लोकेंद्र सिंह कालवी ने बीजेपी को लेकर दिया नागौर में बड़ा बयान

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/11/28 09:01

डीडवाना(नागौर)। प्रदेश के होने वाले विधानसभा चुनाव में इस बार करणी सेना भाजपा के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरेगी । करणी सेना के संयोजक लोकेन्द्र सिंह कालवी ने आज नागौर में मीडिया से रुबरु होते हुये साफ कर दिया की करनी सेना इस बार के चुनाव भाजपा के खिलाफ चुनाव में उतरेगी । साथ भाजपा को हराना ही करणी सेना का मकसद रहेगा । 

इसके साथ कालवी भाजपा सरकार पर जमकर गरजे और कांग्रेस को नागौर जिले मे भौगोलिक स्थिति को देखते हुए समर्थन देने की बात कही नागौर में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस मे कालवी ने नागौर व जायल मे कांग्रेस प्रत्याशी  का समर्थन किया तो खींवसर मे राजपूत समाज समयनुसार निर्णय करेगी और डेगाना में निर्दलीय राजपूत उम्मीदवार का समर्थन करेगी । साथ ही  कालवी ने कहा कि जिन लोगों ने भाजपा की नींव रखी, आज उन्हीं का भाजपा में कोई सम्मान नहीं है सांवराद हिसा मामले मे समाज के लोगो को  फंसा दिया लेकिन अब समाज भाजपा के साथ नहीं हैं। 

साथ ही बीजेपी ने जतियों को बांट दिया इसलिए जनता बदलाव चाहती है। राम मंदिर के मामले भी कालवी ने केंद्र सरकार पर वोटो की राजनीति करने का आरोप लगाते हुये कहा कि केंद्र सरकार लबे समय से राम मंदिर के मुद्दे पर गुमराह कर रही है लेकिन अब सब्र का बांध टूट गया है और अब कालवी ने मोदी सरकार को मार्च तक अल्टीमेट देते हुये राम मंदिर मुद्दे पर अध्यादेश लाकर राम मंदिर में रामलल्ला के मंदिर बनाने की बात कही है । 

अगर आने वाले मार्च तक केंद्र की भाजपा सरकार राम मंदिर व आरक्षण के मुद्दे पर समीक्षा नही करती है तो दिल्ली में बड़ा आंदोलन किया जायेगा   कालवी ने भाजपा पर आरक्षण के नाम पर जातिगत जहर घोलने का आरोप लगाते हुए कहा कि आपको बता दे कि जातिगत आरक्षण के साथ ही समता आंदोलन समिति पदोन्नति मे आरक्षण का मामले पर अब केन्द्र की मोदी सरकार पर राजपूत करणी सेना ने बडा हमला बोल दिया है । सजातीय लोगों को आरक्षण के फायदों से महरूम कर रहा है,कालवी ने कहा कि तब सौगंध लेते थे कि रामलला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे । लेकिन अब सौगंध राम की लेते हैं कि भाजपा को हराएंगे। 

करणी सेना अब कांग्रेस के जरिए बीजेपी से बदला लेकर  राजस्थान में एंटी इनकमबैंसी फैक्टर को फायदा लेने के मूड मे हैवे आसानी से बीजेपी को राजपूत  समाज अब पछाड़ देंगे आपको बता दे कि जातिगत आरक्षण के साथ ही समता आंदोलन समिति पदोन्नति मे आरक्षण का मामले पर अब केन्द्र की मोदी सरकार पर राजपूत करणी सेना ने बडा हमला बोल दिया है  सजातीय लोगों को आरक्षण के फायदों से महरूम कर रहा है,आपको बता दे कि कालवी ने कहां CBI की जांच मे राजपूत समाज पर जांच फंसा दिया और गिरफ्तारी की तलवार लटकी है दूसरी और बीजेपी को पता है कि चुनावी साल में आरक्षण का मुद्दा कितना फायदा और नुकसान करा सकता है।

यही वजह है कि 2 अप्रैल की रैली के दौरान आरक्षित वर्गों के लोगों पर दर्ज हुए आपराधिक मामलों को खत्म करने का मन बना लिया गया है। राजे सरकार जेलों में बंद एससी/एसटी युवाओं को रिहा करने जा रही है। इससे दलितों के बीच उसे अपने लिए सहानुभूति पैदा होने के आसार लग रहे हैं लेकिन सांवराद हिंसा मामले मे राजपूत समाज को CBI की जांच फंसा दिया।
नरपत ज़ोया
संवाददाता
फ़र्स्ट इंडिया न्यूज
नागौर

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in