एमपी में बढ़ता भ्रष्टाचार: बिजली चोरी के मामले को दबाने की एवज में मांगी 1 लाख रुपए की रिश्वत, सरकारी बिजली कंपनी का अधिकारी रंगे हाथों गिरफ्तार

एमपी में बढ़ता भ्रष्टाचार: बिजली चोरी के मामले को दबाने की एवज में मांगी 1 लाख रुपए की रिश्वत, सरकारी बिजली कंपनी का अधिकारी रंगे हाथों गिरफ्तार

एमपी में बढ़ता भ्रष्टाचार: बिजली चोरी के मामले को दबाने की एवज में मांगी 1 लाख रुपए की रिश्वत, सरकारी बिजली कंपनी का अधिकारी रंगे हाथों गिरफ्तार

भोपाल: मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ कस्बे में लोकायुक्त पुलिस के दस्ते ने शुक्रवार को बिजली चोरी के एक मामले को सुलझाने के बदले कथित तौर पर एक लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए सरकारी बिजली कंपनी में तैनात कार्यपालक अभियंता को रंगे हाथों गिरफ्तार किया. 

सागर लोकायुक्त पुलिस के पुलिस अधीक्षक (SP) रामेश्वर यादव ने बताया कि मध्य प्रदेश पूर्वी क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड के कार्यकारी अभियंता अखिलेश प्रसाद त्रिवेदी (61) ने बिजली चोरी का एक प्रकरण निपटाने के बदले में शिकायतकर्ता से कथित एक लाख रुपये की रिश्वत की मांग की थी. 

उन्होंने बताया कि शिकायत मिलने पर योजना बनाकर त्रिवेदी को शिकायतकर्ता से रिश्वत की रकम लेते हुए टीकमगढ़ की सुभाष कॉलोनी में उसके किराए के मकान से गिरफ्तार किया गया. एसपी ने बताया कि पुलिस त्रिवेदी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर प्रकरण की विस्तृत जांच कर रही है. 

और पढ़ें