उपमुख्यमंत्री सिसोदिया का बयान- भारत बायोटेक ने कहा है कि दिल्ली को कोवैक्सीन की अतिरिक्त खुराकें नहीं दे सकता

उपमुख्यमंत्री सिसोदिया का बयान- भारत बायोटेक ने कहा है कि दिल्ली को कोवैक्सीन की अतिरिक्त खुराकें नहीं दे सकता

उपमुख्यमंत्री सिसोदिया का बयान- भारत बायोटेक ने कहा है कि दिल्ली को कोवैक्सीन की अतिरिक्त खुराकें नहीं दे सकता

नई दिल्लीः दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को कहा कि भारत बायोटेक ने दिल्ली सरकार को सूचित किया है कि वह राष्ट्रीय राजधानी को कोवैक्सीन की “अतिरिक्त” खुराकें नहीं उपलब्ध करा सकता है. उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोवैक्सीन का भंडार समाप्त हो गया है और नतीजतन 17 स्कूलों में बनाए गए करीब 100 टीकाकरण केंद्रों को बंद करना पड़ा है.

केंद्र सरकार टीके की आपूर्ति को नियंत्रित कर रहीः
सिसोदिया ने कहा कि कोवैक्सीन निर्माता ने एक पत्र में कहा कि वह अनुपलब्धता के चलते दिल्ली सरकार को संबंधित सरकारी अधिकारी के निर्देश के तहत खुराकें उपलब्ध नहीं करा सकता है. इसका मतलब केंद्र सरकार टीके की आपूर्ति को नियंत्रित कर रही है.

केंद्र को टीकों का निर्यात रोकना चाहिएः
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र को टीकों का निर्यात रोकना चाहिए और व्यापक पैमाने पर उत्पादन के लिए देश में दो टीका उत्पादकों के टीका फॉर्मूले को अन्य कंपनियों के साथ साझा करना चाहिए. उन्होंने केंद्र सरकार से अंतरराष्ट्रीय बाजार में उपलब्ध टीकों को भारत में उपयोग के लिए उपलब्ध कराने तथा तीन महीने के भीतर हर किसी को टीका लगाने का राज्यों को निर्देश देने का भी आग्रह किया.
सोर्स भाषा

और पढ़ें