रेडियो पर मन की बात: पीएम मोदी बोले, कोरोना संकट की सबसे बड़ी चोट गरीब मजदूर पर पड़ी, रेलवे ने लाखों श्रमिकों को घर पहुंचाया

रेडियो पर मन की बात: पीएम मोदी बोले, कोरोना संकट की सबसे बड़ी चोट गरीब मजदूर पर पड़ी, रेलवे ने लाखों श्रमिकों को घर पहुंचाया

 रेडियो पर मन की बात: पीएम मोदी बोले, कोरोना संकट की सबसे बड़ी चोट गरीब मजदूर पर पड़ी, रेलवे ने लाखों श्रमिकों को घर पहुंचाया

नई दिल्ली: कोरोना लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मन की बात की. लॉकडाउन में तीसरी बार पीएम मोदी ने मन की बात की. रेडियो पर प्रधानमंत्री मोदी ने मन की बात करते हुए कोरोना के प्रभाव से मन की बात भी अछूती नहीं. पीएम मोदी ने कहा कि सावधानियों के साथ हवाई जहाज चलने लगे है. 2 गज की दूरी के नियम में जरा भी ढील ना बरतें. हमारे देश में कोरोना केस अन्य देशों के मुकाबले कम है. अर्थव्यवस्था के विकास का हिस्सा खुल गया है. दुनिया के मुकाबले भारत में मृत्यु दर कम है.

सेवा और त्याग हमारे आदर्श:
देश ने दिखा दिया सेवा और त्याग हमारे आदर्श है. अर्थव्यवस्था खुलने के बाद ज्यादा सावधानी बरतनी होगी. पीएम मोदी ने कहा कि जब मैंने पिछली बार आपसे मन की बात की थी, तब यात्री ट्रेनें बंद थीं, बसें बंद थीं, हवाई सेवा बंद थी. इस बार, बहुत कुछ खुल चुका है. श्रमिक स्पेशल ट्रेन चल रही हैं, अन्य स्पेशल ट्रेनें भी शुरू हो गई हैं. तमाम सावधानियों के साथ, हवाई जहाज उड़ने लगे हैं, धीरे-धीरे उद्योग भी चलना शुरू हुआ है, यानी अर्थव्यवस्था का एक बड़ा हिस्सा अब चल पड़ा है, खुल गया है. ऐसे में, हमें और ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है.

कोरोना के बीच आया टिड्डी संकट बेहद गंभीर, नागौर में 160 हेक्टेयर में फसलों को हुआ नुकसान

रेडियो पर प्रधानमंत्री मोदी के मन की बात:
मन की बात में संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना संकट की सबसे बड़ी चोट गरीब मजदूर पर पड़ी है. रेलवे ने लाखों श्रमिकों को घर पहुंचाया है. लाखों श्रमिकों को सुरक्षित घर पहुंचाने का काम जारी है. ये आपदा भविष्य के लिए सीख लेने का अवसर है. देश में आत्मनिर्भर भारत पर मंथन जारी है. लोग अब लोकल उत्पादों को ही खरीद रहे हैं. लोगों ने आत्मनिर्भर भारत को अपना मिशन बनाया है. अंधेरे से रोशनी की ओर बढ़ना हमारा स्वभाव है. कोरोना से लड़ाई में योग और आयुर्वेद मददगार है. कोरोना संकट के वक्त में योग बहुत अहम है. कई प्राणायाम का असर हम लंबे समय से देख रहे हैं.

दूसरों की सेवा में लगे व्यक्ति के जीवन में तनाव नहीं:
मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई मजबूती से लड़ रहे हैं. दुनिया की तरफ देखे तो अपनी उपलब्धि बड़ी नजर आती है. दूसरों की सेवा में लगे व्यक्ति के जीवन में तनाव नहीं. मास्क पहनने में लोग जरा भी ढील नहीं बरतें. देशवासी कोरोना से लड़ाई में नए तरीके अपना रहे हैं. सतना में किसान ने ट्रैक्टर से जोड़कर सैनिटाइजेशन मशीन बनाई है. 

जल है तो कल है, बारिश का पानी बचाना है:
पीएम मोदी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना से 1 करोड़ लोगों को मुफ्त इलाज हुआ है. गरीबों के लिए आयुष्मान भारत योजना लाए है. आयुष्मान भारत योजना से गरीबों के पैसे बचाए गए. आयुष्मान भारत योजना के 80 प्रतिशत लाभार्थी ग्रामीण क्षेत्र के है. अम्पन तूफान की वजह से कई घर तबाह हो गए है. वहीं किसानों को भी नुकसान हुआ है. टिड्डी दल से भी किसानों को संकट का सामना करना पड़ा है. प्रशासन किसानों की मदद करने में जुटा हुआ है. लॉकडाउन में जीवन की रफ्तार जरूर धीमी हुई है. जल है तो कल है, बारिश का पानी बचाना है.

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कुल 8 हजार 693 केस, पिछले 12 घंटे में सामने आये 76 पॉजिटिव, एक मरीज की मौत

और पढ़ें