close ads


भतीजे ने दी शहीद हेमराज जाट को मुखाग्नि, शहादत को सलाम करने उमड़ा जन सैलाब

भतीजे ने दी शहीद हेमराज जाट को मुखाग्नि, शहादत को सलाम करने उमड़ा जन सैलाब

अजमेर: जम्मू कश्मीर में पुंछ जिले में एलओसी पर गोलीबारी में शहीद हुए हेमराज जाट का आज उनके पैतृक गांव में पूरे सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. भदूण गांव में भतीजे चेतन ने शहीद हेमराज को मुखाग्नि दी है. इस दौरान हजारों की संख्या में लोग शहीद हेमराज को श्रद्धांजलि देने पहुंचे. अंतिम संस्कार से पहले हेमराज जाट को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया. इस दौरान आर्मी के कई अधिकारी मौके पर मौजूद रहे. 

हेमराज दो वर्ष पूर्व सेना में भर्ती हुए थे: 
हेमराज कश्मीर के पुंछ सेक्टर में रविवार रात पाकिस्तान से लोहा लेते हुए शहीद हो गए थे. हेमराज दो वर्ष पूर्व सेना में भर्ती हुए थे. वे 4 बटालियन में ग्रेनेडियर के तौर पर पुंछ में तैनात थे. हेमराज की शहादत की खबर मिलते ही गांव भदूण में सोमवार को शोक की लहर दौड़ गई. 

शहीद हेमराज अपने माता पिता की सबसे छोटी सन्तान: 
शहीद हेमराज भदूण में सामली ढाणी निवासी भोलूराम निठारवाल व माता दाखा देवी की सबसे छोटी सन्तान थे. उनसे बड़े भाई पूसाराम, रामेश्वर, गिरधारी, बंशी, गोपाल व बहन सोहनी देवी हैं. हेमराज वर्ष 2017 में सेना में भर्ती हुए थे. उनका अंतिम संस्कार भदूण स्कूल प्रांगण में किया गया. हेमराज की बहन की शादी हो चुकी है. वहीं हेमराज की अभी तक शादी नहीं हुई है. हीद हेमराज जाट का जन्म 5 जुलाई 1996 को हुआ था. जाट की प्रारंभिक पढ़ाई गांव में ही हुई थी. उसके बाद किशनगढ़ व अजमेर में आगे की पढ़ाई की. 


 

और पढ़ें