महाराष्ट्र सरकार के मोबाइल ऐप पर 58 लाख से अधिक किसानों ने कराया पंजीकरण, खरीफ में उगाई गई 350 से अधिक फसलों के बारे में दी गई जानकारी

महाराष्ट्र सरकार के मोबाइल ऐप पर 58 लाख से अधिक किसानों ने कराया पंजीकरण, खरीफ में उगाई गई 350 से अधिक फसलों के बारे में दी गई जानकारी

महाराष्ट्र सरकार के मोबाइल ऐप पर 58 लाख से अधिक किसानों ने कराया पंजीकरण, खरीफ में उगाई गई 350 से अधिक फसलों के बारे में दी गई जानकारी

मुंबई: महाराष्ट्र सरकार के फसल सर्वेक्षण से जुड़े मोबाइल ऐप पर अब तक 58 लाख से अधिक किसानों ने पंजीकरण कराया है और कुछ जिले के किसानों ने खरीफ में उगाई गई 350 से अधिक फसलों के बारे में जानकारी दी है. 

राज्य सरकार ने टाटा ट्रस्ट के साथ मिलकर हाल में ‘ई-पीक पहानी’ नामक ऐप विकसित किया है. इस ऐप पर किसान अपनी फसल का ब्योरा दे सकते हैं. यह ऐप सरकार को यह समझने में मदद करेगा कि कौन सी फसल उगाई जा रही है और राज्य के कितने क्षेत्र में खेती हो रही है. राजस्व विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस प्रकार की जानकारी से पता चला है कि कितना अनाज, तिलहन और नकदी फसलें होने वाली है, इसके आधार पर आयात निर्यात नीतियां बनाई जा सकती हैं, अथवा इस संबंध में कोई निर्णय लिया जा सकता है. 

उन्होंने कहा कि इस साल 15 अगस्त को यह सुविधा शुरू होने के बाद, पहले दो महीनों में 58,39,804 किसानों ने पंजीकरण कराया और इनमें से 52,84,598 किसानों ने अपनी खरीफ फसल का ब्योरा भी दर्ज कराया है. सोर्स-भाषा

और पढ़ें