गुरुवार को होगी मध्यप्रदेश मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, वकीलों ने रखीं अपनी-अपनी दलीलें 

गुरुवार को होगी मध्यप्रदेश मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, वकीलों ने रखीं अपनी-अपनी दलीलें 

गुरुवार को होगी मध्यप्रदेश मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, वकीलों ने रखीं अपनी-अपनी दलीलें 

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में जारी सियासी घमासान को लेकर सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को सुनवाई हुई. कई घंटों तक चली सुनवाई गुरुवार तक टल गई. बुधवार को भाजपा नेताओं की याचिकाओं पर कोर्ट में सुनवाई हुई. भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पक्षों के वकीलों ने अपनी-अपनी दलीलें रखीं. जज ने कहा कि स्पीकर को इस्तीफों पर फैसला लेना चाहिए. 

कोरोना वायरस का कहर, वैष्णो देवी की यात्रा रोकी, तो नहीं होगी बनारस में गंगा आरती 

मध्यप्रदेश में सियासी ड्रामा:
बागी विधायकों के वकील मनिंदर सिंह ने कहा कि हमारी सुरक्षा का सवाल है, इसलिए हम भोपाल नहीं जाना चाहते हैं. वहीं स्पीकर के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने गुरुवार तक का समय मांगा है. मध्य प्रदेश में पिछले कई दिनों से सियासी ड्रामा चल रहा है. बुधवार को शिवराज सिंह चौहान की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई की. 

इस्तीफों को अभी तक स्वीकार क्यों नहीं किया गया?:
इस दौरान जमकर बहस हुई. दोनों  पक्षों की दलीलें सुनने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने विधानसभा स्पीकर पर भी सवाल दागे. शीर्ष कोर्ट ने पूछा कि आखिर विधायकों के इस्तीफों को अभी तक स्वीकार क्यों नहीं किया गया? आपको बता दें कि फ्लोर टेस्ट की मांग करते हुए भाजपा के नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है. अब इस मामले में गुरुवार को सुनवाई होगी.

कोरोना वायरस के चलते हाईकोर्ट ने नगर निगम चुनाव को 6 सप्ताह के लिए किया स्थगित, चुनाव आयोग को दिए निर्देश

और पढ़ें