जयपुर विधायक हेमाराम चौधरी का इस्तीफा नहीं होगा मंजूर ! स्पीकर डॉ. सीपी जोशी ने दी नई जिम्मेदारी

विधायक हेमाराम चौधरी का इस्तीफा नहीं होगा मंजूर ! स्पीकर डॉ. सीपी जोशी ने दी नई जिम्मेदारी

विधायक हेमाराम चौधरी का इस्तीफा नहीं होगा मंजूर ! स्पीकर डॉ. सीपी जोशी ने दी नई जिम्मेदारी

जयपुर: कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक हेमाराम चौधरी (MLA Hemaram Chaudhary) का इस्तीफा (resignation) मंजूर नहीं होगा. स्पीकर डॉ.सीपी जोशी (Dr. CP Joshi) ने हेमाराम चौधरी को एक नई जिम्मेदारी दी है. विधानसभा अध्यक्ष ने विधायक चौधरी को विधानसभा की समितियों में प्रमुख जगह दी है. हेमाराम को राजकीय उपक्रम समिति में सभापति बनाया गया है. इस नियुक्ति से ही सीपी जोशी की मंशा साफ हो गई. जबकि हेमाराम के इस्तीफे का मामला अभी स्पीकर के पास लंबित था. 

आपको बता दें कि हेमाराम चौधरी ने 18 मई को विधायक पद से इस्तीफा दिया था. विधानसभा सचिवालय ने उन्हें लॉकडाउन खुलने के 7 दिन के भीतर आने को कहा था. हेमाराम ने स्पीकर से मिलने की भी कोशिश की थी लेकिन दोनों की मुलाकात नहीं हो पाई थी. इस बीच स्पीकर सोमवार से 7 दिन के लिए नाथद्वारा जा रहे हैं. अब स्पीकर ने नई नियुक्ति के जरिए हेमाराम चौधरी का इस्तीफा मंजूर नहीं करने के संकेत दिए हैं. 

करीब डेढ़ माह पहले विधायक पद से दिया था इस्तीफा:  
आपको बता दें कि विधायक हेमाराम चौधरी ने करीब डेढ़ माह पहले विधायक पद से इस्तीफा दिया था. हेमाराम ने ई मेल के और डाक से अलग-अलग इस्तीफे की कॉपी विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी को भेजी थी. हेमाराम के इस्तीफे के बाद विधानसभा ने लिखित बयान जारी किया था. हेमाराम चौधरी ने कहा था कि मैंने विधानसभा अध्यक्ष को इस्तीफा भेज दिया है. इस्तीफा ई मेल कर दिया है और डाक से भी भेज दिया है. मैंने पहले भी इस्तीफा दिया था लेकिन उस वक्त स्वीकार नहीं किया था, पार्टी ने मुझे मनाया तो मान गया था. अब ढाई साल से विधायक हूं बहुत हो गया, आगे ढाई साल नहीं रहूंगा तो क्या हो जाएगा. इस्तीफे की वजह इसके स्वीकार होने के बाद बताउंगा.  

विधानसभा अध्यक्ष ने व्यक्तिगत रूप से पेश होने को कहा था:
उसके बाद विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने हेमाराम चौधरी को लॉकडाउन खत्म होने के बाद व्यक्तिगत रूप से पेश होने को कहा था. लॉकडाउन खत्म होने के बाद सात दिन की अवधि में पहले सूचना देकर हेमाराम चौधरी को अध्यक्ष के सामने पेश होने को कहा गया था. इससे यह भी साफ हो गया था कि अध्यक्ष ई मेल और डाक से भेजा गया हेमाराम का इस्तीफा बिना उनके पेश हुए मंजूर नहीं करेंगे. ऐसे में एक बार फिर अब स्पीकर ने नई नियुक्ति के जरिए हेमाराम चौधरी का इस्तीफा मंजूर नहीं करने के संकेत दिए हैं.  

और पढ़ें