ममता बनर्जी ने प. बंगाल में चुनाव बाद हिंसा के मुद्दे पर शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की

ममता बनर्जी ने प. बंगाल में चुनाव बाद हिंसा के मुद्दे पर शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में चुनाव के बाद हुई हिंसा के मुद्दे पर मंगलवार को शीर्ष प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की.एक अधिकारी ने बताया कि बनर्जी के कालीघाट निवास पर यह बैठक हुई, जिसमें मुख्यमंत्री ने स्थिति का जायजा लिया. बैठक में मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय, गृह सचिव एच के द्विवेदी, पुलिस महानिदेशक पी नीरजनयन, कोलकाता के पुलिस आयुक्त सोमेन मित्रा मौजूद थे.

राज्य में हुई हिंसा की कई घटनाएं:

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे की रविवार को घोषणा किये जाने के बाद से राज्य में हिंसा की कई घटनाएं हुई हैं. सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस और विपक्षी भाजपा ने इसके लिए एक-दूसरे पर आरोप लगाये हैं. पुलिस ने बताया कि राज्य के विभिन्न हिस्सों में चुनाव बाद हिंसा में कम से कम छह लोगों की मौत हुई है, जिनमें से एक व्यक्ति की जान कोलकाता में गयी.

भाजपा ने लगाया आरोप:

भाजपा ने आरोप लगाया है कि तृणमूल समर्थित गुंडों ने उनके कई कार्यकर्ताओं की हत्या की, उनके महिला सदस्यों पर हमला किया, घरों में तोड़फोड़ की, पार्टी सदस्यों की दुकानें फूंक दी एवं पार्टी कार्यालयों में उत्पात मचाया. हालांकि, तृणमूल कांग्रेस ने इन आरोपों से इनकार किया है. राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि कई जिलों में चुनाव बाद हिंसा होने की खबरें मिलने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें फोन करके राज्य की कानून व्यवस्था की स्थिति पर क्षोभ प्रकट किया.

शांति बहाल करने का दिया निर्देश:

मुख्यमंत्री और तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी ने रविवार को लोगों से संयम बरतने एवं किसी भी प्रकार की हिंसा में शामिल नहीं होने का आह्वान किया था. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने विपक्षी कार्यकर्ताओं पर हमले को लेकर राज्य सरकार से तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है और राज्यपाल ने राज्य के गृह सचिव, पुलिस महानिदेशक एवं कोलकाता के पुलिस आयुक्त को तलब किया एवं उन्हें शांति बहाल करने का निर्देश दिया.(भाषा)

और पढ़ें