जयपुर SMS समेत प्रदेशभर के बड़े अस्पतालों में चरमरा सकती चिकित्सा सेवाएं! ठेका कर्मियों का आज से सामूहिक अवकाश का ऐलान

SMS समेत प्रदेशभर के बड़े अस्पतालों में चरमरा सकती चिकित्सा सेवाएं! ठेका कर्मियों का आज से सामूहिक अवकाश का ऐलान

SMS समेत प्रदेशभर के बड़े अस्पतालों में चरमरा सकती चिकित्सा सेवाएं! ठेका कर्मियों का आज से सामूहिक अवकाश का ऐलान

जयपुर: एसएमएस अस्पताल समेत प्रदेशभर के बड़े अस्पतालों में चिकित्सा सेवाएं चरमरा सकती है. सभी अस्पतालों के ठेका कर्मियों ने आज से सामूहिक अवकाश का ऐलान किया है. चिकित्सा विभाग वार्षिक निविदा कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति ने इसका ऐलान किया है. सुबह 9 बजे से एसएमएस पोर्ट पर एकत्र होकर ठेकाकर्मी प्रदर्शन कर रहे हैं. 

प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से ठेका कर्मियों की नियुक्ति का विरोध: 
ठेकाकर्मी मेडिकल कॉलेजों में प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से ठेका कर्मियों की नियुक्ति करने का विरोध कर रहे हैं. इसके साथ ही ठेका प्रथा समाप्त करने, वेतन बढ़ोतरी समेत विभिन्न मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं. ऐसे में आज प्रदेश के सबसे बड़े एसएमएस अस्पताल कई अस्पतालों में कंप्यूटर ऑपरेटर, लैब टेक्नीशियन, नर्सिंग और सफाई समेत विभिन्न काम प्रभावित हो सकते हैं. 

अकेले एसएमएस अस्पताल की बात की जाए तो यहां ओपीडी से लेकर आईपीडी में हडताल के चलते मरीज और उनके तीमारदारों को खासा परेशान होना पड़ा. कई वार्डों में सफाई व्यवस्था प्रभावित हुई तो कई काउंटरों पर बिलिंग के लिए मरीजों को लम्बा इंतजार करना पड़ा.

उधर, संपूर्ण कार्य बहिष्कार करते हुए ठेकाकर्मी जयपुर के एसएमएस हॉस्पिटल में जमा हुए और जमकर नारेबाजी की. हड़ताल को लेकर ठेकाकर्मियों का कहना है कि अपनी मांगों को लेकर लंबे समय से अस्पताल प्रशासन और मेडिकल कॉलेज प्रशासन को अवगत करा रहे हैं, लेकिन बावजूद इसके उनकी मांगें नहीं मानी जा रही. ऐसे में आज से संपूर्ण कार्य बहिष्कार जैसा बड़ा कदम उठाया गया है.

ठेकाकर्मियों का कहना है कि लंबे समय से ये सभी ठेके पर काम करते है लेकिन ये प्रथा खत्म होनी चाहिए. पिछले काफी सालों से ठेकाकर्मी के भुगतान संबंधी और नियमन की मांगें उठाई जा रही है. लेकिन इनकी मांगें नहीं मानी गई है. 

और पढ़ें