Live News »

VIDEO: जयपुर एयरपोर्ट पर सोने की बड़ी तस्करी का खुलासा, 3 फ्लाइट से अब तक 32.5 किलो सोना पकड़ा

जयपुर: जयपुर एयरपोर्ट पर सोने की बड़ी तस्करी का खुलासा हुआ है. सोने की तस्करी कोरोना महामारी से बचाव के लिए चलाई जा रही इवेक्युएशन फ्लाइट्स के दौरान हुआ है. विदेशों में फंसे प्रवासी राजस्थानियों को लाने के लिए चलाई जा रही इन फ्लाइट्स में कुल 14 यात्रियों से 32 किलो सोना पकड़ा गया है. जिसकी अनुमानित बाजार कीमत करीब 16 करोड़ रुपए बताई जा रही है.

राजस्थान के पुलिस बेडे़ में बड़ा फेरबदल, 66 IPS अफसरों के तबादले, कार्मिक विभाग ने जारी किए आदेश  

14 सोना तस्करों को दबोचा: 
आपको बता दें कि कल कुल 6 इवेक्युएशन फ्लाइट जयपुर पहुंची थी. इनमें से स्पाइसजेट की 2 फ्लाइट से कस्टम विभाग के अधिकारियों ने 14 सोना तस्करों को दबोचा. ये सभी यात्री इमरजेंसी लाइट की बैटरी में सोना भरकर लाए थे. सोना बिस्किट के रूप में था और प्रत्येक बिस्किट का वजन करीब 900 ग्राम है. कस्टम विभाग के अधिकारी यात्रियों से डिटेन कर पूछताछ करने में लगे हुए हैं. 

स्पाइस जेट की फ्लाइट से 32 किलो सोना तस्करी: 
- दो फ्लाइट से कुल 14 तस्कर लेकर आए 31.95 किलो सोना
- सोने की अनुमानित कीमत है करीब 15.90 करोड़ रुपए
- रस अल खैमाह से स्पाइसजेट की फ्लाइट SG-9055 पहुंची
- इस फ्लाइट से 3 सोना तस्करों से 9.30 किलो सोना पकड़ा
- इस सोने की अनुमानित कीमत है 4.60 करोड रुपए
- वहीं रियाद से स्पाइस जेट की फ्लाइट SG-9647 पहुंची जयपुर
- इस फ्लाइट से 11 यात्रियों से 22.652 किलो सोना पकड़ा
- इस सोने की अनुमानित कीमत है 11.3 करोड रुपए

कानपुर: विकास दुबे पर 50 हजार का इनाम, UP पुलिस की 100 टीमें कर रही तलाश 

और पढ़ें

Most Related Stories

मैच फिक्सिंग मामला: फुटबॉल संघ के उप प्रमुख रोमन बरबर ने दिया इस्तीफा

मैच फिक्सिंग मामला:  फुटबॉल संघ के उप प्रमुख रोमन बरबर ने दिया इस्तीफा

प्राग:  मैच फिक्सिंग मामला में नया मोड़ आया है जहां चेक फुटबॉल संघ के उप प्रमुख रोमन बरबर ने अपने सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है. मैच फिक्सिंग प्रकरण में संदिग्ध भ्रष्टाचार के कारण पिछले हफ्ते पुलिस द्वारा हिरासत में लिए जाने के बाद बरबर ने यह कदम उठाया है. फुटबॉल संघ के अध्यक्ष मार्टिन मलिक ने सोमवार को कार्यकारी समिति की बैठक के बाद बरबर के कदम की घोषणा की है. 

कार्यकारी समिति ने साथ ही शीर्ष दो पेशेवर लीग के सदस्यों को छोड़कर रैफरियों की पूरी समिति को बर्खास्त कर दिया गया है.  चेक गणराज्य की पुलिस ने रैफरी और अन्य फुटबॉल अधिकारियों सहित 20 लोगों को निशाना बनाते हुए भ्रष्टाचार और मैच फिक्सिंग जांच के संदर्भ में शुक्रवार को संघ मुख्यालय पर छापा मारा था और 19 लोगों को हिरासत में लिया है. बरबर सहित चार लोग अब भी पुलिस हिरासत में हैं और आगे कार्यवाही जारी है. (सोर्स-भाषा)

{related}

पीपीई किट पहने स्वास्थ्यकर्मी और मरीज ले रहे हैं गरबे का मजा, वीडियो वायरल

पीपीई किट पहने स्वास्थ्यकर्मी और  मरीज ले रहे हैं गरबे का मजा, वीडियो वायरल

मुंबई: मुंबई के कोविड-19 केंद्रों में मरीजों के गरबा करने के दो वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहे है. हालांकि महाराष्ट्र सरकार ने लोगों से अपील की थी कि वे नवरात्रि के दौरान डांडिया आयोजन के बजाए रक्तदान शिविर और स्वास्थ्य शिविर लगाएं. वायरल हुए वीडियो में से एक में पीपीई किट पहने स्वास्थ्य कर्मियों के साथ कोविड-19 महिला वार्ड की कई मरीज मास्क लगाकर एक फिल्मी गाने पर गरबा करते हुए नजर आ रही हैं.  इस वीडियो क्लिप में कुछ महिला मरीज प्रस्तुति को देखती भी नजर आ रही है. 

वहीं एक अन्य वीडियो में कुछ पुरुष मरीज नर्सिंग स्टेशन 15 में पीपीई किट पहने स्वास्थ्यकर्मियों के साथ गरबा करते हुए दिखे हैं. सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट के मुताबिक ये वीडियो गोरेगांव में बृहन्मुंबई महानगरपालिका के कोविड-19 केंद्र के हैं. इस संबंध में बीएमसी आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने पीटीआई-भाषा को मंगलवार को बताया कि गरबा प्रस्तुति वाला एक वीडियो बीएमसी के कोविड-19 केंद्र का है लेकिन केंद्र के डीन ने उन्हें बताया है कि उन्होंने इसका आयोजन नहीं किया था. 

चहल ने कहा कि केंद्र के डीन ने उन्हें यह भी बताया कि मरीज स्वास्थ्यकर्मियों के साथ खुद ही जश्न मना रहे थे और वे प्रसन्न एवं अच्छा महसूस कर रहे थे. उन्होंने डीन के हवाले से कहा कि ऐसा करने में खुशी मिलने की वजह से केंद्र के डॉक्टरों ने उन्हें इसकी अनुमति दे दी थी. मुंबई, देश में कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित शहरों में से एक है और अभी तक यहां संक्रमण के करीब 2.43 लाख मामले आ चुके हैं तथा 9,700 लोगों की मौत संक्रमण की वजह से हो चुकी है. महाराष्ट्र सरकार ने पिछले महीने लोगों से अपील की थी कि वे महामारी के मद्देनजर नवरात्रि और दशहरा का उत्सव सादगी से मनाएं. (सोर्स-भाषा)

{related}

NCR शहरों की वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी में: CPCB

NCR शहरों की वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी में: CPCB

नोएडा:  केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने हालिया जारी रिपोर्ट में दावा किया है कि एनसीआर शहरों की एयर क्वालिटी बहुत ही खराब स्थिती की है. हरियाणा में फरीदाबाद के कुछ स्थानों पर सोमवार को वायु गुणवत्ता बहुत खराब श्रेणी में रही जबकि उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर व गाजियाबाद तथा हरियाणा के गुड़गांव में हवा की गुणवत्ता खराब श्रेणी में दर्ज की गई है. आपको बता दे की ये शहर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आते हैं.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक, दिल्ली से सटे चारों जिलों में पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर भी काफी ज्यादा था. वायु गुणवत्ता शून्य से 50 के बीच अच्छी, 51 से 100 तक संतोषजनक, 101 से 200 तक मध्यम, 201 से 300 तक खराब, 301 से 400 तक बेहद खराब और 401 से 500 के बीच गंभीर मानी जाती है. 

सीपीसीबी के रात नौ बजे के आंकड़ों के मुताबिक वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) फरीदाबाद में कुछ स्थानों पर बहुत खराब था लेकिन व्यापक तौर पर खराब श्रेणी में रहा है. आंकड़ों के अनुसार, गुड़गांव, गाजियाबाद और गौतबुद्धनगर में एक्यआई खराब श्रेणी में रहा है. इन क्षेत्रों में अत्यधिक मात्रा में पराली जलाने के कारण भी प्रदूषण बढ़ रहा है जिसकी रोकथान के उपाय किये जा रहे है. (सोर्स-भाषा)

{related}

CM शिवराज सिंह चौहान के चुनावी रोड शो में शर्तों का उल्लंघन, मामला दर्ज

 CM  शिवराज सिंह चौहान के चुनावी रोड शो में शर्तों का उल्लंघन, मामला दर्ज

इंदौर: मध्य प्रदेश में कोरोना के नियमों की धज्जियां उड़ाने का मामला सामने आया है. प्रदेश के  सांवेर विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सोमवार शाम आयोजित चुनावी रोड शो में अनुमति की शर्तों और कोविड-19 से बचाव के दिशा-निर्देशों के कथित उल्लंघन पर प्राथमिकी दर्ज की गई है. पुलिस के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि यह मामला भाजपा के एक स्थानीय नेता के खिलाफ दर्ज किया गया है जिसके आवेदन पर सांवेर कस्बे में मुख्यमंत्री के रोड शो की अनुमति दी गई थी.

सांवेर पुलिस थाने के प्रभारी संतोष कुमार दूधी ने बताया कि सोमवार शाम निकाले गए रोड शो को इन शर्तों पर मंजूरी दी गई थी इसमें केवल पांच वाहन शामिल होंगे और शारीरिक दूरी व कोविड-19 से बचाव के अन्य दिशा-निर्देशों का पालन किया जाएगा मगर राजनेता के समर्थकों ने नियमों को ताक पर उठाकर रख दिया, जिसके बाद एक्शन लेना पड़ा. 

उन्होंने सांवेर के रिटर्निंग अधिकारी के कार्यालय से पुलिस थाने को भेजे गए पत्र के हवाले से बताया कि अनुमति की शर्तों का उल्लंघन करते हुए मुख्यमंत्री के रोड शो में 20 से 25 गाड़ियां शामिल हुईं है. इस चुनावी आयोजन में शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं किया और इसमें शामिल कई लोगों ने महामारी से बचाव के लिए मास्क भी नहीं पहना था. 

थाना प्रभारी ने बताया कि मुख्यमंत्री के रोड शो में नियम-शर्तों के कथित उल्लंघन पर स्थानीय भाजपा नेता दिनेश भावसार के खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 188 (किसी सरकारी अधिकारी का आदेश नहीं मानना) के तहत सोमवार देर रात मामला दर्ज किया गया है. इस नेता के आवेदन पर ही मुख्यमंत्री के चुनावी रोड शो की अनुमति दी गई थी.

सांवेर सूबे के उन 28 विधानसभा क्षेत्रों में शामिल है जहां तीन नवंबर को उप चुनाव होने हैं. अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित इस सीट पर मुख्य चुनावी भिड़ंत प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट और पूर्व लोकसभा सांसद प्रेमचंद गुड्डू के बीच है. वे क्रमशः भाजपा और कांग्रेस की ओर से चुनावी मैदान में उतरे हैं. नतीजे क्या कमाल दिखाएंगे ये तो वोटिंग के बाद पता चल पाएगा. (सोर्स-भाषा)

{related}

PNB घोटाला: पूर्व उप प्रबंधक गोकुलनाथ शेट्टी के खिलाफ घूसखोरी का मामला दर्ज

PNB घोटाला: पूर्व उप प्रबंधक गोकुलनाथ शेट्टी के खिलाफ घूसखोरी का मामला दर्ज

नई दिल्ली: पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले में मुख्य आरोपी और बैंक के सेवानिवृत्त उप प्रबंधक गोकुलनाथ शेट्टी के खिलाफ सीबीआई ने घूसखोरी का ताजा मामला दर्ज किया है. आपको बता दे कि पीएनबी में 13,000 करोड़ रूपये की धोखाधड़ी का यह मामला हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी और नीरव मोदी से जुड़ा हुआ है. 

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक आरोप है कि शेट्टी ने गीतांजलि जेम्स के लिए बैंक गारंटी की व्यवस्था कराने के लिए ऋषिका फाइनेंशियल्स से कथित तौर पर 1.08 करोड़ रुपये की रिश्वत ली थी और इसके कारण बैंक का सारा पैसा डूब गया. गौरतलब है की घटना के बाद नीरव मोदी भारत छोड़कर फरार हो गया था. 

अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि ऋषिका फाइनेंशियल्स के मालिक देबज्योति दत्ता विदेशी अनुदान बैंकों से लेटर्स ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयूएस) के कोटेशन मुहैया कराते थे. फिलहाल ये मामला कितना वक्त लेगा कुछ कहा नहीं जा सकता है. (सोर्स-भाषा)

{related}

देश में आयोजित मालाबार नौसेना युद्धाभ्यास में अमेरिका , जापान के बाद ऑस्ट्रेलिया भी लेगा हिस्सा

देश में आयोजित मालाबार नौसेना युद्धाभ्यास में अमेरिका , जापान  के बाद ऑस्ट्रेलिया भी लेगा हिस्सा

मेलबर्न: भारत में आयोजित किए जा रहे आगामी मालाबार नौसेना युद्धाभ्यास में भारत, अमेरिका और जापान के साथ ऑस्ट्रेलिया भी हिस्सा लेगा जिसकी घोषणा ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने एक बयान जारी कर की है.  यह चार देशों के समूह ‘क्वॉड’ की सैन्य स्तर पर पहली भागीदारी होगी. भारत-चीन सीमा विवाद के बीच, भारत ने सोमवार को आगामी मालाबार नौसेना युद्धाभ्यास में अमेरिका और जापान के साथ ऑस्ट्रेलिया के भी हिस्सा लेने की घोषणा की थी. 

आपको बता दे की भारत द्वारा ऑस्ट्रेलियाई नौसेना को अगले महीने होने वाले युद्धाभ्यास में हिस्सा लेने का निमंत्रण देने का कदम तोक्यो में क्वॉड के विदेश मंत्रियों की वार्ता के दो हफ्ते बाद उठाया गया है. इस बैठक में मंत्रियों ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग को बढ़ाने के उपायों पर ध्यान केंद्रित किया था, जहां पर चीन का सैन्य दबाव लगातार बढ़ रहा है.

ऑस्ट्रेलिया की रक्षा मंत्री लिंडा रेनॉल्ड्स और विदेश मंत्री मैरिसे पेने ने एक सुयंक्त बयान जारी करते हुए कहा कि यह घोषणा भारत के साथ ऑस्ट्रेलिया के संबंध और गहरे करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है. बयान के मुताबिक संघीय सरकार ने कहा है कि भारत के आमंत्रण के बाद ऑस्ट्रेलिया मालाबार नौसेना युद्धाभ्यास में हिस्सा लेगा. यह अभ्यास क्षेत्र के चार प्रमुख रक्षा साझेदारों भारत, जापान, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया को नवम्बर में एक साथ लाएगा. 

रेनॉल्ड्स ने कहा कि मालाबार-2020 ऑस्ट्रेलिया रक्षा बल (एडीएफ) के लिए महत्वपूर्ण अवसर होगा. उन्होंने कहा कि मालाबार जैसे अत्याधुनिक सैन्य अभ्यास ऑस्ट्रेलिया की समुद्री क्षमताओं को बढ़ाने, हमारे करीबी सहयोगियों के साथ परस्पर काम करने और मुक्त एवं समृद्ध हिंद-प्रशांत का समर्थन करने के हमारे सामूहिक संकल्प का प्रदर्शन करते हैं. 

विदेश मंत्री पेने ने कहा कि मालाबार युद्धाभ्यास हिंद-प्रशांत के चार प्रमुख लोकतांत्रिक देशों के बीच गहरे भरोसे और साझा सुरक्षा हितों पर एक साथ काम करने की उनकी इच्छा को भी दर्शाता है. उन्होंने कहा कि इसका आधार व्यापक रणनीतिक साझेदारी है, जिसके लिए प्रधानमंत्री (स्कॉट) मॉरिसन और प्रधानमंत्री (नरेन्द्र) मोदी के बीच चार जून 2020 को सहमति बनी थी और जिसे मैंने अपने भारतीय समकक्ष एस. जयशंकर के साथ इस महीने तोक्यो में मुलाकात के दौरान आगे बढ़ाया है. 

पेने ने कहा, ‘‘यह क्षेत्र में शांति एवं स्थिरता बनाए रखने के लिए भारत, ऑस्ट्रेलिया, जापान और अमेरिका की मिलकर काम करने क्षमता को बढ़ाएगा. उन्होंने कहा कि नौसेना अभ्यास में हिस्सा लेना हिंद-प्रशांत में क्षेत्रीय सुरक्षा, स्थिरता एवं समृद्धि बढ़ाने और एडीएफ की पारस्परिक काम करने की क्षमता के प्रति ऑस्ट्रेलिया की स्थायी प्रतिबद्धता को दर्शाता है. आस्ट्रेलिया ने आखिरी बार 2007 में मालाबार नौसेना युद्धाभ्यास में हिस्सा लिया था. (सोर्स-भाषा)

{related}

बाइक बोट घोटाले में एक और गिरफ्तारी, 50 हजार का ईनामी है अपराधी

बाइक बोट घोटाले में एक और गिरफ्तारी, 50 हजार का ईनामी है अपराधी

नोएडा: उत्तर प्रदेश में करोड़ों रुपए के बाइक बोट घोटाले में शामिल 50 हजार रुपये के इनामी बदमाश को सोमवार रात उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के एसटीएफ के एसपी कुलदीप नारायण ने बताया कि सोमवार देर रात नोएडा एसटीएफ यूनिट तथा आर्थिक अपराध शाखा मेरठ ने एक संयुक्त अभियान के तहत बदमाश ललित भाटी को गिरफ्तार किया है. 

उन्होंने बताया कि उस पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित था. ललित बाइक बोट घोटाले में दर्ज 26 मामलों में वांछित था. एसटीएफ ने आर्थिक अपराध शाखा के साथ मिलकर इस मामले में वांछित चल रहे 50-50 हजार रुपए के दो इनामी बदमाश सचिन भाटी और पवन भाटी को सात अक्टूबर को गिरफ्तार किया था. 

गौरतलब है कि संजय भाटी नाम के एक शख्स ने बाइक टैक्सी चलाने के नाम पर एक कम्पनी खोली, कई लोगों को उससे जोड़ा और फिर एक साल में पैसे दोगुना करने का प्रलोभन देकर लोगों से पैसे ठगे. इस मामले में संजय भाटी सहित उसके गिरोह के कई लोग जेल में है. फिलहाल मामला की कार्यवाही जारी है. (सोर्स-भाषा)

{related}

अपराध पर अंकुश लगाएगी प्रयागराज पुलिस की ई-मुखबिर योजना

अपराध पर अंकुश लगाएगी  प्रयागराज पुलिस की ई-मुखबिर योजना

प्रयागराज:  उत्तर प्रदेश की प्रयागराज पुलिस ने अपराध और अपराधियों पर नियंत्रण रखने के लिए सोमवार को 'ई-मुखबिर' योजना शुरू की जिसके तहत जिले के आम नागरिक अपराध रोकने में पुलिस की मदद कर सकेंगे और जनता की सेवा में तत्पर रह सकेंगे. 

जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने यहां संवाददाताओं को बताया कि अपराध और अपराधियों के बारे में नागरिकों से जानकारी प्राप्त करने और नागरिकों को पुलिस के साथ जोड़ने के उद्देश्य से ई-मुखबिर योजना शुरू की गई है. 

उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत समाज के सभी लोग यदि कहीं अपराध होते देखते हैं और उन्हें लगता है कि इस बारे में पुलिस को जानकारी दी जानी चाहिए तो ऐसे लोगों के नाम, पते आदि गोपनीय रखते हुए पुलिस सूचना प्राप्त कर कार्रवाई करेगी. 

त्रिपाठी ने बताया कि ई-मुखबिर योजना एक व्हाट्सऐप ग्रुप के जरिए चलाई जा रही है जिसका नंबर 9918101617 है. इस नंबर पर कोई भी व्यक्ति सूचना दे सकता है, फोटोग्राफ और आवाज की रिकार्डिंग या वीडियो क्लिप भेज सकता है. ये बहुत ही कारगर साबित होगी ऐसा दावा किया जा रहा है. (सोर्स-भाषा)

{related}