Live News »

बनते-बनते नहीं बनी बात...कर्नल बैंसला कल करेंगे फैसला

बनते-बनते नहीं बनी बात...कर्नल बैंसला कल करेंगे फैसला

मलारना डूंगर(सवाईमाधोपुर)। राजस्थान में आरक्षण की मांग पर धरना-प्रदर्शन कर रहे गुर्जरों का आंदोलन थमने का नाम ही नहीं ले रहा। आंदोलन के सातवें दिन आरक्षण विधेयक की अधिकारिक कॉपी देखने के बाद भी गुर्जर समाज के लोग आंदोलन खत्म करने का फैसला नहीं ले पा रहे हैं। फर्स्ट इंडिया न्यूज के संवाददाता लक्ष्मण राघव  से खास बातचीत के दौरान बैंसला ने कहा कि ठंडे छींटे नहीं, ठोस आश्वासन चाहिए। 

गुर्जर आंदोलन के सातवें दिन आरक्षण विधेयक की अधिकारिक कॉपी भले ही किरोड़ी बैंसला हाथों में पहुंच चुकी है इसके बावजूद भी बैंसला आरक्षण को लेकर संतुष्ट नजर नहीं आ रहे है। ऐसे में अभी तक गुर्जर आंदोलन समाप्त होने ही घोषणा नहीं की गई है। ऐसे में अब आंदोलन समाप्ति की बात कल तक के लिए टाल दी गई है। कर्नल बैंसला आरक्षण के लिए ठोस आश्वासन की मांग कर रहे है। अब न्यायल की अड़चन पर भी विकल्प तलाशा जा रहा है। 

वहीं सरकार की ओर से मध्यस्थता कर रहे IAS नीरज के.पवन लंबी मंत्रणा के बाद वापस लौट गए है। बुधवार को राजस्थान विधानसभा में पारित कराया गया आरक्षण विधेयक आज गुर्जर आंदोलन के अगुवा कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के हाथों में पहुंच चुका है। गुर्जर आरक्षण आंदोलन का नोटिफिकेशन पहुंचने के बावजूद बैंसला ने अभी तक आंदोलन को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया है। बैंसला ने कहा कि शाम तक कॉपी पढ़ने के बाद ही इस पर कोई निर्णय लिया जाएगा। लेकिन कर्नल बैंसला अब कल ही आंदोलन को लेकर फैसला करेंगे। 

और पढ़ें

Most Related Stories

डूंगरपुर: पुलिस कांस्टेबल पर नाबालिग किशोरी का अपहरण कर दुष्कर्म करने का आरोप

डूंगरपुर: पुलिस कांस्टेबल पर नाबालिग किशोरी का अपहरण कर दुष्कर्म करने का आरोप

डूंगरपुर: जिले के रामसागड़ा थाना के एक पुलिस कांस्टेबल पर एक नाबालिग किशोरी का अपहरण कर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया गया है. वहीं मामले में आरोपी पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है. मामले के अनुसार एक नाबालिग किशोरी के पिता ने एसपी को परिवाद सौंपकर आरोपी रामसागड़ा थाने के पुलिस कांस्टेबल कांतिलाल मीणा के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. 

यौन उत्पीड़न मामले में आरोपी आसाराम को बड़ी राहत, अब सेंट्रल जेल में मिलेगा बाहर का खाना 

पुलिसकर्मियों ने कार्रवाई करने की बजाय उसे ही डरा-धमकाकर भगा दिया: 
ज्ञापन में पिता ने बताया उसकी नाबालिग पुत्री 16 साल की है. 29 जुलाई को वह ओर उसकी पत्नी गामड़ी अहाड़ा में सामान लेने के लिए गए थे, वापस लौटे तो पता लगा कि उसकी नाबालिग बेटी को आरोपी पुलिस कांस्टेबल कांतिलाल जबरन बाइक पर बैठाकर भगा ले गया है. इस पर वह रामसागड़ा थाने गया जहां घटना के बारे में सूचना दी तो वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने कोई कार्रवाई नही की. इस पर वह लगातार 29, 30 जुलाई व 1 अगस्त को भी रामसागड़ा थाने पर गया लेकिन पुलिसकर्मियों ने कार्रवाई करने की बजाय उसे ही डरा-धमकाकर भगा दिया. इसके बाद कोई कार्रवाई नहीं होने के कारण परिजन 6 अगस्त को डूंगरपुर डीएसपी कार्यालय पंहुचे ओर कार्रवाई की मांग की. जिस पर डीएसपी ने मामले में रामसागड़ा थाने में केस दर्ज करवाया और उसी दिन पुलिस उसकी बेटी को भी ले आये, लेकिन उसे मिलने तक नही दिया.

VIDEO- मुख्यमंत्री गहलोत से मुलाकात के बाद बोले विधायक ओम प्रकाश हुड़ला, कहा... 

पुलिसकर्मियों के दबाव में सही मेडिकल रिपोर्ट नहीं बनाने के आरोप लगाए:
पिता ने मेडिकल जांच में भी पुलिसकर्मियों के दबाव में सही मेडिकल रिपोर्ट नहीं बनाने के आरोप लगाए है. पीड़िता के पिता ने उसकी बेटी को डरा धमकाकर बयान करवाने के आरोप लगाये है. साथ ही यह भी कहा कि आरोपी पुलिसकर्मी ने उसे 7 से 8 दिन साथ रखा और उसके साथ दुष्कर्म किया. इस दौरान थाने पर बुलाकर समझौता करने के लिए भी दबाव बनाते रहे. पिता ने मामले में आरोपी पुलिसकर्मी के रामसागड़ा थाने में ही तैनात होने के कारण सही जांच नही होने और न्याय नही मिलने का संदेह जताते हुए अन्य पुलिस थाने के अधिकारी से जांच करवाने की मांग की है. साथ ही पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है. 

यौन उत्पीड़न मामले में आरोपी आसाराम को बड़ी राहत, अब सेंट्रल जेल में मिलेगा बाहर का खाना

यौन उत्पीड़न मामले में आरोपी आसाराम को बड़ी राहत, अब सेंट्रल जेल में मिलेगा बाहर का खाना

जोधपुर: अपने ही आश्रम की नाबालिग छात्रा के साथ यौन उत्पीड़न के आरोप में जोधपुर की सेंट्रल जेल में बंद आसाराम को बड़ी राहत मिली है. आजीवन कारावास की सजा भुगत रहे आसाराम को अब सेंट्रल जेल में आश्रम का खाना उपलब्ध होगा. आसाराम की ओर से राजस्थान हाईकोर्ट में लगाई गई अर्जी को कोर्ट ने मेडिकल ग्राउंड पर स्वीकार कर लिया है. आसाराम मामले में चल रही सुनवाई के दौरान ही आसाराम की ओर से हाईकोर्ट में मेडिकल ग्राउंड के आधार पर आश्रम से खाना मुहैया कराने की अर्जी लगाई गई. इस अर्जी पर राजस्थान हाई कोर्ट के न्यायाधीश जस्टिस संदीप मेहता एवं जस्टिस सुश्री प्रभा शर्मा की खंडपीठ में सुनवाई हुई. 

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, बेटियां भी पैतृक संपत्ति में बराबर की हिस्सेदार 

मेडिकल ग्राउंड को ध्यान में रखते हुए आसाराम की अर्जी को स्वीकार:  
आसाराम की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता जगमाल सिंह चौधरी एवं प्रदीप चौधरी ने पक्ष रखते हुए हाई कोर्ट खंडपीठ को अवगत कराया कि आसाराम काफी बुजुर्ग हैं और विभिन्न बीमारी से ग्रसित है, ऐसे में चिकित्सकों की ओर से डाइट मैन्यू के आधार पर खाना उपलब्ध कराया जाए ताकि उनका स्वास्थ्य बेहतर रहे. हाईकोर्ट ने मेडिकल ग्राउंड को ध्यान में रखते हुए आसाराम की इस अर्जी को स्वीकार कर लिया है. अब आसाराम को सेंटर जेल में ही आश्रम का खाना उपलब्ध हो सकेगा. 

बीजेपी ने पूरा जोर लगा लिया लेकिन एक आदमी टूट कर नहीं गया- मुख्यमंत्री गहलोत 

VIDEO- मुख्यमंत्री गहलोत से मुलाकात के बाद बोले विधायक ओम प्रकाश हुड़ला, कहा...

जयपुर: राजस्थान में तेजी से सियासी घटनाक्रम में बदलाव हो रहे हैं. इसी बीच तीन निर्दलीय विधायक ओम प्रकाश हुड़ला, सुरेश टांक व खुशबीर सिंह ने मुख्यमंत्री आवास पर पहुंचे कर सीएम गहलोत से मुलाकात की. इस मुलाकात के बाद फर्स्ट इंडिया से बात करते हुए निर्दलीय विधायक ओम प्रकाश हुड़ला ने कहा कि कुछ समय पहले हमारे खिलाफ SOG में एक मुकदमा दर्ज हुआ था सरकार ने वो वापस ले लिया. 

VIDEO: राजनीति में भाषा मर्यादित होनी चाहिए, मैंने कोई मांग आलाकमान के सामने नहीं रखी- सचिन पायलट  

उन्होंने कहा कि उस मुकदमे को लेकर सरकार और हमारे बीच एक आपसी तनाव पैदा हुआ था. हमे खुशी है इस बात की कि सरकार ने वह मुकदमा वापस ले लिया. आज हमने जो भी गिले-शिकवे थे वो सौहार्दपूर्ण वातावरण में मुख्यमंत्री से मुलाकात कर दूर किए. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य एक ही है कि हमारे क्षेत्र की जनता का विकास कैसे हो. सुनिए और क्या कुछ कहा...

 

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, बेटियां भी पैतृक संपत्ति में बराबर की हिस्सेदार

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, बेटियां भी पैतृक संपत्ति में बराबर की हिस्सेदार

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को बड़ा फैसला सुनाते हुए कहा है कि बेटियों को भी पिता या पैतृक संपत्ति में बराबर का अधिकार है. कोर्ट ने कहा कि संशोधित हिंदू उत्तराधिकार अधिनियम के तहत यह बेटियों का अधिकार है और बेटी हमेशा बेटी रहती है. जस्टिस अरुण मिश्रा की बेंच के फैसले में साफ कहा गया है कि ये उत्तराधिकार कानून 2005 में संशोधन की व्याख्या है.

VIDEO: राजनीति में भाषा मर्यादित होनी चाहिए, मैंने कोई मांग आलाकमान के सामने नहीं रखी- सचिन पायलट  

पिता की संपत्ति में भाई के समान ही हिस्सा मिलेगा: 
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हिंदू महिला को अपने पिता की संपत्ति में भाई के समान ही हिस्सा मिलेगा. कोर्ट ने अपनी अहम टिप्पणी में कहा कि बेटियां हमेशा बेटियां रहती हैं. बेटे तो बस विवाह तक ही बेटे रहते हैं. यानी 2005 में संशोधन किए जाने से पहले भी किसी पिता की मृत्यु हो गई हो तब भी बेटियों को पिता की संपत्ति में बेटे या बेटों के बराबर ही हिस्सा मिलेगा.

2005 में हिंदू उत्तराधिकार अधिनियम 1965 में संशोधन किया गया था:
बता दें कि 2005 में हिंदू उत्तराधिकार अधिनियम 1965 में संशोधन किया गया था. इस संशोधन के तहत पैतृक संपत्ति में बेटियों को बराबरी का हिस्सा देने का प्रावधान है. इसके अनुसार कानूनी वारिस होने के बाद पिता की संपत्ति पर बेटी का भी उतना ही अधिकार है जितना कि बेटे का. इसका विवाह से कोई लेना-देना नहीं है. 

बीजेपी ने पूरा जोर लगा लिया लेकिन एक आदमी टूट कर नहीं गया- मुख्यमंत्री गहलोत 

बेटियां पूरी जिंदगी माता-पिता को प्यार करने वाली होती हैं:
सुप्रीम कोर्ट ने अहम टिप्पणी में कहा कि बेटियां पूरी जिंदगी माता-पिता को प्यार करने वाली होती हैं. एक बेटी अपने जन्म से मृत्यु तक माता-पिता के लिए प्यारी बेटियां होती हैं. जबकि विवाह के बाद बेटों की नीयत और व्यवहार में बदलाव आता है लेकिन बेटियों की नीयत में नहीं. विवाह के बाद बेटियों का प्यार माता-पिता के लिए और बढ़ता ही जाता है. इस मामले में इस नजरिए से सुप्रीम कोर्ट का फैसला अहम है कि जब पूरी दुनिया में लड़कियां लड़कों के बराबर अपनी हिस्सेदारी साबित कर रही हैं, ऐसे में सिर्फ संपत्ति के मामले में उनके साथ यह मनमानी और अन्याय ना हो.


 

VIDEO: राजनीति में भाषा मर्यादित होनी चाहिए, मैंने कोई मांग आलाकमान के सामने नहीं रखी- सचिन पायलट

जयपुर: आखिर एक महीने की सियासी जंग के बाद पायलट की फिर घर वापसी हो गई. इसके बाद आज सचिन पायलट काफी लंबे वक्त बाद मीडिया से रूबरू हुए. इस दौरान उन्होंने कहा कि राजनीति में भाषा मर्यादित होनी चाहिए. हमने जनता से जुड़े मुद्दों को उठाया है हर नेता और हर समाज को साथ लेकर काम किया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैंने आलाकमान के सामने कोई मांग नहीं रखी. मैंने आलाकमान के ऊपर सारा फैसला छोड़ दिया है. हाईकमान ने हमारी बातों को गंभीरता से सुना है. समस्याओं के निराकरण के लिए 3 सदस्यीय कमेटी बनाई है.

बीजेपी ने पूरा जोर लगा लिया लेकिन एक आदमी टूट कर नहीं गया- मुख्यमंत्री गहलोत 

कार्यकर्ताओं के मान-सम्मान को लेकर इश्यू था:  
पायलट ने कहा कि जिसका सरकार बनाने में योगदान हो उसे सम्मान मिलना चाहिए. मैंने गहलोत जी के साथ मिलकर संघर्ष किया है. इसके साथ ही उन्होंने ने कहा कि झूठ फैलाने वालों को सच्चाई का सामना करना पड़ेगा. सचिन पायलट ने कहा कि कार्यकर्ताओं के मान-सम्मान को लेकर इश्यू था. मुझे सौभाग्य मिला कि 6 साल तक कांग्रेस का प्रदेशाध्यक्ष रहा. जब हमारी सरकार नहीं थी तब हमने 5 साल तक लगातार मेहनत की. धरने, भूख हड़ताल कर हमने जनहित से जुड़े मुद्दे उठाए. 2018 में कड़ी मेहनत के कारण 21 से बढ़कर 100 तक सीटें पहुंची है. लेकिन डेढ़ साल में उस गति से काम नहीं कर पाए. 

VIDEO: बीजेपी ने विधायक दल की बैठक टाली, अब 13 अगस्त को सुबह 11बजे होगी बैठक 

जब-जब पार्टी ने मुझे दायित्व दिया है मैंने निष्ठा के साथ निभाया:
उन्होंने कहा कि हमने सबको साथ लेकर काम किया है. कठिन परिस्थितियों में किसानों और युवाओं को साथ में लेकर मेहनत की. समयबद्ध तरीके से सभी इश्यू का निराकरण किया जाएगा. मैंने कभी भी किसी के लिए अमार्यादित भाषा का इस्तेमाल नहीं किया. अशोक गहलोत जी मेरे से उम्र में बड़े है लेकिन जिस तरह टीका टिपण्णी हुई उससे मुझे भी दुख हुआ है. जिस तरह के आरोप लगाए है वो सच आपके सामने है. पायलट ने कहा कि सत्ता और संगठन को मिलकर काम करना चाहिए. मुझे दुख है कि देशद्रोह का नोटिस भेजा गया, ACB, SOG की कार्रवाई नहीं होनी चाहिए थी. लेकिन पार्टी आलाकमान ने हमारी बातों को सुना है. जब-जब पार्टी ने मुझे दायित्व दिया है मैंने निष्ठा के साथ निभाया है. दूसरे दल क्या करते है क्या नहीं वो जाने. मैंने पार्टी विचारधारा और पार्टी के खिलाफ कोई बात नहीं बोली. 


 

VIDEO: बीजेपी ने विधायक दल की बैठक टाली, अब 13 अगस्त को सुबह 11बजे होगी बैठक

जयपुर: राजस्थान में आज भाजपा विधायक दल की बैठक होनी थी लेकिन अब वह बैठक टाल दी गई है. नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने फर्स्ट इंडिया न्यूज से बातचीत में बताया कि हमने विधायक दल की बैठक बुलाई थी लेकिन हमारे कुछ विधायक गुजरात में होने के चलते आज नहीं आ पाएंगे. इसके बाद कल जन्माष्टमी है. इसलिए सभी ने सुझाव दिया की मीटिंग जन्माष्टमी के बाद की जाए. 

बीजेपी ने पूरा जोर लगा लिया लेकिन एक आदमी टूट कर नहीं गया- मुख्यमंत्री गहलोत 

विधायक दल की बैठक के बाद अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा:
उन्होंने कहा कि विधायक दल की बैठक के बाद अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा. बैठक वी. सतीश की मौजूदगी में होगी, वहीं अन्य केंद्रीय नेताओं के भी आने का कार्यक्रम है. हमारी पार्टी में फूट नहीं है लोगों ने ऐसा करने का प्रयास किया. हनुमान बेनीवाल से भी कल हमारी बात हुई, पूर्व मुख्यमंत्री से मेरी बात हुई है वो भी भाजपा की बैठक में मौजूद रहेगी. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि केंद्र की वजह से बिना मन गहलोत को पायलट से मिलना पड़ेगा. 
 

Coronavirus in India: पिछले 24 घंटे में 53601 नए मामले सामने आए, अबतक 45 हजार से ज्यादा लोगों की मौत

Coronavirus in India: पिछले 24 घंटे में 53601 नए मामले सामने आए, अबतक 45 हजार से ज्यादा लोगों की मौत

नई दिल्ली: भारत में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों का ग्राफ बढ़ता जा रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय की ताजा जानकारी के मुताबिक, पिछले 4 घंटे में कोरोना के 53 हजार 601 नए मरीज मिले जबकि एक दिन में 871 मौतें भी हुईं. ऐसे में देश में अब तक कोरोना संक्रमण के 22 लाख 68 हजार 675 केस हो चुके हैं. इनमें से 6 लाख 39 हजार 929 एक्टिव केस हैं. कोरोना से अब तक 45 हजार 257 मरीजों की जान जा चुकी है. वहीं, 15 लाख 83 हजार 489 लोग रिकवर हो चुके हैं. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज जाएंगे जैसलमेर, कल सभी विधायक आएंगे जयपुर 

राहत इंदौरी कोरोना पॉजिटिव पाए गए:
राहत इंदौरी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. उन्होंने ट्वीट कर खुद इसकी जानकारी दी है. इंदौरी ने ट्वीट किया कि कोविड के शुरुआती लक्षण दिखाई देने पर कल मेरा कोरोना टेस्ट किया गया, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है. ऑरबिंदो हॉस्पिटल में एडमिट हूं, दुआ कीजिये जल्द से जल्द इस बीमारी को हरा दूं. एक और इल्तेजा है, मुझे या घर के लोगों को फोन ना करें, मेरी खैरियत ट्विटर और फेसबुक पर आपको मिलती रहेगी."

VIDEO: गहलोत-पायलट समझौते का बसपा "इफेक्ट"!  

दुनिया के 63% नए मरीज सिर्फ भारत में ही मिले: 
पिछले एक हफ्ते की औसत देखें तो दुनिया के 63% नए मरीज सिर्फ भारत (24.82%), अमेरिका (20.64%) और ब्राजील (17.64%) में ही मिले हैं. यानी, दुनिया के एक चौथाई मरीज अब सिर्फ भारत में मिलने लगे हैं. इन तीन देशों को छोड़कर बाकी दुनिया में सिर्फ 37% मरीज मिले हैं. राहत की बात यह है कि दुनिया में 14 दिन से नए मरीजों का औसत नहीं बढ़ा है. कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश है. अमेरिका, ब्राजील के बाद कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित भारत है. लेकिन अगर प्रति 10 लाख आबादी पर संक्रमित मामलों और मृत्युदर की बात करें तो अन्य देशों की तुलना में भारत की स्थिति बहुत बेहतर है. 


 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज जाएंगे जैसलमेर, कल सभी विधायक आएंगे जयपुर

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज जाएंगे जैसलमेर, कल सभी विधायक आएंगे जयपुर

जयपुर: राजस्थान में एक महीने से चल रहा सियासी घमासान अब शांत होने के कगार पर पहुंच चुका है. इसी बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज विधायकों को लाने जैसलमेर जाएंगे. इस दौरान शांति धारीवाल, महेंद्र चौधरी, संयम लोढा व रामकेश उनके साथ जाएंगे. उसके बाद मुख्यमंत्री आज रात जैसलमेर में ही रुकेंगे. 

VIDEO: गहलोत-पायलट समझौते का बसपा "इफेक्ट"!  

कल मुख्यमंत्री के साथ सभी विधायक आएंगे जयपुर: 
शाम को जैसलमेर में ही विधायक दल की बैठक होगी. बैठक के बाद कल मुख्यमंत्री के साथ सभी विधायक जयपुर आएंगे. इसके लिए 4 चार्टर प्लेन की व्यवस्था की गई है. उसके बाद सभी विधायक कल से जयपुर के फेयरमोंट होटल में रुकेंगे. बता दें कि गहलोत जयपुर से जैसलमेर भी विधायकों को अपने साथ ले गए थे. अब वापस लाने के लिए भी मुख्यमंत्री जैसलमेर जा रहे हैं.  

VIDEO: सीएम गहलोत से मुलाकात के बाद बोले पायलट खेमे के विधायक भंवरलाल शर्मा, मेरा पार्टी से कोई गिला-शिकवा नहीं 

सचिन समेत 19 विधायक आज लौट सकते जयपुर:
वहीं दूसरी ओर राहुल-प्रियंका से दिल्ली में 2 घंटे मुलाकात के बाद सचिन समेत 19 विधायक आज जयपुर लौट सकते हैं. इससे पहले कल हुई मुलाकात में सचिन पायलट को इस बात का आश्वासन दिया गया है कि उनके और अन्य बागी विधायकों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होगी. इसके साथ ही बागी विधायकों को उनके पद दोबारा देने और कमेटी गठित करने जैसे समझौते पर भी बात हुई है. 


 

Open Covid-19