Pakistan में बड़ा ट्रेन हादसा: सिंध के डहारकी इलाके में 2 Passenger Trains टकराईं; 30 की मौत, 50 से ज्यादा लोग घायल

Pakistan में बड़ा ट्रेन हादसा: सिंध के डहारकी इलाके में 2 Passenger Trains टकराईं; 30 की मौत, 50 से ज्यादा लोग घायल

Pakistan में बड़ा ट्रेन हादसा: सिंध के डहारकी इलाके में 2 Passenger Trains टकराईं; 30 की मौत, 50 से ज्यादा लोग घायल

इस्लामाबाद: पाकिस्तान (Pakistan) में सोमवार सुबह एक बड़ा रेल हादसा हुआ है. सिंध के डहारकी इलाके में दो ट्रेनें आपस में टकरा गईं. हादसे में करीब 30 लोगों के मारे जाने की खबर है और 50 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. जानकारी के मुताबिक, भिड़ंत मिल्लत एक्सप्रेस (Millat Express) और सर सैय्यद एक्सप्रेस (Sayyed Express) के बीच हुई. अभी भी कई लोग बोगियों में फंसे हुए हैं. ऐसे में मृतकों की संख्या और बढ़ने की आशंका है.

बोगियां अनियंत्रित होकर दूसरी ट्रैक पर जा गिरीं:
हादसा घोटकी के पास रेती और डहारकी रेलवे स्टेशन (Daharki Railway Station) के बीच तड़के 3:45 बजे हुआ. जानकारी के मुताबिक, मिल्लत एक्सप्रेस कराची (Karachi) से सरगोधा (Sargodha) और सर सैयद एक्सप्रेस रावलपिंडी (Rawalpindi) से कराची जा रही थी. पाकिस्तानी मीडिया (Pakistani Media) के मुताबिक, मिल्लत एक्सप्रेस की बोगियां अनियंत्रित होकर दूसरी ट्रैक पर जा गिरीं. इससे सामने से आ रही सर सैयद एक्सप्रेस उससे टकरा गई. इस कारण बोगियों को काफी नुकसान हुआ.

समय पर नहीं पहुंची रेस्क्यू टीम, अभी भी कई यात्री बोगियों में फंसे हुए:
हादसे के बाद चार घंटे तक ऑफिसर मौके पर नहीं पहुंचे. देर से पहुंची रेस्क्यू टीम (Rescue Team) ने बचाव कार्य शुरू कर दिया है. अभी भी कई यात्री डैमेज हो चुकी बोगियों में फंसे हुए हैं. बोगियों को गैस कटर से काटकर फंसे हुए यात्रियों को निकाला जा रहा है. उन्हें नजदीकी गांवों से पहुंची ट्रैक्टर-ट्रॉली (Tractor Trolley) से अस्पताल ले जाया जा रहा है. हादसे की वजह से इस रूट की ज्यादातर गाड़ियों की आवाजाही पर असर हुआ है.

आसपास के हॉस्पिटल में इमरजेंसी घोषित:
घोटकी डिप्टी कमिश्नर (Ghotki Deputy Commissioner) उस्मान अब्दुल्ला ने बताया कि दोनों ट्रेनों की 13 से 14 बोगियां पटरी से उतर गई हैं. इनमें 6 से 8 पूरी तरह से बर्बाद हो चुकी हैं. इसलिए लोगों को रेस्क्यू करने में परेशानी हो रही है. हादसे के बाद घायलों को अस्पताल पहुंचाने के इंतजाम कर दिए गए हैं. घोटकी, डहारकी, ओबरो और मीरपुर मथेलो के अस्पतालों में इमरजेंसी (Emergency) घोषित कर दी गई है और डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ (Paramedical Staff) को ड्यूटी पर बुलाया गया है.

भारी मशीनरी की मदद से रेस्क्यू कर रहे:
उन्होंने कहा कि जो लोग अभी भी फंसे हुए हैं, उन्हें बाहर निकालना रेस्क्यू टीम के सदस्यों और अधिकारियों के लिए एक चुनौती है. लोग अभी भी फंसे हुए हैं, उन्हें बाहर निकालने में भारी मशीनरी का उपयोग करने में समय लगेगा.

मार्च में भी हुआ था हादसा:
इससे पहले मार्च महीने में कराची एक्सप्रेस ट्रेन हादसे का शिकार हो गई थी. ट्रेन लाहौर (Lahore) से निकली थी और सुक्कुर प्रांत (Sukkur Province) में इसके 8 कोच पटरी से उतर गए थे. हादसे में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी, जबकि 40 के करीब यात्री घायल हुए थे.

और पढ़ें