपी का एक धड़ा उनके विरोध में
—यहां इज्येराज सिंह, प्रहलाद गुंजल और भवानी राजावत के धड़े 
—संघनिष्ठ धड़े के कुछ प्रमुख नेता रहे है खिलाफ
—बिरला की कोशिश अंतर कलह को थामने की

टोंक-सवाई माधोपुर:
—यहां से बीजेपी ने सुखबीर सिंह जौनापुरिया को उतारा
—एक धड़ा कर रहा जौनापुरिया कैम्प का विरोध 
—प्रभुलाल सैनी-अजीत मेहता गुट माना जाता है विरोधी
—जौनापुरिया जुटे है डैमेज कंट्रोल में 

जालोर-सिरोही: 
—बीजेपी ने फिर उतारा देवजी पटेल को
—देवजी के कारण एक खेमे के बीच असंतोष 
—विरोधी खेमा था मेघराज-शंकर सिंह राजपुरोहित के साथ 
—हालांकि देवजी पटेल माहिर है कूटनीति में 

चितौड़:
—यहां बीजेपी के फिर से उम्मीदवार है सीपी जोशी
—एक खेमे के बीच उनके टिकट को लेकर विवाद 
—चंद्रभान आख्या का यहां अलग गुट 

असंतोष की कलह को थामने के लिये पार्टी  नेतृत्व  और खुद उम्मीदवार दोनों जुटे है। मान मनुहार और गिले शिकवे दूर करने के भरसक प्रयास हो रहे हैं। सफलता कितनी मिलती है यह उम्मीदवार की सियासी काबिलियत पर निर्भर है, नहीं तो चुनावी नुकसान के लिये सावधान रहना होगा। 

...ऐश्वर्य प्रधान के साथ योगेश शर्मा की रिपोर्ट 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in