Live News »

द्वारकाधीश की 51 वीं परिक्रमा यात्रा में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

द्वारकाधीश की 51 वीं परिक्रमा यात्रा में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

झालावाड़। जिले के झालरापाटन में भगवान द्वारकाधीश की 51 वीं परिक्रमा यात्रा में रविवार को श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। इस साढ़े तीन कोसी परिक्रमा यात्रा में राजस्थान के हाड़ौती अंचल सहित मध्यप्रदेश के मालवा क्षेत्र से भी हजारों महिला एवं पुरूषों ने भाग लेकर पुण्य कमाया। परिक्रमा यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं का सैलाब झालरापाटन की सड़कों पर उमड़ पड़ा। जगह-जगह पुष्प वर्षा एवं ढोल की थाप पर नाचते गाते महिलाओं एवं पुरूषों ने द्वारकाधीश के जयकारों के साथ बिना थके यह साढ़े तीन कोसी यात्रा पूरी की।

राजस्थान के झालावाड़ जिले के झालरापाटन में रविवार सुबह पुष्टि भक्ति सत्संग समिति के तत्वाधान में भगवान द्वारकाधीश की मंगला आरती के बाद 51वीं पंचकोसी परिक्रमा यात्रा शुरू हुई। इस यात्रा में राजस्थान सहित पडौसी राज्य मध्यप्रदेश के भी कई जिलों से हजारों लोगों ने भाग लिया। यात्रा में भाग लेने के लिये श्रद्धालुओं का उत्साह इस कदर था कि सुबह पौ फटने के बाद से ही श्रद्धालु झालरापाटन पहुंचने शुरू हो गये थे। मंगला आरती के बाद जैसे ही यात्रा शुरू हुई श्रद्धालु भगवान द्वारकाधीश के जयकारे लगाते हुऐ ढोल की थाप पर झूमते नजर आये। समूचे परिक्रमा मार्ग पर श्रद्धालुओं का रैला नजर आ रहा था। श्रद्धालुओं की भीड़ पूरे मार्ग में इस कदर थी कि पुलिस को परिक्रमा मार्ग से गुजरने वाले वाहनों को कई घण्टों तक रोकना पड़ा। परिक्रमा यात्रा में महिलाओं में खासा उत्साह देखा गया नंगे पैर चलती  महिला, पुरूष व बच्चों ने बिना थके कई किलोमीटर की दूरी भगवान के जयकारे व भजन गाकर पूरे उत्साह से हंसते हुऐ पूरी कर ली। 

भगवान द्वारकाधीश की इस 51 वीं परिक्रमा यात्रा में पदयात्रियों को रास्ते में कोई असुविधा न हो इसके लिये जगह-जगह चाय व भोजन एवं अल्पाहार की व्यवस्था की गई। वहीं पुलिस ने भी यातायात को परिवर्तित किया। इस यात्रा में 6 साल से 80 साल तक के लोगो ने भाग लिया। वहीं आस्था के आगे सर्दी का असर भी फीका नजर आया।  
आरिफ मंसूरी झालावाड़ 

और पढ़ें

Most Related Stories

भगवान द्वारिकाधीश की 54 वीं परिक्रमा में उमड़ा श्रद्धा का सैलाब

भगवान द्वारिकाधीश की 54 वीं परिक्रमा में उमड़ा श्रद्धा का सैलाब

झालावाड़: जिले के झालरापाटन शहर में भगवान द्वारिकाधीश की 54 वीं परिक्रमा यात्रा में रविवार को श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा. इस साढ़े तीन कोसी परिक्रमा यात्रा में राजस्थान के हाड़ौती अंचल सहित मध्यप्रदेश के मालवा क्षेत्र से भी हजारों महिला एवं पुरूषों ने भाग लेकर पुण्य कमाया. परिक्रमा यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं का सैलाब झालरापाटन की सड़कों पर उमड़ पड़ा. जगह-जगह पुष्प वर्षा एवं ढोल की थाप पर नाचते गाते महिलाओं एवं पुरूषों ने द्वारिकाधीश के जयकारों के साथ बिना थके यह साढ़े तीन कोसी यात्रा पूरी करने में जुट गए.

परिक्रमा यात्रा में हजारों लोगों ने लिया भाग:
झालरापाटन में पुष्टि भक्ति सत्संग समिति के तत्वाधान में भगवान द्वारिकाधीश की मंगला आरती के बाद 54 वीं  परिक्रमा यात्रा शुरू हुई. इस यात्रा में राजस्थान सहित पडोसी राज्य मध्यप्रदेश के भी कई जिलों से हजारों लोगों ने भाग लिया. यात्रा में भाग लेने के लिये श्रद्धालुओं का उत्साह इस कदर था कि सुबह पौ फटने के बाद से ही श्रद्धालु झालरापाटन पहुंचने शुरू हो गये थे. मंगला आरती के बाद जैसे ही यात्रा शुरू हुई श्रद्धालु भगवान द्वारिकाधीश के जयकारे लगाते हुऐ ढोल की थाप पर झूमते नजर आये. समूचे परिक्रमा मार्ग पर श्रद्धालुओं का रैला नजर आ रहा था. श्रद्धालुओं की भीड़ पूरे मार्ग में इस कदर थी कि पुलिस को परिक्रमा मार्ग से गुजरने वाले वाहनों को कई घण्टों तक रोकना पड़ा. परिक्रमा यात्रा में महिलाओं में खासा उत्साह देखा गया. महिला, पुरूष व बच्चों ने बिना थके कई किलोमीटर की दूरी भगवान के जयकारे व भजन गाकर पूरे उत्साह से हंसते हुऐ पूरी करली. 

परिक्रमा यात्रा में जगह-जगह अल्पाहार की व्यवस्था:
भगवान द्वारिकाधीश की इस 54 वीं परिक्रमा यात्रा में पदयात्रियों को रास्ते में कोई असुविधा न हो इसके लिये जगह-जगह चाय व भोजन एवं अल्पाहार की व्यवस्था की गई. वहीं पुलिस ने भी यातायात को परिवर्तित किया. 

Open Covid-19