चिकित्सा मंत्री ने 4 मोबाइल फूड सेफ्टी वैन को दिखाई हरी झण्डी, खाद्य पदार्थों में मिलावट को रोकने के लिए सरकार गंभीर

चिकित्सा मंत्री ने 4 मोबाइल फूड सेफ्टी वैन को दिखाई हरी झण्डी, खाद्य पदार्थों में मिलावट को रोकने के लिए सरकार गंभीर

चिकित्सा मंत्री ने 4 मोबाइल फूड सेफ्टी वैन को दिखाई हरी झण्डी, खाद्य पदार्थों में मिलावट को रोकने के लिए सरकार गंभीर

जयपुर: चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने आज स्वास्थ्य भवन से 4 मोबाइल फूड सेफ्टी लैब वैन को हरी झंड़ी दिखाकर रवाना किया. ये वैन जोधपुर, भरतपुर, बीकानेर और उदयपुर संभाग में भेजी गई हैं. डॉ. शर्मा ने बताया कि प्रदेश में खाद्य पदार्थों में मिलावट को रोकने और आमजन को शुद्ध उत्पाद उपलब्ध कराने के लिए सभी संभागों के लिए लैब युक्त वैन संचालित करने की योजना बनाई है. जयपुर में पहले से ही फूड सेफ्टी मोबाइल वैन का संचालन हो रहा था. अब जोधपुर, भरतपुर, बीकानेर और उदयपुर संभागों में भी लैब का संचालन हो सकेगा. 

राजस्थान के बॉर्डर सील करने को लेकर 'कन्फ्यूजन' ! कुछ देर में ही पुलिस मुख्यालय से जारी हुआ संशोधित आदेश 

मोबाइल वैनों में हो सकेंगी 36 तरह की अलग-अलग जांचें: 
उन्होंने बताया कि शीघ्र ही अजमेर और कोटा संभाग के लिए भी उपलब्ध कराई जाएगी. जन स्वास्थ्य निदेशक डॉ. के.के. शर्मा ने बताया कि इन मोबाइल वैनों में 36 तरह की अलग-अलग तरह की जांचें करवाई जा सकती है. उन्होंने बताया कि कोई भी उपभोक्ता, उत्पादक किसी भी तरह की मिलावट होने पर क्षेत्र के सीएमएचओ के जरिए न्यूनतम शुल्क पर जांच करवा सकता है. इन पदार्थों की जांच रिपोर्ट ऑन स्पाट 25 से 30 मिनट में उपलब्ध हो सकेगी. उन्होंने बताया कि जांचें सर्विलांस के अधीन होती हैं और उनके अनसेफ, मिसब्रांड और सब स्टैडर्ड होने पर एक्ट के अनुसार कार्यवाही की जा सकती है. इस अवसर पर निदेशक आरसीएच डॉ. आर.एस.छीपी, परियोजना निदेशक एड्स डॉ. आर.पी. डोरिया एवं अतिरिक्त निदेशक डॉ लक्ष्मण ओला भी उपस्थित रहे. 

रिश्ते हुए शर्मसार: नहाते समय वीडियो बनाकर 6 साल तक किया चचेरी बहन से दुष्कर्म, तीन बार कराया गर्भपात, केस दर्ज

और पढ़ें