पणजी ममता बनर्जी ने समझाया पार्टी के नाम का मतलब कहा- टीएमसी का अर्थ 'टैम्पल', मॉस्क' और चर्च, हमें इससे ज्यादा चरित्र प्रमाण देने की कोई जरुरत नहीं

ममता बनर्जी ने समझाया पार्टी के नाम का मतलब कहा- टीएमसी का अर्थ 'टैम्पल', मॉस्क' और चर्च, हमें इससे ज्यादा चरित्र प्रमाण देने की कोई जरुरत नहीं

ममता बनर्जी ने समझाया पार्टी के नाम का मतलब कहा- टीएमसी का अर्थ 'टैम्पल', मॉस्क' और चर्च, हमें इससे ज्यादा चरित्र प्रमाण देने की कोई जरुरत नहीं

पणजी: तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी ने शुक्रवार को गोवा में अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से कहा कि भाजपा उन्हें 'हिंदू विरोधी' कहती है, हालांकि उसे उन्हें चरित्र प्रमाण पत्र' देने का कोई अधिकार नहीं है. बनर्जी ने कहा कि उनकी पार्टी के नाम ‘टीएमसी’ में 'टी' का अर्थ टैंपल (मंदिर), 'एम' का मॉस्क (मस्जिद) और 'सी' का चर्च (गिरजाघर) है. 

भारतीय जनता पार्टी (BJP)  शासित राज्य गोवा की तीन दिवसीय यात्रा के लिये  शाम यहां पहुंची पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि उनकी पार्टी वोट बांटने के लिए नहीं बल्कि राज्य को 'मजबूत और आत्मनिर्भर' बनाने के लिए यहां चुनाव लड़ना चाहती है. उन्होंने कहा कि राज्य का शासन दिल्ली से नहीं चलेगा. बनर्जी ने कहा कि उनकी पार्टी लोगों को धार्मिक आधार पर नहीं बांटती, भले ही वे हिंदू, मुस्लिम या ईसाई हों. टीएमसी ने गोवा की सभी 40 विधानसभा सीटों पर आगामी चुनाव लड़ने की घोषणा की है. पार्टी ने कई स्थानीय नेताओं को अपने पाले में लाना शुरू कर दिया है. बनर्जी के दौरे को 2022 के शुरु में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले राज्य में राजनीतिक मूड को भांपने के उनके प्रयास के रूप में देखा जा रहा है. गोवा में टीएमसी नेताओं के साथ अपनी पहली बातचीत के दौरान, बनर्जी ने भाजपा पर राज्य में उनके पोस्टर हटाने का आरोप गाया और कहा कि भारत के लोग भगवा पार्टी को हटा देंगे. 

उन्होंने कहा कि जब मैं गोवा आती हूं, तो वे मेरे पोस्टर खराब कर देते हैं. आपको भारत से हटा दिया जाएगा. बनर्जी ने कहा कि अगर गोवा में टीएमसी सत्ता में आती है तो वह बदले के एजेंडे से नहीं, बल्कि राज्य के लिए काम करेगी. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के नाम ‘टीएमसी’ के तीन अक्षरों का अर्थ ‘टैम्पल, मॉस्क और चर्च’ है. बनर्जी (66) ने कहा, 'भाजपा उन्हें 'हिंदू विरोधी' कहती है, हालांकि उसे उन्हें 'चरित्र प्रमाण पत्र' देने का कोई अधिकार नहीं है. पहले उन्हें अपना चरित्र तय करना चाहिये. कांग्रेस का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी ने 60-70 साल तक चुनाव लड़ा है. उन्होंने कहा कि पिछली बार (2017 के गोवा चुनाव में) आपने (कांग्रेस ने) भाजपा को सरकार बनाने का मौका दे दिया था, वे दोबारा ऐसा कर सकते हैं. हम उन पर कैसे भरोसा कर सकते हैं? टीएमसी गोवा के लिए अपना खून देने को तैयार है, लेकिन यह भाजपा के साथ समझौता नहीं करेगी. सोर्स-भाषा

और पढ़ें