देश में हर तरफ मकर संक्रांति की धूम, पतंगों से आसमान हुआ रंगीन 

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/01/14 04:45

नई दिल्ली। मकर संक्रांति का पर्व आज देशभर में श्रद्धा और हर्षोल्‍लास के साथ मनाया जा रहा है। यह सर्दियों की समाप्ति और फसलों की कटाई के पर्व के रूप में मनाया जाता है। यह पर्व देश में अलग-अलग जगहों पर भिन्‍न भिन्‍न नामों से जाना जाता है। यह तमिलनाडु में पोंगल, गुजरात में उत्तरायण, असम में भोगली बिहु और पश्चिम बंगाल में पौष संक्रांति के रूप में मनाया जाता है। आज रंग-बिरंगी पतंगों से आसमान रंगीन नजर आ रहा है। 

राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मकर संक्रांति, उत्तरायण और भोगली बिहू के अवसर पर देशवासियों को बधाई दी है। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने मकर संक्रांति के अवसर पर लोगों को बधाई दी है। ट्वीट संदेश में पीएम मोदी ने कहा कि प्रकृति और परम्‍परा का यह त्‍यौहार लोगों के लिए अच्‍छा स्‍वास्‍थ्‍य और जीवन में खुशहाली लाये। उन्‍होंने पोंगल, माघ बिहू और उत्तरायण के अवसर पर भी लोगों को बधाई दी है।

गुजरात में मकर संक्रांति का पर्व पतंग उत्‍सव के रूप में हर्षोल्‍लास और परम्‍परागत ढंग से मनाया जा रहा है। पतंग उड़ाने के साथ ही लोग छतों पर ही गीत और संगीत पर नाच रहे है और पारंपरिक स्‍वादिष्‍ट व्‍यंजनों का मजा उठा रहे हैं। अंतर्राष्‍ट्रीय पतंग महोत्‍सव समाप्‍त होने के साथ ही विदेशी पतंगबाज आज पुराने अहमदाबाद में पारंपरिक पतंगबाजी का मजा उठा रहे हैं। राज्‍य सरकार और स्‍वयंसेवी संगठनों ने पतंग की डोर से घायल होने वाले पक्षियों को बचाने के लिए विशेष हेल्‍पलाइन शुरू की है।

तेलंगाना, पंजाब और हरियाणा में फसलों की कटाई के बाद संक्रांति पर्व आज से परम्‍परागत और हर्षोल्‍लास से मनाया जा रहा है। तीन दिन चलने वाला यह त्‍यौहार गांवों और शहरों सहित समूचे तेलंगाना में अलग-अलग तरीके से मनाया जा रहा है। इस दौरान किसान अनाज की बालियां अपने घर लाते हैं और ईश्‍वर को समर्पित करते हैं। गांवो और कस्‍बों में उत्‍सव का माहौल है। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in