VIDEO: राजधानी जयपुर में विदेशों की तरह विकसित होगा मानसरोवर का सिटी पार्क, यह होगा पार्क में खास

VIDEO: राजधानी जयपुर में विदेशों की तरह विकसित होगा मानसरोवर का सिटी पार्क, यह होगा पार्क में खास

जयपुर: UDH मंत्री शांति धारीवाल ने सोमवार को मानसरोवर के सिटी पार्क और फाउंटेन स्क्वायर प्रोजेक्ट का निरीक्षण किया. मंत्री ने खुली जिप्सी में बैठकर प्रमुख सचिव भास्कर सावंत और हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा के साथ पूरी जमीन का जायजा लिया. बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा ने मंत्री को पार्क की डिजाइन समेत पूरे प्रोजेक्ट के बारे में ब्रीफ़ किया.  

जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों से मुठभेड़ के दौरान एक आतंकी ढेर, दो जवान घायल 

सिटी पार्क सेंट्रल पार्क से भी बड़ा होगा: 
निरीक्षण बाद मीडिया से बात करते हुए मंत्री धारीवाल ने कहा कि क़रीब 52 एकड़ जमीन में बनने वाला सिटी पार्क सेंट्रल पार्क से भी बड़ा होगा. मंत्री ने कहा कि कोरोना और लॉक डाउन जैसे कठिन समय के बाद भी  हाउसिंग बोर्ड ने पार्क को लेकर पूरी कार्ययोजना बना ली थी. पार्क की साफ-सफाई और मिट्टी डालने के टेंडर भी बोर्ड ने सही समय पर कर लिए, इसका फायदा यह हुआ कि लॉक डाउन हटते ही पार्क में मलबा हटाने का काम बोर्ड ने तेज़ी से शुरू कर दिया. बोर्ड ने पार्क की जमीन पर बने दर्जन भर स्ट्रक्चरो को भी हटाया है. धारीवाल ने बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा और उनकी टीम की तारीफ करते हुए कहा कि बोर्ड ने जमीन की सफाई और मलबा हटाने जैसा काम 2 महीने की जगह 1 महीने में ही पूरा कर लिया है. बोर्ड ने इस जमीन से 12 लाख घनफुट मलबा और 18 लाख वर्गफीट इलाके में सफाई का काम किया है.

जमीन पार्क के लिए उपयुक्त भी दिखने लगी:
मंत्री ने कहा कि अब यह जमीन पार्क के लिए उपयुक्त भी दिखने लगी है. मंत्री धारीवाल ने कहा कि हाउसिंग बोर्ड की जबसे स्थापना हुई है तबसे पार्क के क्षेत्र में यह बोर्ड का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है. मुख्यमंत्री गहलोत ने जयपुर साउथ को अब तक की सबसे बड़ी सौगात दी है जो कि कोई मुख्यमंत्री या सरकार नहीं दे पाए थे. 

जॉगिंग और वॉकिंग के लिए पार्क में 2 ट्रैक बनाये जाएंगे:
हाउसिंग बोर्ड कमिश्नर पवन अरोड़ा ने बताया कि पार्क में जॉगिंग और वॉकिंग के लिए पार्क में 2 ट्रैक बनाये जाएंगे. इन ट्रैकों की लंबाई साढ़े 3 किलोमीटर की होगी वहीं चौड़ाई 20 फीट होगी. दोनों ट्रैकों को विभाजित करने के लिए हरित पट्टी विकसित की जाएगी जो कि फूलदार पौधों से बनाई जाएगी. अरोड़ा ने कहा कि सिटी पार्क और फाउंटेन स्क्वायर का निर्माण विश्वस्तरीय होगा. जिस तरह के पार्क और फाउन्टेन लोग विदेशों में देखते हैं वैसा ही नजारा जयपुर में देखने को मिलेगा. 

सीएम गहलोत से पार्क में वृक्षारोपण की शुरुआत कराई जाएगी:
धारीवाल ने कहा कि आने वाले दिनों में सीएम गहलोत से पार्क में वृक्षारोपण की शुरुआत कराई जाएगी. सीएम से कल्प वृक्ष और रुद्राक्ष के पेड़ लगाकर पार्क में इस अभियान की शुरुआत कराई जाएगी. मानसून में इस पार्क में बड़े स्तर पर वृक्षारोपण कराया जाएगा वृक्षारोपण में आमजन, स्वयंसेवी संस्था,सामाजिक संस्थाओं की भी जोड़ा जाएगा. रोटरी क्लब ऑफ इंडिया, इंडिया इंटरनेशनल कॉलेज, ब्रह्मकुमारी संस्था की ओर से बोर्ड को अपनी तरफ से पेड़ लगाने और उनकी देखभाल करने का प्रस्ताव मिल भी चुका है. 

यह होगा पार्क में खास-

- पार्क में थीम बेस्ड प्लांटेशन किया जाएगा. जिसमे अलग रंग के फूलों वाले पेड़ लगाए जाएंगे. 

- पार्क में मुख्य प्रवेश मध्यम मार्ग से होगा, यहां एक बड़ा एंट्रेंस प्लाजा बनाया जाएगा,,,पार्क में प्रवेश के लिए 3 गेट और होंगे जो न्यू सांगानेर रोड, अरावली रोड और वीटी रोड पर होंगे. 

- सभी गेटों के पास अलग अलग पार्किंग विकसित की जाएंगी. 

- पार्क के चारों तरफ़ फ़ूड कोर्ट और रेस्टोरेंट के लिए भी जगह रखी गई है. 

- पार्क में सेंट्रल पार्क जितनी ऊंचाई का राष्ट्रीय ध्वज भी लगाया जाएगा. 

- पार्क में कोरोना को देखते हुए सेंसर युक्त सेनेटाइजेशन स्टेशन भी बनाये जाएंगे. 

- पार्क में अलग अलग प्रजातियों के 21 हजार पौधे लगाए जाएंगे. 40 हजार झाड़ियां और फूलदार पौधे भी लगाए जाएंगे. 

- यहां वुडलैंड पार्क, वाटर बॉडीज, फार्म हाउस, पाम गार्डन, मेज गार्डन, लेब्रोलिक गार्डन, लोटस पांड, स्कल्पचर्स, बॉटनिकल गार्डन, चिल्ड्रन प्ले एरिया, आउटडोर जिम, ओपन जिम, फर्नीचर समेत कई सुविधाएं विकसित की जाएंगी. 

आमजन के मनोरंजन के लिए मध्यम मार्ग के दूसरी तरफ़ करीब 40 हजार वर्गमीटर जमीन पर फाउंटेन स्क्वायर बनाया जाएगा. यह जयपुर में अब तक का सबसे शानदार फाउंटेन स्क्वायर होगा जो सिटी पार्क की खूबसूरती में 4 चांद लगाएगा. यहां हर सप्ताह सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किये जाएंगे. इससे यह जगह सिर्फ मानसरोवर के लिए नहीं बल्कि पूरे जयपुर और पर्यटकों के लिए पिकनिक स्पॉट की तरह विकसित होगी. 

लॉक डाउन का हाउसिंग बोर्ड पर कोई असर नहीं हुआ: 
मंत्री धारीवाल ने निरीक्षण के बाद पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि लॉक डाउन का हाउसिंग बोर्ड पर कोई असर नहीं हुआ है. बोर्ड के सभी प्रोजेस्ट समय पर ही पूरे होंगे. बोर्ड की परफॉर्मेंस की तारीफ करते हुए धारीवाल ने कहा कि बोर्ड ने किश्तों में आवास योजना से 12 दिनों में 1213 मकान बेचकर अपना ही बनाया हुआ विश्व रिकॉर्ड तोड़ा है. आने वाले दिनों में भी  बोर्ड का यह अच्छा काम ऐसे ही जारी रहेगा. बोर्ड ने राजस्व प्राप्ति में भी अब तक के सभी रिकॉर्ड को तोड़ दिया है. 

10 हजार में 1 करोड़ के सोने की तस्करी ! दुबई से लेकर भारत तक जुड़े हैं तस्करों के तार 

राजधानी के सभी बड़े प्रोजेक्टस हाउसिंग बोर्ड के ही पास:
मौज़ूदा सरकार के कार्यकाल में राजधानी के सभी बड़े प्रोजेक्टस हाउसिंग बोर्ड के ही पास हैं. कोचिंग हब, चौपाटी, के बाद सिटी पार्क वह प्रोजेक्ट है जो आने वाले कई सालों तक मानसरोवर समेत आस पास के लोगों को अच्छी फीलिंग देता रहेगा. जैसी मॉनीटिरिंग इस प्रोजेक्ट की पवन अरोड़ा कर रहे हैं उससे यह भी तय है कि तय समय मे ही मानसरोवर को सबसे बड़े गिफ़्ट सिटी पार्क की सौगात मिल जाएगी. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए शिवेंद्र परमार की रिपोर्ट

और पढ़ें