Live News »

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बुलेट ट्रेन के ड्रीम प्रोजेक्ट को झटका दे सकती है महाराष्ट्र की नई सरकार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बुलेट ट्रेन के ड्रीम प्रोजेक्ट को झटका  दे सकती है महाराष्ट्र की नई सरकार

मुंबई. शिवसेना-कांग्रेस-एनसीपी की नई सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन के ड्रीम प्रोजेक्ट को झटका दे सकती है.महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन के साथ प्रस्तावित बुलेट ट्रेन के भविष्य पर संकट मंडराने लगा है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि उन्होंने मुंबई-अहमदाबाद बुलेट ट्रेन समेत राज्य में चल रही सभी विकास प्रोजेक्ट की समीक्षा के आदेश दिए हैं. 

बुलेट ट्रेन परियोजना को किसानों और आदिवासियों के कड़े विरोध का सामना करना पड़ा जिनकी भूमि अधिग्रहित की जानी है.उन्होंने रविवार मुंबई में कहा, 'यह सरकार आम आदमी की है. हम बुलेट ट्रेन (प्रोजेक्ट) की समीक्षा करेंगे. इस दौरान उन्होंने कहा कि क्या मैंने आरे कार शेड की तरह बुलेट ट्रेन परियोजना को रोका है? नहीं.'

ठाकरे ने बताया कि उनकी सरकार राज्य की वित्तीय स्थिति पर श्वेत पत्र भी लाएगी. राज्य सरकार जिस पर करीब पांच लाख करोड़ रुपये का कर्ज है वह किसानों का बिना शर्त कर्ज माफ करने को लेकर प्रतिबद्ध है.यह घोषणाएं तब की गई है जब एक दिन पहले शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस की ठाकरे के नेतृत्व वाले महाराष्ट्र विकास आघाड़ी (एमवीए) ने 288 सदस्यीय राज्य विधानसभा में 169 विधायकों के समर्थन से विश्वास मत जीत लिया.ठाकरे ने कहा कि राज्य में पूर्ववर्ती बीजेपी नीत सरकार की जो प्राथमिकताएं थीं, उन्हें हटाया नहीं गया है. उन्होंने कहा कि इसमें प्रतिशोध की राजनीति नहीं है.महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को सदन में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता और पूर्व मुख्यमंत्री की तारीफ करते हुए कहा कि मैंने देवेंद्र फडणवीस से बहुत सी चीजें सीखी हैं, मैं हमेशा उनका दोस्त रहूंगा.

और पढ़ें

Most Related Stories

Coronavirus Updates: दीये, मोमबत्ती और टॉर्च वाली रोशनी से जगमग हुआ देश, पीएम की अपील पर लोगों ने 9 मिनट तक मनाई 'दिवाली'

Coronavirus Updates: दीये, मोमबत्ती और टॉर्च वाली रोशनी से जगमग हुआ देश, पीएम की अपील पर लोगों ने 9 मिनट तक मनाई 'दिवाली'

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर आज देशभर में लोगों ने घरों की लाइट बंद कर दीया, मोमबत्ती और फ़्लैश लाइट जलाकर एकजुटता का बड़ा संदेश दिया. इस दौरान आतिशबाजी भी हुई और लोगों ने सोशल मीडिया पर खबू फोटो शेयर किए. एक बार तो ऐसा लग रहा था कि जैसे आज दीपोत्सव का त्योहार हो. पीएम मोदी ने कोरोना से मुकाबला कर रहे योद्धाओं का मनोबल बढ़ाने के लिए पीएम मोदी ने शुक्रवार को यह अपील की थी. 

खुशखबरी: शोधकर्ताओं का दावा, 48 घंटे के भीतर कोरोना वायरस को मार सकती है ये दवा

देश में कई जगह बेहतरीन तस्वीरें देखने को मिली:
प्रधानमंत्री की अपील पर देशभर में कोरोना से चल रही जंग के दौरान देश के सभी छोटे-बड़े शहरों के साथ गांवों में एक बेहतरीन तस्वीर देखने को मिली. इस दौरान बीजेपी के कई दिग्गज नेताओं ने मोमबत्ती और दीए जलाकर प्रधानमंत्री मोदी की अपील का समर्थन किया.

राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने भी दीए जलाए:
कोरोना के खिलाफ लड़ाई के लिए राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने दीए जलाए. वहीं, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर सहित कई बीजेपी नेताओं ने दीप जलाकर एकजुटता का संदेश दिया.

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी

योगी आदित्यनाथ ने मोमबत्ती से दीए जलाकर ओम की आकृति:
वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मोमबत्ती से दीए जलाकर ओम की आकृति बनाई थी. वो 9 बजे से पहले ही घर के बाहर आकर दीए जलाने के लिए इंतजार कर रहे थे. हाथ में दीए की थाली लेकर अपनी बेटी के साथ बीजेपी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी भी घर के बाहर दिखे. 

Coronavirus Updates: देशभर में 3300 से अधिक लोग हुए संक्रमित, देशभर में 274 जिले प्रभावित- स्वास्थ्य मंत्रालय

Coronavirus Updates: देशभर में 3300 से अधिक लोग हुए संक्रमित, देशभर में 274 जिले प्रभावित- स्वास्थ्य मंत्रालय

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के हालात को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने नियमित प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि देश में कल से लेकर आज तक कोरोना वायरस के 472 नए मामले सामने आए हैं. वहीं देशभर में कोरोना से मरने वालों की संख्या 79 हो गई है, जबकि 3300 से अधिक लोग संक्रमित हैं. उन्होंने बताया कि कल से लेकर आज तक में कोरोना से 11 लोगों की मौत हुई है. 267 लोग इस वायरस से ठीक हुए है, जिन्हें इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.

खुशखबरी: शोधकर्ताओं का दावा, 48 घंटे के भीतर कोरोना वायरस को मार सकती है ये दवा 

कोरोना वायरस से देश के 274 जिले प्रभावित: 
अग्रवाल ने बताया कि कोरोना वायरस से देश के 274 जिले प्रभावित है. इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय ने सार्वजनिक स्थान पर थूकने से कोरोना फैलने की आशंका जताई है. आयुष्मान योजना के तहत कोरोना का फ्री टेस्ट और इलाज होगा. लव अग्रवाल ने कहा कि कृषि क्षेत्र में लॉकडाउन में छूट दी गई है. लव अग्रवाल ने कहा कि सोशल डिस्टेंनसिंग और लॉकडाउन की दवा है.

तब्लीगी की घटना नहीं हुई होती तो नहीं बढ़ते मामले:
उन्होंने बताया कि अगर तब्लीगी की घटना नहीं हुई होती तो केस 7.1 दिनों में दुगुना होता, जबकि अभी 4.1 दिनों में दुगुना हो रहा है. आज कैबिनेट सचिव ने देश के सभी जिलाधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए बैठक कर ज़िलाधिकारियों से अपने अपने जिलों में आपात प्रबंधन योजना बनाने को कहा है. 

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी 

27,661 राहत शिविरों में 12.5 लाख लोगों ने शरण ली:
प्रेस कॉन्फ्रेंस में गृह मंत्रालय की संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने बताया कि 27,661 राहत शिविर और आश्रय गृह पूरे भारत में सभी राज्यों में स्थापित किए गए हैं. इनमें से 23,924 सरकार द्वारा और 3,737 गैर-सरकारी संगठनों द्वारा तैयार किया गया है. उन्होंने बताया कि इनमें 12.5 लाख लोगों ने शरण ली हुई हैं. 19,460 खाद्य शिविर भी स्थापित किए गए हैं. इनमें से 9,951 सरकार द्वारा और 9,509 गैर-सरकारी संगठनों द्वारा तैयार किया गया है. संयुक्त सचिव ने बताया कि 75 लाख से अधिक लोगों को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है.


 

Coronavirus Updates: पीएम मोदी ने की प्रणब, सोनिया, मनमोहन समेत देश के कई बड़े नेताओं बात

Coronavirus Updates: पीएम मोदी ने की प्रणब, सोनिया, मनमोहन समेत देश के कई बड़े नेताओं बात

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, मुलायम सिंह, अखिलेश यादव और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समेत देश के कई बड़े नेताओं से बात की है. 

खुशखबरी: शोधकर्ताओं का दावा, 48 घंटे के भीतर कोरोना वायरस को मार सकती है ये दवा 

पीएम अलग-अलग लोगों के लगातार चर्चा कर रहे: 
कोरोना महामारी पर सरकार की तैयारियों को लेकर पीएम अलग-अलग लोगों के लगातार चर्चा कर रहे हैं. इसी के चलते आज पूर्व राष्ट्रपति, पूर्व प्रधानमंत्री और अलग-अलग पार्टी के नेताओं से बात की. देश फिलहाल कोरोना वायरस की महामारी से कैसे जूझ रहा है और सरकार की इसको लेकर किस तरही की तैयारियां है, इस पर बात की गई. 

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी 

प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से भी की थी बात:
इससे पहले पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों से भी 2 अप्रैल को बात की थी. इस दौरान राज्यों ने केंद्र सरकार से मेडिकल किट, बकाया पैसे के साथ ही आर्थिक मदद की मांग की थी. इसके बाद प्रधानमंत्री ने देश के अलग-अलग खेलों से संबंधित दिग्गज 40 खिलाड़ियों से कोरोना वायरस को लेकर चर्चा की थी. 

कोरोना के खिलाफ जंग में देश की न्यायपालिका का मजबूत संदेश, निभा रहे भूमिका

कोरोना के खिलाफ जंग में देश की न्यायपालिका का मजबूत संदेश, निभा रहे भूमिका

जयपुर: देश और प्रदेश में कोरोना के खिलाफ जंग में सभी अपने स्तर पर जुटे है ऐसे में देश की न्यायपालिका भी लगातार अपने सकारात्मक संदेश आम जनता तक पहुंचा रही है. इलाहाबाद हाईकोर्ट के वरिष्ठ न्यायाधीश जस्टिस एम एन भण्डारी 19 मार्च से ही जयपुर में है. जस्टिस भण्डारी को लॉकडाउन के दौरान ही दादा बनने की खुशी हासिल हुई है. फिलहाल वे अपने घर में रहकर सरकारी निर्देशो का पालन कर रहे हैं. 

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी 

देश व प्रदेश की आम जनता से घरों में रहने की अपील:
फर्स्ट इंडिया से खास बात करते हुए जस्टिस एम एन भण्डारी ने देश व प्रदेश की आम जनता से घरों में रहकर खुद को और परिवार को सुरक्षित रखने की अपील की है. जस्टिस भण्डारी ने कहा कि वे लगातार अपने से जुड़े लोगों से घर में रहने की ही अपील करते रहे है और आज आपके जरिए सभी लोगों से आहवान करता हूं कि वे सरकारी निर्देशों का पालन करें. लोग अपने घरों में रहकर आईसोलेशन का पालन करें. साथ ही आपकी जांच के लिए आने वाले चिकित्साकर्मियों से लेकर सुरक्षाकर्मियों का सहयोग करें.

जस्टिस जे के रांका निभा रहे है दोहरी भूमिका:
कोरोना से जंग में कई सामाजिक संस्थाए भी आगे आ रही है तो वहीं कई लोग इन संस्थाओं को आगे लाने में जुटे हैं. जस्टिस जे के रांका भी लगातार भामाशाहों को आगे आने के लिए प्रेरित कर रहे हैं. जस्टिस रांका की प्रेरणा से पहले सुबोध शिक्षा समिति ने एक करोड़ तो अब माहेश्वरी समाज ने 51 लाख रूपये की मदद मुख्यमंत्री सहायता कोष में की है. 

 VIDEO: कोरोना को लेकर SMS मेडिकल कॉलेज में बड़ी खलबली! कैंटीन में कार्यरत मिला कोरोना पॉजिटिव 

वर्तमान हालात में राजस्थान सरकार बेहद अच्छा काम कर रही: 
जस्टिस जे के राकां कहते है कि वर्तमान हालात में राजस्थान सरकार बेहद अच्छा काम कर रही है. सरकार अपने स्तर पर प्रयास कर रही है लेकिन हमे भी सरकार को मजबूत करने के लिए आगे आना चाहिए. सुबोध शिक्षा समिमि और माहेश्वरी समाज ने पहल की जिससे हम सभी को गौरव है कि शहर के कई संस्थान आम जनता और सरकार की मदद को आगे आ रही है. ऐसे वक्त में हमे मिलजुलकर कोरोना के खिलाफ जंग को जीतना होगा. इन संस्थानों के साथ मैंने अपने तीन माह की पेंशन को मुख्यमंत्री सहायता कोष में देने का निर्णय लिया है.  
 

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी

जयपुर: यदि लॉकडाउन के दौरान कोरोना वायरस पर स्थिति नियंत्रण में रही तो 15 अप्रैल से ट्रेनों का संचालन सुचारू किया जा सकता है. रेलवे बोर्ड ने ट्रेनों का संचालन शुरू करने के लिए सभी 16 जोन और मंडल प्रबंधकों को निर्देश दिए हैं. 

VIDEO: कोरोना को लेकर SMS मेडिकल कॉलेज में बड़ी खलबली! कैंटीन में कार्यरत मिला कोरोना पॉजिटिव 

वीसी में अधिकारियों को  इंजनों का परीक्षण करने के निर्देश: 
कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण देशभर में ट्रेनों का संचालन बंद है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाए जाने के दिन से ही ट्रेनों का संचालन नहीं हो रहा है. 14 अप्रैल तक लॉकडाउन होने के कारण ट्रेनें बंद हैं, केवल मालगाड़ियां ही संचालित हो रही हैं. 14 अप्रैल को लॉकडाउन समाप्त होने के बाद ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया जाएगा. इसके लिए रेलवे प्रशासन ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. रेलवे बोर्ड चेयरमैन ने हाल ही इसे लेकर सभी 16 जोनल रेलवे के महाप्रबंधकों और मंडलों के डीआरएम के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की थी. वीसी में अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि सभी जोनल रेलवे और मंडल अपने-अपने कोच और इंजनों का परीक्षण कर लें, जिससे कि 15 अप्रैल से ट्रेनों का संचालन शुरू किया जा सके.

ट्रेनों के संचालन को लेकर बनाई जा रही योजना:
उत्तर-पश्चिम रेलवे के ऑपरेशन सेक्शन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि 15 से एक साथ सभी ट्रेनें नहीं चलेंगी. पहले ऐसे क्षेत्रों को चिन्हित किया जाएगा, जहां पर कोरोना का प्रकोप ज्यादा है. यानी कोरोना के हॉट स्पॉट वाले क्षेत्रों के लिए ट्रेनों का संचालन शुरुआती दिनों में नहीं होगा या ऐसे क्षेत्रों से होकर गुजरने वाली ट्रेनों का स्टॉपेज इन शहरों में नहीं दिया जाएगा. सूची तैयार कर यह योजना बनाई जा रही है कि किन ट्रेनों का संचालन शुरू करना है और किन ट्रेनों का संचालन थोड़े दिनों बाद किया जाएगा. लंबे रूट की ऐसे ट्रेनें, जिनमें यात्रीभार ज्यादा रहता है, उन्हें शुरुआती दिनों में शुरू कर दिया जाएगा, जिससे यात्रियों को सुविधा मिल सके. जिन रूटों पर नियमित ट्रेनों का संचालन नहीं किया जाएगा, उनके लिए साप्ताहिक स्पेशल ट्रेनें चलाई जाएंगी.

Rajasthan Corona Update: प्रदेश में कोरोना की चपेट में आने से 5वीं मौत, पॉजिटिव केस का आंकड़ा हुआ 210 

सभी जोनल रेलवे से उनके कोचों की जानकारी मांगी:
इस बीच रेलवे बोर्ड के कोचिंग सेक्शन के कार्यकारी निदेशक ने अब सभी जोनल रेलवे से उनके कोचों की जानकारी मांगी है. संचालन से पहले सभी कोचों को बेहतर तरीके से डिसइन्फैक्टेंट से सैनिटाइज करने के निर्देश दिए हैं. यह भी कहा गया है कि 15 अप्रैल से ट्रेन चलाने के लिए अपनी तरफ से तैयारी पूरी कर लें. जिन कोच की मेंटिनेंस का कार्य नहीं हो सका है, उन्हें शेड या साइडिंग से मेंटिनेंस डिपो और पिट लाइन पर भेजा जाए, ताकि 15 अप्रैल से पहले सभी कोच तैयार किए जा सकें. कुलमिलाकर रेलवे प्रशासन की इन तैयारियों को देखकर लगता है कि 15 अप्रैल से जीवन एक बार फिर पटरी पर लौट सकेगा.

....काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज, जयपुर

Coronavirus Updates: देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 3 हजार के पार, दुनियाभर में 12 लाख से अधिक

Coronavirus Updates: देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 3 हजार के पार, दुनियाभर में 12 लाख से अधिक

नई दिल्ली: विश्वभर में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है. इसके साथ ही भारत में भी संक्रमितों की कुल संख्या तीन हजार से ज्यादा हो गई. वहीं, मृतकों की संख्या भी 75 से ज्यादा हो गई है. केंद्रीय केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार कोरोना वायरस से अब भी 2,784 लोग संक्रमित हैं जबकि 212 लोग सही हो गए. इसके साथ ही कुल मामलों की संख्या बढ़कर 3,072 हो गई जिनमें 57 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं. 

पीएम मोदी की अपील पर देशवासी आज रात जलाएंगे एक दीया, कोरोना के अंधकार से मिलेगा छुटकारा

महाराष्ट्र में सबसे अधिक 490 मामलों की पुष्टि: 
स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, महाराष्ट्र में सबसे अधिक 490 मामलों की पुष्टि हुई है जबकि दिल्ली में 445 और तमिलनाडु में 411 मामले सामने आए हैं. केरल में अब तक 295 मामले सामने आए हैं, जबकि राजस्थान में 206 और उत्तर प्रदेश में 174 मामलों की पुष्टि हुई है.

राजस्थान में संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 206: 
राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा बढता जा रहा है. प्रदेश में कोरोना के संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 206 हो गई है. इनमें 45 लोग तब्लीगी जमात में शामिल होकर आये थे. वहीं प्रदेश में अब तक कोरोना वायरस की वजह से 4 लोगों की मौत हो चुकी है. बीकानेर और झुंझुनूं जिले में नए मामले सामने आये है. यहां पर 25 वर्षीय युवक बीकानेर का तबलीगी जमाती, वहीं झुंझुनूं का केस, 40 वर्षीय नवलगढ़ निवासी पुरुष कोरोना पॉजिटिव पाया गया. शनिवार को प्रदेश में 25 नए पॉजिटिव मिले. 

कोरोना महामारी के अंधकार को मिटाने के लिए आज देश दीप जलाएगा:
देश में कोरोना महामारी के अंधकार को मिटाने के लिए आज देश दीप जलाएगा. पीएम मोदी की अपील पर संक्रमण से लड़ने के लिए एकजुटता दिखाने की मुहिम के तहत दीप जलाए जाएंगे. पीएम ने अपने वीडियो संदेश में कहा था कि हमें कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में 130 करोड़ देशवासियों के महासंकल्प को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है, इसलिये पांच अप्रैल, रविवार को रात नौ बजे मैं आप सबके नौ मिनट चाहता हूं. आप घर की सभी लाइटें बंद करके, घर के दरवाजे पर या बालकनी में खड़े रहकर नौ मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाएं.

राहुल गांधी ने अमेठी में भेजे सेनिटाइजर और मास्क, कांग्रेस कार्यकर्ता कर रहे है वितरित

दुनियाभर में कोरोनावायरस मरीजों की संख्या 12 लाख से अधिक:
वहीं अगर पूरे विश्व की बात करें तो कोरोनावायरस मरीजों की संख्या 12 लाख से अधिक हो गई है, जबकि 64 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं, दो लाख 46 हजार व्यक्ति ठीक भी हुए हैं. सबसे ज्यादा प्रभावित अमेरिका में अब तक आठ हजार 400 लोग मारे जा चुके हैं. यहां संक्रमण के मामले तीन लाख से ज्यादा हो गए हैं. 

पीएम मोदी की अपील पर देशवासी आज रात जलाएंगे एक दीया, कोरोना के अंधकार से मिलेगा छुटकारा

 पीएम मोदी की अपील पर देशवासी आज रात जलाएंगे एक दीया, कोरोना के अंधकार से मिलेगा छुटकारा

नई दिल्ली: कोरोना वायरस की वजह से देशभर में लॉकडाउन है. लोग घरों के अंदर है. बाहर निकलने पर रोक है. वहीं देश में लगातार कोरोना वायरस बढ़ता जा रहा है. ऐसे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों को आव्हान किया था कि 5 अप्रैल की रात्रि को सभी देशवासी लाइटें बंद करके दीया, मोमबत्ती और मोबाइल  फ्लैश लाइट जलाकर एकजुटता दिखाने की अपील की. 

एक दीया या मोमबत्ती जरूर जलाये:
आज 5 अप्रैल है, सभी देश वासी रात को अपने घरों की बालकनी में आकर रात्रि एक दीया, मोमबत्ती जरूर जलाएं. पीएम मोदी ने कहा कि इस रविवार को हमें संदेश देना है कि हम सभी एक हैं. चारों तरफ जब हर व्यक्ति एक-एक दीया जलाएगा तब प्रकाश की उस महाशक्ति का ऐहसास होगा. जिसमें एक ही मकसद से हम सब लड़ रहे हैं, ये उजागर होगा.

राहुल गांधी ने अमेठी में भेजे सेनिटाइजर और मास्क, कांग्रेस कार्यकर्ता कर रहे है वितरित

सोशल डिस्टेंसिंग को किसी भी हालत में नहीं तोड़ना:
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मेरी एक और प्रार्थना है कि इस आयोजन के समय किसी को भी, कहीं पर भी इकट्ठा नहीं होना है. रास्तों में, गलियों या मोहल्लों में नहीं जाना है, अपने घर के दरवाज़े, बालकनी से ही इसे करना है. सोशल डिस्टेंसिंग की लक्ष्मण रेखा को कभी भी लांघना नहीं है. सोशल डिस्टेंसिंग को किसी भी हालत में तोड़ना नहीं है. कोरोना की चेन तोड़ने का यही रामबाण इलाज है.

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कुल आंकड़ा पहुंचा 206, कोरोना की चपेट में आने से अब तक 4 लोगों ने गंवाई जान

पीएम मोदी की अपील:
पीएम मोदी ने अपील की थी कि रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट के लिए लोग अपने घरों की लाइटें बंद करें और दरवाजे-खिड़की पर खड़े होकर दीया, मोमबत्ती जलाएं या फिर मोबाइल की फ्लैश लाइट-टॉर्च से रोशनी करें. इस शक्ति के जरिए हम यह संदेश देना चाहते हैं कि हम सभी देशवासी एकजुट हैं. पीएम मोदी ने कहा कि एकजुटता के दमपर ही इस महामारी को हम पराजित कर सकते है. कोरोना के चलते देश में 21 दिनों तक लागू किए गए लॉकडाउन के दौरान शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को वीडियो संदेश दिया था. 

Coronavirus Updates: संक्रमितों की संख्या 2902 हुई, 601 नए मामले, सरकार ने चेहरा ढक कर निकलने की एडवाइजरी जारी की

Coronavirus Updates: संक्रमितों की संख्या 2902 हुई, 601 नए मामले, सरकार ने चेहरा ढक कर निकलने की एडवाइजरी जारी की

नई दिल्ली: दुनियाभार में कोरोना वायरस का कोहराम थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. देश में कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मीडिया से बातचीत में बताया कि सरकार ने चेहरा ढक कर निकलने की एडवाइजरी जारी की. ऐसे में घर से बाहर निकलते वक्‍त चेहरे को कपड़े से  ढक कर निकले. 

कोरोना वैक्सीन को लेकर अमेरिकी वैज्ञानिकों की तरफ से आई अच्छी खबर, पहले परीक्षण में मिली सफलता 

कोरोना वायरस के 601 नए मामले सामने आए: 
इसके साथ ही उन्होंने बताया कि देश में कल से लेकर आज तक कोरोना वायरस के 601 नए मामले सामने आए हैं. लव अग्रवाल ने बताया कि इस जानलेवा वायरस से अब तक 2902 लोग संक्रमित हो चुके है और 68 लोगों की मौत हुई है.  कोरोना के कुल मामलों में से 30 फीसदी तबलीगी जमात से जुड़े हुए है.

कल से अब तक 12 लोगों की इस जानलेवा वायरस से मौत हुई: 
सचिव ने बताया कि कल से अब तक 12 लोगों की इस जानलेवा वायरस से मौत हुई है. वही 183 लोग ठीक हुए है. उन्होंने बताया कि कोविड-19 के 58 मरीजों की हालत नाजुक है और वे केरल, मध्यप्रदेश और दिल्ली है. 

42 फीसदी रोगियों की उम्र 21 से 40 के बीच:
स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि इस वायरस से संक्रमित नौ फीसदी मरीजों की उम्र 0-20 है, 42 फीसदी रोगी 21-40 वर्ष की आयु के हैं, 33 फीसदी मामले 41-60 वर्ष की आयु के रोगियों के हैं, और 17 फीसदी रोगी 60 वर्ष की आयु पार कर चुके हैं. 

सरकार की ओर से जारी किए गए दिर्नेशों का पालन करें:
लव अग्रवाल ने कहा कि हमारी डेथ रिपोर्ट हैं उनमें ज्‍यादातर उम्र या फिर कई अन्‍य बीमारियां मौत ही वजह रही हैं. इसलिए सरकार की ओर से जारी किए गए दिर्नेशों का पालन करें. उन्‍होंने WHO की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि एक दिन में 4 हजार से ज्यादा मौतें हुई हैं. 

Coronavirus: 465 साल पहले हो गई थी कोरोना वायरस को लेकर भविष्यवाणी! बताया था खतरा 

17 राज्यों से तब्लीगी जमात से संबंधित मामलों का पता लगाया:
सचिव ने बताया कि अब तक हमने 17 राज्यों से तब्लीगी जमात से संबंधित मामलों का पता लगाया है. तबलीगी जमात से संबंधित लोगों में से 1023 में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हुई है. कुल मामलों का लगभग 30 प्रतिशत जमात से संबंधित है. बताया कि लगभग 22,000 तबलीगी जमात के कार्यकर्ताओं और उनके संपर्कों को बड़े पैमाने पर प्रयास से क्वारंटाइन में रखा गया है.


 

Open Covid-19