चुनाव के दौरान उपजी हिंसा के बाद लाठी गांव में दसवें दिन भी बाजार बंद

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/12/17 09:59

पोकरण(जैसलमेर)। लाठी कस्बे में लगातार दसवें दिन भी बाजार नहीं खुले। खामोशी के साथ किए जा रहे इस विरोध को खत्म कराने में पुलिस और प्रशासन असफल साबित हो रहे हैं। गौरतलब है कि दसवें दिन पूर्व शुक्रवार को शाम करीब पौने पांच बजे मतदान केन्द्र राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय से कुछ ही दूरी पर दो गुटों में आपस में झड़प हो गई तथा पथराव में करीब आधा दर्जन लोग घायल हो गए। उपद्रव मचा रहे लोगों की ओर से तीन दुकानों व वाहनों में आग लगाने के बाद तोडफ़ोड़ कर वाहनों को उल्टा पटक दिया। जिससे गांव में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर हालात काबू में किए। उसके बाद से ही गांव के दो वर्गों में आज भी तनाव के हालात बने हुए है।

लाठी गांव में तनावपूर्ण माहौल के बाद शुक्रवार की शाम से ही गांव के बाजार बंद हो गए तथा हालात सामान्य होने के बावजूद ग्रामीणों व दुकानदारों में भय व दहशत का माहौल है। जिससे रविवार को दसवे दिन भी गांव के व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे। लाठी पोकरण क्षेत्र की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत है। इस ग्राम पंचायत के चार गांव धोलिया, भादरिया, लौहटन , रतन की बस्ती आते हैं। आस पास गांव के ग्रामीण,किसान रोजमर्रा के सामान व खाद बीज खरीदने के लिए लाठी आते हैं। यहां बाजार नहीं खुलने से लोगों को कई तरह की परेशानी आ रही है। 

शनिवार शाम जैसलमेर पुलिस अधीक्षक जगदीशचंद्र शर्मा के निर्देशानुसार ग्रामीणों व व्यापारियों को सुरक्षा, कानून एवं शांति व्यवस्था का भरोसा दिलाकर अपने प्रतिष्ठानों को खोलने के लिए बैठक आयोजित की। बैठक के दौरान पोकरण पुलिस उपाधीक्षक रामचंद्र चौधरी, थानाधिकारी देरावरसिंह भाटी, ओमप्रकाश विश्नोई सहित पुलिस अधिकारियों द्वारा उपस्थित व्यापारियों, ग्रामीणों को अपने-अपने प्रतिष्ठानों को खोलने की बात कही। तथा उन्हें सुरक्षा का भरोसा दिलाया। लेकिन ग्रामीणों व व्यापारियों ने जब तक सभी नामजद आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता तब तक अपने प्रतिष्ठानों को बंद रखने की बात कही। 

उपद्रव के नौवें दिन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जयनारायण मीणा, कैलाशदान रतनू, पुलिस उपाधीक्षक रामचंद्र चौधरी, थानाधिकारी देरावरसिंह सहित कई पुलिस निरीक्षक व उपनिरीक्षक मय पुलिस, आरएसी, आरएएफ के जवानों के साथ उपस्थित थे। दसवे दिन भी लाठी गांव पुलिस व सुरक्षा बलों की छावनी बना रहा।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in