कोरोना की वजह से भक्त नहीं कर पा रहे है भगवान के दर्शन, देशभर के कई धार्मिक स्थल बंद

कोरोना की वजह से भक्त नहीं कर पा रहे है भगवान के दर्शन, देशभर के कई धार्मिक स्थल बंद

कोरोना की वजह से भक्त नहीं कर पा रहे है भगवान के दर्शन, देशभर के कई धार्मिक स्थल बंद

नई दिल्ली: अब तो भक्त और भगवान के बीच भी कोरोना आ गया है. देश के कई राज्यों में अब धार्मिक स्थल भक्तों के लिए बंद रहेंगे. 27 धर्मस्थलों में से कई बंद कर दिए गए है. वहीं कईयों के कार्यक्रमों में बदलाव किया गया है. सुरक्षा की दृष्टि से यह फैसला लिया गया है. जिस तरह से कोरोना अपने पैर पसार रहा है. उसको देखते हुए प्रशासन ने भी धार्मिक स्थलों को बंद करने का फैसला लिया है. चलिए जानते है कोरोना की वजह से कौन-कौनसे मंदिर भक्तों के लिए बंद कर दिए गए है.

कोरोना वायरस का कहर, वैष्णो देवी की यात्रा रोकी, तो नहीं होगी बनारस में गंगा आरती 

27धर्मस्थलों में से कई बंद, कइयों के कार्यक्रमों में बदलाव
-171 साल में पहली बार वृंदावन में रंगनाथ यात्रा रोकी
-नासिक और औरंगाबाद में स्थित ज्योतिर्लिंगों के दर्शन बंद 
-वैष्णोदेवी श्राइन बोर्ड ने की खुद ही यात्रा टालने की अपील
-बोध गया के महाबोधि मंदिर में दर्शनार्थियों की स्क्रीनिंग
-उज्जैन महाकाल मंदिर दर्शन खुले, भस्म आरती पर रोक 
-तिरुपति बालाजी मंदिर में वेटिंग व्यवस्था की गई बंद
-खंडवा के पास ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शनों पर रोक 
-मदुरै स्थित मीनाक्षी मंदिर में की जा रही नियमित सफाई
-कर्नाटक का इस्कॉन मंदिर बंद,मुंबई का सिद्धि विनायक बंद 
-अमृतसर का गोल्डन टैम्पल खुला,लेकिन टैम्पल प्लाजा बंद
-हिमाचल के 6 प्रमुख मंदिर समेत शिंगणापुर शनिधाम बंद 
-हालांकि शिर्डी स्थित साईं मंदिर में होती रहेगी नियमित पूजा 

कोरोना वायरस के चलते हाईकोर्ट ने नगर निगम चुनाव को 6 सप्ताह के लिए किया स्थगित, चुनाव आयोग को दिए निर्देश

देश के 16 राज्य कोरोना की गिरफ्त में:
देश के 16 राज्य कोरोना वायरस की गिरफ्त में आ गए है. वहीं अगर बात करे महाराष्ट्र की तो यहां पर सबसे ज्यादा 41 मरीज हैं, इनमें 3 विदेशी भी शामिल हैं. इसके बाद केरल में 25 संक्रिमत लोग हैं. इनमें 2 मरीज विदेशी हैं. इन 2 राज्यों के अलावा उत्तर प्रदेश में 16, हरियाणा में भी 16 (14 विदेशी) कर्नाटक में 11, दिल्ली में 10, (एक विदेशी), लद्दाख में 8, तेलंगाना में 5 (दो विदेशी) राजस्थान में चार (दो विदेशी), जम्मू-कश्मीर तीन, ओडिशा, पंजाब, तमिलनाडु, उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश और बंगाल में एक-एक मरीज है.

और पढ़ें