जम्मू जम्मू कश्मीर में नशीली दवाओं के खतरे को दूर करने में एनसीसी अहम भूमिका निभा सकता है: उपराज्यपाल

जम्मू कश्मीर में नशीली दवाओं के खतरे को दूर करने में एनसीसी अहम भूमिका निभा सकता है: उपराज्यपाल

जम्मू कश्मीर में नशीली दवाओं के खतरे को दूर करने में एनसीसी अहम भूमिका निभा सकता है: उपराज्यपाल

जम्मू: जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय कैडेट कोर (एनसीसी) जम्मू कश्मीर में नशीली दवाओं की समस्या को खत्म करने में अहम भूमिका निभा सकता है. नई दिल्ली में गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेने वाले जम्मू कश्मीर और लद्दाख के एनसीसी कैडेटों की टुकड़ियों के साथ बातचीत करते हुए सिन्हा ने खासकर कोविड-19 के कठिन समय के दौरान एनसीसी कैडेट की सेवाओं के लिए उनकी सराहना की.

सिन्हा ने कहा कि एनसीसी कैडेट राष्ट्र निर्माण में अटूट प्रतिबद्धता के साथ अनुशासन और नेतृत्व के प्रतीक हैं. सिन्हा ने कहा कि दुनिया में सबसे बड़े युवा संगठन के रूप में एनसीसी मादक द्रव्यों के सेवन से लड़ने की संस्कृति बना सकता है.

 

उन्होंने कहा कि हमारे प्रयास न केवल गांवों के युवाओं को सशस्त्र बलों में शामिल होने के लिए प्रेरित करेंगे, बल्कि उनमें बंधुत्व, अनुशासन, राष्ट्रीय एकता और निस्वार्थ सेवाओं के मूल्यों को भी जगाएंगे. सिन्हा ने कहा कि जम्मू कश्मीर में एनसीसी कैडेट ने उदाहरण के तौर पर कोविड-19 पर जागरूकता अभियान चलाने और टीकाकरण कार्यक्रम के दौरान सौंपे गए मिशन को प्रभावी ढंग से क्रियान्वित करने जैसी गतिविधियों का नेतृत्व किया. (भाषा)

और पढ़ें