मुंबई Maharashtra: गृह मंत्री ने दी जानकारी, यौन उत्पीड़न के 2600 से ज्यादा मामले फॉरेंसिक प्रयोगशालाओं में लंबित

Maharashtra: गृह मंत्री ने दी जानकारी, यौन उत्पीड़न के 2600 से ज्यादा मामले फॉरेंसिक प्रयोगशालाओं में लंबित

Maharashtra: गृह मंत्री ने दी जानकारी, यौन उत्पीड़न के 2600 से ज्यादा मामले फॉरेंसिक प्रयोगशालाओं में लंबित

मुंबई: महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल ने सोमवार को कहा कि राज्य की फॉरेंसिक प्रयोगशालाओं में यौन उत्पीड़न से जुड़े 2,600 से अधिक मामले लंबित हैं. विधान परिषद में प्रज्ञा सातव द्वारा पूछे गए एक सवाल के जवाब में पाटिल ने कहा कि इस साल जनवरी तक बच्चों के यौन उत्पीड़न से संबंधित कुल 1,619 मामले और महिलाओं के यौन उत्पीड़न से संबंधित 1,052 मामले राज्य की फॉरेंसिक प्रयोगशालाओं में लंबित थे.

महिलाओं पर हमलों से संबंधित मामलों में दोषसिद्धि दर 15.3 प्रतिशत थी: 

उन्होंने कहा कि नई फॉरेंसिक प्रयोगशालाएं स्थापित करने की योजना है और नासिक, औरंगाबाद तथा अमरावती में फास्ट ट्रैक डीएनए इकाइयों की स्थापना के लिए प्रशासनिक मंजूरी आ गई है. पाटिल ने कहा कि गृह विभाग के अपराध ब्यूरो की 2020 में तैयार की गई रिपोर्ट के अनुसार महिलाओं पर हमलों से संबंधित मामलों में दोषसिद्धि दर 15.3 प्रतिशत थी. उन्होंने कहा कि महिलाओं पर हमले से जुड़े करीब 2,29,000 मामले महाराष्ट्र की अदालतों में लंबित हैं. सोर्स-भाषा
 

और पढ़ें