जयपुर बच्चों की हर चिंता को खत्म करेंगे विधायक मनोज मेघवाल, डिजिटल बाल मेला 2021 में आज शाम 4 बजे होगा सीधा संवाद

बच्चों की हर चिंता को खत्म करेंगे विधायक मनोज मेघवाल, डिजिटल बाल मेला 2021 में आज शाम 4 बजे होगा सीधा संवाद

बच्चों की हर चिंता को खत्म करेंगे विधायक मनोज मेघवाल, डिजिटल बाल मेला 2021 में आज शाम 4 बजे होगा सीधा संवाद

जयपुर: फ्यूचर सोसाइटी और एलआईसी द्वारा प्रायोजित रचनात्मक मंच 'डिजिटल बाल मेला 2021' इन दिनों हर जगह सुर्खियां बटोरे हुए है. बालमन को सुनने वाला ये मंच अब ना सिर्फ बच्चों के बीच अपनी ​छवि बनाये हुए है बल्कि उनके माता-पिता को भी आकर्षित कर रहा है. 15 जून को इस मंच का उद्घाटन विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने किया था. जहां उन्होंने इस मंच को बच्चों के लिए सुनहरा भविष्य करार दिया. इसी के साथ उन्होंने बच्चों का हौसला बढ़ाते हुए 14 नवंबर 'बाल दिवस' के दिन डिजिटल बाल मेले का पहला अधिवेशन विधानसभा में कराने का वादा किया है. बच्चों के लिए ये पहली बार होने जा रहा है जब वो एक मंच के जरिए विधानसभा में जाएंगे और वहां की कार्यप्रणाली को करीब से समझेंगे. 

आपको बता दें कि बाल मेले का मकसद बच्चों को राजनीति रूप से सक्रिय बनाना और इसमें पूर्णरूप से सहभागी बनाना है. बच्चों के मनोबल को बढ़ाने वाला बाल मेला उनकी हर विषय में जानकारी का विकास करता है. ऐसे में इस मंच के जरिए बच्चे बताएंगे उनकी सरकार कैसी होनी चाहिए. 60 दिनों तक चलने वाले सीजन 2 में 15 जून से राजनेताओं संग सेशन का दौर शुरू हुआ. जिसमें पहला सेशन राजस्थान के श्रमराज्यमंत्री टीकाराम जूली आये उन्होंने बच्चों से बालश्रम जैसे अहम मुद्दे पर बात की. इस दौरान बच्चों ने श्रममंत्री से जमकर सवाल पूछे तो उन्होंने भी बच्चों की हर जिज्ञासा दूर करने का प्रयास किया.

इसी के साथ डिजिटल बाल मेला 2021 में दूसरा सेशन चौमूं विधायक रामलाल शर्मा का आयोजित किया गया जिसमें उन्होनें बच्चों के वोट देने के अधिकारों पर बात की. आखिरकार 18 वर्ष के होने पर ही बच्चे वोट क्यों दे सकते है और ऐसे में 25 वर्ष के होने पर ही कोई चुनाव क्यों लड़ सकता है? बच्चों के इन सवालों का विधायक रामलाल शर्मा ने जमकर जवाब दिया जिससे बच्चों को संविधान के बारें में भी जानने को मिला तो वही चुनाव प्रक्रिया को भी उन्होंने काफी नजदीक से जाना.

17 जून को बच्चों की हर चिंता का निवारण करेंगे विधायक मनोज मेघवाल:
डिजिटल बाल मेला में आयोजित किये गये दो सेशन के बाद अब आज तीसरा सेशन आयोजित होने जा रहा है जिसमें बच्चे सूजानगढ़ से विधायक मनोज मेघवाल से रूबरू होंगे. इस सेशन में मनोज मेघवाल बच्चों के तनाव के बारे में बात करेंगे. गौरतलब है कि कोरोना महामारी के दौरान बच्चों के स्कूल बंद है ऐसे में छुटिटयां तो है लेकिन बच्चे अपनी नानी के घर नहीं जा सकते. घर बैठे बच्चे तनाव का शिकार हो रहे है ऐसे में बाल मेला का ये सेशन बच्चों के हर तनाव को जानेंगा और उनका निवारण भी करेगा. 

बच्चों की चिंता दूर करने के लिए सबसे जरूरी है उनके चिंता के कारण को जानना. गौरतलब है महामारी के दौर में बच्चे घर बैठे-बैठे किसी ना किसी चिंता का शिकार हो ही रहे है ऐसे में बच्चों को हौसला बढ़ाने और उन्हें आगे का रास्ता दिखाना बेहद जरूरी है बच्चों को भविष्य के लिए एक बार फिर उत्साहित करने के लिए विधायक मनोज मेघवाल बच्चों से रूबरू होंगे. और ना सिर्फ उन्हें चिंता से छूटकारा दिलाएंगे बल्कि उनकी हर बात को ध्यान से सुनेंगे और अपने सुझाव देंगे.

विधायक मनोज मेघवाल की बच्चों के लिए हमेशा से ही कुछ करते आये है. अपने राजनीति करियर के साथ ही उन्हें बाल मनुहारों के भविष्य को सुनहरा और विकसित बनाने में भी काफी दिलचस्पी है. मनोज मेघवाल शुरूआत से ही बच्चों को शिक्षित करने की पहलूओं पर जोर देते आये है और इस कड़ी में माता—पिता से अपने बच्चों को शिक्षित करने के लिए जागरूक करते आये है. इतना ही नहीं नन्हें बच्चों को तनाव से मुक्त करने के लिए भी मनोज मेघवाल ने बच्चों को काफी टिप्स भी दिये है. 

18 जून को बच्चे जानेंगे लॉकडाउन में कैसे बनाएं बचपन को रचनात्मक:
'बच्चों की सरकार कैसी हो' की इस कड़ी में आज सूजानगढ़ से विधायक मनोज मेघवाल जहां बच्चों को तनाव मुक्त करने के सुझाव देंगे तो वही 18 जून को नदबई विधायक जोगिंदर सिंह अवाना इस सेशन में बच्चों से सीधा संवाद करेंगे. बता दें जोगिंदर सिंह अवाना इस लाइव सेशन में बच्चों से लॉकडाउन में बचपन को रचनात्मक बनाने के लिए बच्चों को सुझाव देंगे उनसे बात करेंगे और उन्हें अपनी कला को प्रदर्शन करने के प्रति जागरूक करेंगे.

शाम 4 बजे गूगल मीट राजनेताओं संग होगा सीधा संवाद:
डिजिटल बाल मेला2021 के सभी सेशन शाम 4 बजे आयोजित किये जा रहे है. इस सेशन से जुड़ने और अपने राजनेताओं संग सीधे संवाद में शामिल होने के लिए बच्चे गूगल लिंक का इस्तेमाल करें. हर दिन सेशन में बच्चे अपनी सरकार बनाने के लिए देश की सरकार को करीब से जानेंगे और एक नयी रणनीति में शामिल होंगे. इन सेशन में बच्चे राजनेताओं संग अपने मन की बात कर सकते है तो वही उनसे अपने सवाल भी कर सकते है. डिजिटल बाल मेला देश का पहला मंच है जो बच्चों को सरकार के और उनके कार्यो को करीब से जानने का मौका दे रहा है.
—Live with विधायक मनोज मेघवाल
—Digital Baal Mela: डिजिटल बाल मेला सीजन-2 "बच्चों की सरकार कैसी हो"
—बच्चों के सवालों के जवाब देने आ रहे है दिग्गज विधायक- मनोज मेघवाल
—17 जून को हमारे बीच होंगे विधायक-मनोज मेघवाल
—बच्चे शाम 4 बजे Google Meet पर जुड़ना न भूले 
Link : https://meet.google.com/ysn-pfjh-shh
—आज ही बनाये वीडियो और रजिस्टर करें - डिजिटल बाल मेला की वेबसाइट  http://digitalbaalmela.com/ पर
—प्रतियोगिता-रजिस्ट्रेशन या मेले से संबंधित किसी भी अन्य जानकारी के लिए व्हाट्सऐप-टेलीग्राम नंबर  8005915026 पर संपर्क कर सकते हैं.


 

और पढ़ें