जयपुर VIDEO: SMS मेडिकल कॉलेज का कौन बनेगा मुखिया, चिकित्सा शिक्षा विभाग को प्राचार्य पद के लिए मिले 40 आवेदन, देखिए ये खास रिपोर्ट

VIDEO: SMS मेडिकल कॉलेज का कौन बनेगा मुखिया, चिकित्सा शिक्षा विभाग को प्राचार्य पद के लिए मिले 40 आवेदन, देखिए ये खास रिपोर्ट

जयपुर: राजस्थान के सबसे बड़े एसएमएस मेडिकल कॉलेज में नए "मुखिया" यानी प्रिसिंपल की तलाश एकबार फिर शुरू हो गई है.चिकित्सा शिक्षा विभाग को प्राचार्य पद के लिए एसएमएस समेत चार मेडिकल कॉलेजों से कुल 40 आवेदन मिले है, जिनमें से योग्यता के आधार पर तीन आवेदन रिजेक्ट किए गए है.विभागीय अधिकारियों की माने तो मुख्य सचिव की अध्यक्षता में 23 जून को इन आवेदकों का इंटरव्यू प्रस्तावित है, जिसमें योग्यता के आधार पर प्राचार्य पद के लिए नए चेहरे का चयन होगा. 

दरअसल, राज्य सरकार ने डॉक्टर्स की कमी का हवाला देते हुए कुछ साल पहले मेडिकल टीचर्स का सेवाकाल 62 से बढ़ाकर 65 किया है, लेकिन इसमें यह शर्त भी लगाई है कि 62 साल के बाद प्रशासनिक पदों पर मेडिकल टीचर्स को नहीं लगाया जाएगा.हालांकि, कोरोना के चलते मौजूदा प्राचार्य डॉ सुधीर भण्डारी को सरकार ने 62 साल की आयु पूरा होने के बावजूद दो बार एक्सटेंशन दिया. आरयूएचएस के वीसी बनाए जा चुके डॉ भण्डारी का प्राचार्य पद का कार्यकाल जुलाई में पूरा होगा, जिसके चलते नए प्राचार्य के चयन के लिए प्रक्रिया शुरू हो गई है.चिकित्सा शिक्षा विभाग की तरफ से मांगे गए आवेदन में कुल 40 चिकित्सकों ने दावेदारी पेश की है.अकेले SMS मेडिकल कॉलेज से सर्वाधिक दो दर्जन चिकित्सकों ने आवेदन किया है.इसके अलावा बीकानेर मेडिकल कॉलेज से आठ, अजमेर से तीन और उदयपुर मेडिकल कॉलेज के एक वरिष्ठ चिकित्सक ने प्राचार्य पद के लिए फार्म भरा है.

SMS प्राचार्य पद के लिए ये प्रमुख दावेदार:
- डॉ. एसएम शर्मा : कॉलेज के अतिरिक्त प्राचार्य का सर्वाधिक साढ़े 9 साल का अनुभव, कार्यवाहक के रूप में प्राचार्य के पद पर किया काम, मिलनसार व्यक्तित्व, चिकित्सक के रूप में जाना-पहचाना नाम, हालांकि, 62 साल पूरा होने में सिर्फ तीन माह का समय शेष, लेकिन पूर्व की भांति सरकार इस समयावधि में दे छूट तो मजबूत दावेदार
- डॉ. दीपक माथुर : कॉलेज के अतिरिक्त प्राचार्य का सात साल का अनुभव, प्रशासनिक दक्षता, लम्बा चिकित्सकीय अनुभव, मेडिकल टीचर्स में अच्छी छवि, 62 साल की आयु पूरा होने में एक साल बचा
- डॉ सुधीर मेहता : पद्मश्री डॉ एस आर मेहता के पुत्र, मेडिसिन विभाग में सीनियर प्रोफेसर के रूप में कार्यरत, हीमेटोलॉजी में बेहतरीन कार्य का अनुभव, राष्ट्रीय और अन्तरराष्ट्रीय स्तर के कई पुरस्कारों से सम्मानित, शांत-गंभीर और मिलनसार व्यक्तित्व, 62 साल की आयु पूरा होने में सात माह का समय शेष
- डॉ विनय मल्होत्रा : एसएमएस अस्पताल अधीक्षक पद का देख रहे काम, इसके अलावा सुपर स्पेशिलिटी के अधीक्षक पद का अनुभव, एसएमएस मेडिकल कॉलेज के अतिरिक्त प्राचार्य और अजमेर के जेएलएन अस्पताल में भी बतौर अधीक्षक कर चुके काम, नेफ्रोलॉजी के विभागाध्यक्ष के रूप में बेहतरीन प्रशासनिक अनुभव, 62 साल की आयु पूरा होने में सवा चार साल का समय शेष
- डॉ राजीव बगरहट्टा - कार्डियोलॉजी विभाग में एचओडी के पद की संभाले हुए जिम्मेदारी, शांत स्वभाव एवं लो प्रोफाइल चिकित्सकों की श्रेणी में शामिल, 62 साल की आयु पूरा होने में सवा दो साल का समय शेष
- डॉ शिवम प्रियदर्शी - यूरोलॉजी विभाग में बतौर एचओडी देख रहे जिम्मेदारी, पिछले दिनों उन्हें बनाया गया था अतिरिक्त प्राचार्य, लेकिन सिर्फ सात दिन बाद ही सरकार ने वापस ले लिए आदेश, 62 साल की आयु पूरा होने में करीब चार साल का समय शेष

SMS से इन्होंने भी पेश की दावेदारी:
डॉ राकेश कुमार जैन, डॉ लीनेश्वर हर्षवर्धन, डॉ प्रभा ओम, डॉ रामेश्वरम शर्मा, डॉ धीरज सक्सेना, डॉ प्रवीण माथुर, डॉ भावना शर्मा, डॉ गोर्वधन मीणा, डॉ बी पी मीणा, डॉ राजेन्द्र बागड़ी, डॉ चन्द्रभान मीणा, डॉ संजीव देवगौडा, डॉ अरविन्द कुमार शुक्ला, डॉ सुशील कुमार सिंह, डॉ सुधीर कुमार, डॉ सी एल नवल, डॉ लोकेन्द्र शर्मा, डॉ तरूण लाल, डॉ श्रीपहल राम मीणा,

एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्राचार्य पद के लिए इस बार प्रदेशभर के दूसरे मेडिकल कॉलेजों के चिकित्सकों ने भी दावेदारी पेश की है.अकेले बीकानेर मेडिकल कॉलेज की बात की जाए तो वहां के आठ चिकित्सकों ने प्राचार्य पद के लिए आवेदन किया है.इसके अलावा अजमेर मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य समेत तीन चिकित्सकों व उदयपुर के एक वरिष्ठ चिकित्सक ने भी दावेदारी की है.इस बार आए आवेदनों में कई तो ऐसे चिकित्सक भी शामिल है, जिसके 62 साल होने में 10 से 12 साल का समय शेष है.इसके पीछे का कारण राजनीतिक पहुंच को माना जा रहा है.

3 मेडिकल कॉलेजों से एक दर्जन आवेदन:
-बीकानेर मेडिकल कॉलेज : डॉ गुंजन सोनी, डॉ मोहम्मद सलीम, डॉ सुदेश अग्रवाल,डॉ बाल किशन गुप्ता, डॉ सुरेन्द्र कुमार, डॉ परमेन्द्र सिरोही, डॉ मुकेश चन्द्र आर्य, डॉ कुसुम लता मीणा

-अजमेर मेडिकल कॉलेज : प्राचार्य डॉ वीर बहादुर सिंह के अलावा डॉ रोहित अजमेरा, डॉ संजीव कुमार नैनीवाल ने किया आवेदन

-उदयपुर मेडिकल कॉलेज : डॉ रामेश्वर लाल सुमन ने पेश की एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्राचार्य पद पर दावेदारी

मुख्य सचिव उषा शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित साक्षात्कार में आरयूएचएस के वीसी डा सुधीर भण्डारी, प्रमुख चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया व प्रमुख कार्मिक सचिव हेमन्त गेरा भी शामिल होंगे.इंटरव्यू की तिथि तय होने के साथ ही आवेदकों ने अपने अपने स्तर पर लॉबिंग भी शुरू कर दी है.चिकित्सकीय अनुभव,ब्यूरोक्रेसी-राजनैतिक संबंध,जातिगत गणित के आधार पर वरिष्ठ चिकित्सक दावेदारी कर रहे है.ऐसे में अब देखना दिलचस्प होगा कि प्रिसिंपल पद नियुक्ति में डॉक्टरों की काबिलियत काम आती है या फिर राजनीति पहुंच.

और पढ़ें