इंदौर मध्यप्रदेश के मंत्री ने नई आबकारी नीति पर कहा, शराब पीना बंद करना लोगों का दायित्व है  

मध्यप्रदेश के मंत्री ने नई आबकारी नीति पर कहा, शराब पीना बंद करना लोगों का दायित्व है  

मध्यप्रदेश के मंत्री ने नई आबकारी नीति पर कहा, शराब पीना बंद करना लोगों का दायित्व है  

इंदौर: मध्यप्रदेश की नयी आबकारी नीति के तहत शराब 20 प्रतिशत सस्ती किए जाने के निर्णय को लेकर जारी सियासी खींचतान के बीच राज्य के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने बृहस्पतिवार को कहा कि यह आम लोगों का दायित्व है कि वे शराब पीना बंद कर दें. राज्य में शराबबंदी की मांग और नयी आबकारी नीति को लेकर प्रतिक्रिया मांगे जाने पर तोमर ने इंदौर में संवाददाताओं से कहा कि यह समाज का दायित्व है, हम लोगों का कर्तव्य है कि हम शराब पीना बंद कर दें.

गौरतलब है कि आगामी वित्त वर्ष 2022-23 के लिए प्रदेश सरकार की नयी आबकारी नीति में शराब की खुदरा कीमतों में 20 प्रतिशत की कमी करने का निर्णय किया गया है. इसके साथ ही, राज्य के सभी हवाई अड्डों और चार बड़े शहरों के चुनिंदा सुपर बाजारों में शराब बिक्री की अनुमति देने और एक करोड़ रुपये या इससे अधिक की सालाना आय वाले लोगों को घरों में बार बनाने के लाइसेंस जारी करने को भी मंजूरी दी गई है.

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि हमारी नई आबकारी नीति में शराब की एक भी दुकान (ठेका) बढ़ाए जाने की बात नहीं की गई है. यह एक संदेश है. तोमर, पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी की समीक्षा बैठक के लिए इंदौर आए थे. राज्य में बिजली के अनाप-शनाप बिलों की शिकायतों पर उन्होंने कहा कि अगर उपभोक्ताओं को लगता है कि आंकलित बिजली खपत के आधार पर उन्हें अनुचित बिल दिए गए हैं, तो जांच के बाद इनमें तत्काल सुधार किया जाएगा. (भाषा) 

और पढ़ें