भोपाल पूर्व विधायक के निधन के बाद नही किया गया अंतिम संस्कार, मेडिकल कॉलेज को शव दान किया

पूर्व विधायक के निधन के बाद नही किया गया अंतिम संस्कार, मेडिकल कॉलेज को शव दान किया

पूर्व विधायक के निधन के बाद नही किया गया अंतिम संस्कार, मेडिकल कॉलेज को शव दान किया

 भोपाल: मध्यप्रदेश में राजगढ़ जिले की नरसिंहगढ़ विधानसभा सीट के पूर्व विधायक सिद्धुमल खिलवानी का यहां निधन हो गया. खिलवानी की अंतिम इच्छा के अनुसार उनके परिजनों ने उनका दाह संस्कार नहीं किया बल्कि उनका पार्थिव शरीर गुरुवार को मेडिकल कॉलेज को दान कर दिया.

95 वर्ष के थे खिलवानी:
उनके परिवार के सूत्रों ने शुक्रवार को बताया कि वह 95 वर्ष के थे तथा वृद्धावस्था के चलते बुधवार रात को उनका निधन हो गया. उनके परिवार में 92 वर्षीय पत्नी तथा तीन पुत्र हैं. परिवार के सूत्रों ने बताया कि खिलवानी की अंतिम इच्छा के अनुसार उनके पार्थिव शरीर का दाह संस्कार करने के बजाय गुरुवार को यहां के जे के मेडिकल कॉलेज को दान कर दिया गया.

1980 में गोवा के राज्यपाल स्वर्गीय भानूप्रकाश सिंह को किया था पराजित:
सूत्रों ने बताया कि सिद्धुमल वर्ष 1977 में पहली बार नरसिंहगढ़ विधानसभा सीट से जनता पार्टी के उम्मीदवार के तौर जीते थे. उन्होंने इस चुनाव में कांग्रेस के पूर्व विधायक मांगीलाल भंडारी को हराया था. इसके बाद वर्ष 1980 में वह नरसिंहगढ़ रियासत के पूर्व शासक तथा गोवा के राज्यपाल स्वर्गीय भानूप्रकाश सिंह को पराजित कर भाजपा के टिकट पर विधायक निर्वाचित हुए थे. वर्ष 1972 में भी सिद्धुमल जनसंघ के टिकट पर चुनाव लड़े थे लेकिन उस समय वह चुनाव हार गये थे.

 

आपातकाल के दौरान वह 19 माह तक जेल में भी रहे:
सूत्रों ने बताया कि सिद्धुमल लम्बे समय तक राष्ट्रीय स्वयं सेवक से भी जुड़े रहे तथा आपातकाल के दौरान वह 19 माह तक जेल में भी रहे. भाजपा सूत्रों ने बताया कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान तथा प्रदेश भाजपा के महामंत्री भगवानदास सबनानी ने सिद्धुमल खिलवानी के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है.
 

और पढ़ें