महाराष्ट्र में ताउते तूफान का कहर, कोंकण क्षेत्र में छह लोगों की मौत, हजारों लोगों को पहुंचाया सुरक्षित स्थानों पर 

महाराष्ट्र में ताउते तूफान का कहर, कोंकण क्षेत्र में छह लोगों की मौत, हजारों लोगों को पहुंचाया सुरक्षित स्थानों पर 

मुंबई: महाराष्ट्र के कोंकण क्षेत्र में भीषण चक्रवाती तूफान ताउते से जुड़ी अलग-अलग घटनाओं में छह लोगों की मौत हो गई, वहीं तीन नाविक लापता हैं. अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि जिन लोगों की मृत्यु हुई, उनमें से तीन लोग रायगढ़ में, एक सिंधुदुर्ग जिले में मारा गया वहीं दो लोगों की मौत नवी मुंबई तथा उल्हासनगर में उन पर पेड़ गिर जाने से हो गई. एक सरकारी बयान के अनुसार सिंधुदुर्ग जिले में आनंदवाड़ी हार्बर पर खड़ीं दो नौकाएं डूब गयीं। दोनों नौकाओं पर सात लोग सवार थे. बयान के अनुसार इन सात लोगों में से एक की पहचान जिले के देवगड़ तालुका के राजाराम कदम के तौर पर की गयी है जिनकी मृत्यु हो गयी, वहीं तीन अन्य लापता हैं. बाकी तीन नाविक सुरक्षित हैं. 

कोंकण क्षेत्र में गिर गये बड़ी संख्या में पेड़:

सरकार ने कहा कि सोमवार को दोपहर दो बजे तक की स्थिति के अनुसार रायगढ़ में 1,886 मकान आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गये, वहीं तूफान के प्रकोप की वजह से पांच मकान पूरी तरह तबाह हो गये. इससे पहले राज्य की मंत्री अदिति तटकरे ने कहा था कि रायगढ़ में तूफान की वजह से 2,299 परिवारों (8,383 लोगों) को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. बयान के अनुसार दोपहर दो बजे तक जिले में 23.42 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने कहा कि चक्रवाती तूफान की वजह से कोंकण क्षेत्र में बड़ी संख्या में पेड़ गिर गये. ठाणे के उपायुक्त शिवाजी पाटिल ने कहा कि नवी मुंबई और उल्हासनगर में पेड़ गिरने की घटनाओं में दो लोगों की मौत हो गई. पालघर के जिलाधिकारी मानिक गुरसाल ने कहा कि जिले में रात आठ बजे तक तूफान का अलर्ट प्रभावी रहेगा. 

चक्रवात ताउते के कारण कोंकण में किसानों की फसलों को हुआ नुकसान : 
महाराष्ट्र सरकार में मंत्री एवं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता नवाब मलिक ने सोमवार को कहा कि चक्रवाती तूफान ताउते के कारण राज्य के कोंकण क्षेत्र के किसानों की फसलों को काफी नुकसान पहुंचा है. मलिक ने कहा कि तूफान की वजह से हुई भारी बारिश से हुए नुकसान का जायजा लिया जा रहा है. महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मलिक ने कहा कि मुंबई में भारी बारिश के कारण कोविड-19 के 193 मरीजों को बांद्रा-कुर्ला कॉम्पलेक्स में बनाए गए अस्थायी केन्द्र में स्थानांतरित किया गया है. मलिक ने एक बयान में कहा कि  तूफान के कारण कोंकण क्षेत्र के कुछ हिस्सों में किसानों की फसलों को नुकसान हुआ है. किसानों की फसलों को हुए नुकसान की समीक्षा की जा रही है.

चक्रवात ताउते: मुंबई पुलिस पूरी तरह चौकस:
चक्रवाती तूफान ताउते के गुजरात की ओर बढ़ने के बीच सोमवार को मुंबई और उसके आस-पास के इलाकों में बहुत तेज हवाओं के साथ बारिश के मद्देनजर यहां पुलिसकर्मियों को हाईअलर्ट पर रखा गया है तथा संचार एवं बाढ़ संबंधी जीवन रक्षक उपकरणों को तैयार रखा गया है. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि यहां थानों एवं यातायात चौकियों पर पर्याप्त पुलिसकर्मी उपलब्ध कराये गये हैं. अधिकारी ने कहा कि सभी थानों एवं चौकियों से यह सुनिश्चित करने कहा गया है कि वायरलेस सेटों एवं सार्वजनिक संबोधन तंत्रों जैसे संचार उपकरण सही से काम कर रहे हों. ऐसा ही निर्देश लाईफ जैकेट, प्राथमिक उपचार किट, रस्सियों, आपात लाईट व्यवस्था, स्ट्रेचर आदि जैसे जीवन रक्षक एवं बचाव उपकरणों तथा वाहनों के संदर्भ में भी दिये गये हैं. उन्होंने कहा कि भारी बारिश एवं तेज आंधी से जान-माल के संभावित नुकसान को कम से कम करने के लिए पुलिस से बृहन्मुम्बई महानगरपालिका के अधिकारियों के साथ समन्वय बनाकर रखने को कहा गया है. अधिकारी के अनुसार, लोगों से घरों में ही रहने तथा मछुआरों से समुद्र में न जाने के लिए कहा गया है.

और पढ़ें