Live News »

महबूबा मुफ्ती का विवादित बयान, कहा-2020 तक जम्मू-कश्मीर को अलग करेंगे

महबूबा मुफ्ती का विवादित बयान, कहा-2020 तक जम्मू-कश्मीर को अलग करेंगे

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को कश्मीर पर विवादित बयान दिया है। महबूबा ने कश्मीर को भारत से अलग करने की बात कहते हुए कहा कि 2020 तक जम्मू-कश्मीर को अलग करेंगे। महबूबा का यह बयान अमित शाह के  370 और 35A पर डेडलाइन के जवाब में आया है।

महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि अगर केंद्र सरकार संविधान के अनुच्छेद 370 को खत्म करती है तो जम्मू-कश्मीर और भारत के बीच का रिश्ता भी खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 एक पुल की तरह है और अगर आप उसी पुल को तोड़ेंगे तो फिर जो महबूबा मुफ्ती जम्मू कश्मीर और हिंदुस्तान के संविधान की कसम खाती है और आवाज उठाती है तो वह फिर आवाज कैसे उठाएगी। 

उन्होंने कहा कि अगर अमित शाह 35A, 370 पर डेडलाइन दे रहे हैं, तो उनकी पार्टी भी एक डेडलाइन देती है। हम जम्मू-कश्मीर की विलय संधि खत्म करने की डेडलाइन देते हैं। महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग से अपना नामांकन दाखिल किया। 

और पढ़ें

Most Related Stories

Rajasthan: राज्यसभा चुनाव के दौरान विधायक खरीद फरोख्त प्रकरण में SOG ने दर्ज किया मुकदमा

Rajasthan: राज्यसभा चुनाव के दौरान विधायक खरीद फरोख्त प्रकरण में SOG ने दर्ज किया मुकदमा

जयपुर: राज्यसभा चुनाव के बीस दिन बाद राजस्थान में विधायकों की खरीद-फरोख्त का मामला फिर गरमा रहा है. आज SOG ने मुकदमा दर्ज किया है. राज्यसभा चुनाव से पहले मुख्य सचेतक महेश जोशी ने परिवाद दिया था. परिवाद की जांच में कुछ मोबाइल नंबर सामने आए थे. उन्हीं मोबाइल नंबरों की जांच के बाद SOG ने परिवाद को सही माना है. अब खुद SOG की ओर से ही मुकदमा दर्ज किया गया है. अब SOG के वरिष्ठ अधिकारी मामले की जांच करेंगे. 

राज्यसभा चुनाव के बाद परवान चढ़ती आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स, अब मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप 

बीजेपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी: 
गौरतलब है कि महेश जोशी ने राज्यसभा चुनाव के दौरान पुलिस महानिदेशक, एसीबी से एक आधिकारिक शिकायत की थी और उन बीजेपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी, जो धनबल के जरिए निर्दलीय विधायकों को लुभाने की कोशिश कर रहे थे. 

राजस्थान में सरकार को अस्थिर करने की कोशिश:
महेश जोशी ने डीजी कि एसीबी को संबोधित अपने पत्र में कहा था, 'हमें अपने विश्वस्त सूत्रों से पता चला है कि मध्यप्रदेश, गुजरात, कर्नाटक की तर्ज पर बीजेपी, कांग्रेस के विधायकों के साथ ही हमारी सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायकों को लालच देकर राजस्थान में सरकार को अस्थिर करने की कोशिश कर रही है.

सीएम गहलोत के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप: 
वहीं इससे पहले आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ भाजपा विधायक अशोक लाहोटी, सुभाष पूनिया, रामलाल शर्मा और निर्मल कुमावत ने विशेषाधिकार हनन का आरोप लगाया है. विधायकों ने इसको लेकर विधानसभा सचिव को पत्र सौंपा है. इस पर नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया के भी हस्ताक्षर है. आरोप में मुख्यमंत्री के 35 करोड़ वाले बयान को कोट किया गया है. इस बारे में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष कटारिया के कक्ष में एक बड़ी बैठक भी हुई है. 

सतीश पूनिया पर भी विशेषाधिकार हनन आरोप:
निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने भी बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया पर विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव पेश किया. लोढ़ा ने शिकायत में कहा है कि, सतीश पूनिया ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस की बाड़ेबंदी के दौरान 23 विधायकों को वोट के बदले खान, रिको प्लॉट देने और कैश ट्रांजैक्शन से लाभान्वित किया गया है. 

विधायक अनिता भदेल कोरोना पॉजिटिव, 2 दिन पहले आयीं थीं भाजपा प्रदेश कार्यालय 

21 जून को विधानसभा में दी थी शिकायत:
दरअसल, कांग्रेस सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय संयम लोढ़ा ने पूनिया के खिलाफ विशेषाधिकार हनन की शिकायत 21 जून को विधानसभा में दी थी. विधानसभा सचिवालय ने अध्यक्ष के समक्ष फाइल पुटअप किया था. ऐसे में अब दोनों ही मामलों में विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को फैसला करना है. 

जयपुर ACB की उदयपुर में बड़ी कार्रवाई, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट का फाइनेंशियल एडवाइजर 2 लाख की रिश्वत लेते ट्रैप

जयपुर ACB की उदयपुर में बड़ी कार्रवाई, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट का फाइनेंशियल एडवाइजर 2 लाख की रिश्वत लेते ट्रैप

उदयपुर: जयपुर एसीबी की टीम नें आज एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए उदयपुर स्मार्ट सिटी कंपनी लिमिटेड में कार्यरत वित्तीय सलाहकार आबिद खान और उनके एक दलाल को 2 लाख रुपये की रिश्वत राशि लेते रंगे हाथों ट्रेप कर लिया. दरअसल, एसीबी के एडीजी दिनेश एम. एन को उदयपुर के रहने वाले परिवादी प्रवीण नें शिकायत दी थी कि स्मार्ट सिटी कंपनी लिमिटेड उदयपुर का वित्तीय सलाहकार आबिद खान स्मार्ट सिटी कार्यों के बिलों को पास करने की एवज में 3 लाख रुपयें की रिश्वत मांग रहा हैं. 

विधायक अनिता भदेल कोरोना पॉजिटिव, 2 दिन पहले आयीं थीं भाजपा प्रदेश कार्यालय 

आरोपी ने कल 1 लाख रुपये की राशी ग्रहण कर ली थी: 
एसीबी की टीम द्धारा शिकायत के सत्यापन के दौरान आरोपी आबिद खान नें परिवादी से कल 1 लाख रुपये की राशी ग्रहण कर ली थी. जिसके बाद आज रिश्वत की शेष 2 लाख रुपये की राशि लेते आरोपी आबिद खान को एसीबी की टीम नें घर दबोचा. एसीबी की टीम फिलहाल आरोपी आबिद खान औऱ उसके दलाल से कड़ी पूछताछ कर रही हैं. यही नहीं ब्यूरो की टीम इस पूरे घटनाक्रम में शामिल अन्य लोगों से भी पड़ताल करेगी. 

राज्यसभा चुनाव के बाद परवान चढ़ती आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स, अब मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप 

खेत में फव्वारा लाइन बदलते समय करंट लगने से मां-बेटे की मौत

खेत में फव्वारा लाइन बदलते समय करंट लगने से मां-बेटे की मौत

चूरू: जिले के बूटिया गांव में आज मां-बेटे की खेत में पानी के फव्वारे बदलते समय करंट लगने से मौत हो गई. बताया जा रहा है कि बूटिया गांव का एक किसान परिवार अपने खेत में सिंचाई कर रहा था उसी दौरान जब पानी के फव्वारे की लाइन बदल रहे मां बेटे को करंट लगा और दोनों की मौत हो गई. 

राज्यसभा चुनाव के बाद परवान चढ़ती आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स, अब मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप 

ट्रांसफार्मर के अर्थिंग से जमीन में आया करंट: 
खेत में लगे हुए ट्रांसफार्मर के अर्थिंग से जमीन में करंट आना प्रथम दृष्टया कारण माना जा रहा है जिससे फव्वारे की लाइन में भी करंट आया और लाइन बदलते समय यह हादसा हुआ है. सूचना मिलते ही सदर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों के शव राजकीय डीबी अस्पताल की मोर्चरी में रखवाये, बाद में शवों का पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों के सुपुर्द कर दिए हैं अब सदर थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है.

जयपुर: मुख्यमंत्री निवास को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस कंट्रोल रूम में आया फोन 

जमीन विवाद में रिश्तों का खून, पुत्रों के साथ मिलकर चाचा ने की भतीजे की हत्या

जमीन विवाद में रिश्तों का खून, पुत्रों के साथ मिलकर चाचा ने की भतीजे की हत्या

चित्तौड़गढ़: जिले के कपासन थाना क्षेत्र के गांव उमण्ड में आज सुबह जमीन विवाद में रिश्तों का ही खून हो गया. एक ही परिवार में जमीन विवाद को लेकर खूनी संघर्ष हुआ और भूखंड के आपसी विवाद में हथियार और पत्थरों से एक दूसरे पर हमला बोल दिया. इस खूनी संघर्ष में चाचा ने अपने पुत्रों के साथ मिलकर अपने ही भतीजे की हत्या कर दी. गंभीर रूप से घायल हुए शंकरलाल धोबी की मौके पर ही दम तोड़ दिया.

राज्यसभा चुनाव के बाद परवान चढ़ती आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स, अब मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप 

पुलिस ने हत्या के सभी आरोपियों को हिरासत में ले लिया: 
घटना की सूचना मिलते ही कपासन डिप्टी एसपी दलपतसिंह भाटी, तहसीलदार शंकरलाल गुर्जर और कपासन थानाधिकारी हिमाशुं सिंह मौके पर पहुंचे. उसके बाद शव को कब्जे में लेकर कपासन अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है. इधर पुलिस ने हत्या के सभी आरोपियों को हिरासत में ले लिया है, बताया जा रहा कि गांव उमण्ड में एक ही परिवार के सरकारी जमीन पर वर्षों पुराने कब्जे थे और उन्ही कब्जों पर आज एक परिवार के लोग काम शुरू कर रहे थे इसी को लेकर दोनों में झगड़ा हो गया, पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. 

जयपुर: मुख्यमंत्री निवास को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस कंट्रोल रूम में आया फोन 

राज्यसभा चुनाव के बाद परवान चढ़ती आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स, अब मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप

राज्यसभा चुनाव के बाद परवान चढ़ती आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स, अब मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का आरोप

जयपुर: राजस्थान में राज्यसभा चुनाव के बाद भी आरोप-प्रत्यारोप की पॉलिटिक्स परवान चढ़ती नजर आ रही है. अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ भाजपा विधायक अशोक लाहोटी, सुभाष पूनिया, रामलाल शर्मा और निर्मल कुमावत ने विशेषाधिकार हनन का आरोप लगाया है. विधायकों ने इसको लेकर विधानसभा सचिव को पत्र सौंपा है. इस पर नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया के भी हस्ताक्षर है. 

जयपुर: मुख्यमंत्री निवास को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस कंट्रोल रूम में आया फोन 

मुख्यमंत्री के 35 करोड़ वाले बयान को किया गया कोट: 
ऐसे में अब आखिर विशेषाधिकार हनन बनता है या नहीं इस पर विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को फैसला करना है. आरोप में मुख्यमंत्री के 35 करोड़ वाले बयान को कोट किया गया है. इस बारे में विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष कटारिया के कक्ष में एक बड़ी बैठक भी हुई है. 

संयम लोढ़ा ने सतीश पूनिया पर लगाया था विशेषाधिकार हनन का आरोप:
वहीं इससे पहले निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने भी बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया पर विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव पेश किया. लोढ़ा ने शिकायत में कहा है कि, सतीश पूनिया ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस की बाड़ेबंदी के दौरान 23 विधायकों को वोट के बदले खान, रिको प्लॉट देने और कैश ट्रांजैक्शन से लाभान्वित किया गया है.

21 जून को विधानसभा में दी थी शिकायत:
दरअसल, कांग्रेस सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय संयम लोढ़ा ने पूनिया के खिलाफ विशेषाधिकार हनन की शिकायत 21 जून को विधानसभा में दी थी. विधानसभा सचिवालय ने अध्यक्ष के समक्ष फाइल पुटअप किया था. ऐसे में अब दोनों ही मामलों में विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को फैसला करना है. 

क्या है विशेषाधिकार हनन?
देश में विधानसभा, विधानपरिषद और संसद के सदस्यों के पास कुछ विशेष अधिकार होते हैं, ताकि वे प्रभावी ढंग से अपने कर्तव्यों को पूरा कर सके. जब सदन में इन विशेषाधिकारों का हनन होता है या इन अधिकारों के खिलाफ कोई कार्य किया जाता है, तो उसे विशेषाधिकार हनन कहते हैं. इसकी स्पीकर को की गई लिखित शिकायत को विशेषाधिकार हनन नोटिस कहते हैं.

कांग्रेस का 'मिशन पंचायत '! अदालती आदेशों के बाद पायलट कैंप सक्रिय

कैसे लाया जा सकता है विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव?
नोटिस के आधार पर स्पीकर की मंजूरी से सदन में विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाया जा सकता है. विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव संसद के किसी सदस्य द्वारा पेश किया जाता है, जब उसे लगता है कि सदन में झूठे तथ्य पेश करके सदन के विशेषाधिकार का उल्लंघन किया गया है या किया जा रहा है.

...फर्स्ट इंडिया के लिए सुनिल शर्मा रिपोर्ट

कोरोना संक्रमण के चलते आज दूसरे दिन भी जोधपुर हाईकोर्ट में निलंबित रहे न्यायिक कार्य

कोरोना संक्रमण के चलते आज दूसरे दिन भी जोधपुर हाईकोर्ट में निलंबित रहे न्यायिक कार्य

जोधपुर: शहर में कोरोना का संक्रमण लगातार जारी है. कोरोना संक्रमण के चलते आज दूसरे दिन भी राजस्थान हाई कोर्ट मुख्य पीठ में न्यायिक कार्य निलंबित रहे. गुरुवार को राजस्थान हाई कोर्ट मुख्य पीठ के न्यायाधीश का निजी सचिव कोरोना पॉजिटिव पाया गया था, जिसके बाद आनन-फानन में हाईकोर्ट परिसर को खाली कराया गया और गुरुवार को न्यायिक कार्य स्थगित कर दिया गया. कल ही राजस्थान हाई कोर्ट के पूरे भवन में दमकल के माध्यम से सोडियम हाइपोक्लोराइट का छिड़काव कर सैनिटाइज किया गया.

जयपुर: मुख्यमंत्री निवास को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस कंट्रोल रूम में आया फोन 

शुक्रवार को भी न्यायिक कार्य स्थगित करने का निर्णय लिया गया: 
कोरोना के संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए शुक्रवार को भी न्यायिक कार्य स्थगित करने का निर्णय लिया गया. मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत महंती के निर्देश पर रजिस्ट्रार जनरल ने न्यायिक कार्यों के निलंबन के आदेश जारी किए हैं. गुरुवार को हाई कोर्ट के न्यायाधीश के निजी सचिव के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद चिकित्सा विभाग की ओर से भी कई न्यायिक अधिकारियों व कर्मचारियों की सैंपलिंग ली गई है, जिसकी रिपोर्ट आज शाम तक आने की उम्मीद है. 

Coronavirus Updates: पहली बार आए 26 हजार से ज्यादा नए मामले, देश में अब 7.93 लाख केस 

जयपुर: मुख्यमंत्री निवास को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस कंट्रोल रूम में आया फोन

जयपुर: मुख्यमंत्री निवास को बम से उड़ाने की धमकी, पुलिस कंट्रोल रूम में आया फोन

जयपुर: राजधानी जयपुर से इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है. मुख्यमंत्री निवास को बम से उड़ाने की धमकी मिली है. यह धमकी राजस्थान पुलिस के कंट्रोल रूम में मिली है. इसके बाद एहतियात के तौर पर सीएम आवास के आस-पास की सुरक्षा बढ़ा  दी गई है. जैसे ही अधिकारियों को इस धमकी की जानकारी हुई हड़कंप मच गया. 

Coronavirus Updates: पहली बार आए 26 हजार से ज्यादा नए मामले, देश में अब 7.93 लाख केस 

जमवारामगढ़ के पापड़ गांव से आरोपी को किया गिरफ्तार: 
वहीं फोन आने के बाद तुरंत एक्शन में आई पुलिस ने जमवारामगढ़ के पापड़ गांव से आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. कानोता थाना पुलिस ने पापड़ गांव में दबिश देकर आरोपी को पकड़ा है. अब आरोपी को विधायकपुरी थाना पुलिस के हवाले किया गया है. जानकारी के अनुसार युवक का नाम लोकेश बताया जा रहा है. हालांकि अभी तक युवक द्वारा धमकी देने के कारणों का खुलासा नहीं हुआ है. 

अखिलेश, प्रियंका, दिग्विजय और सुरजेवाला ने उठाए विकास दुबे के एनकाउंटर पर सवाल, जमकर साधा निशाना 

सीएम आवास के आस-पास पुलिस की सतर्कता:
पुलिस इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रही है युवक का फोन करने के पिछे क्या मकसद था? फोन कॉल की सच्चाई पता चलने तक सीएम आवास के आस-पास पुलिस की सतर्कता बढ़ गई है. मुख्यमंत्री आवास के साथ अगल-बगल के वीआईपी इलाके में भी नजर रखी जा रही है. 


 

Coronavirus Updates: पहली बार आए 26 हजार से ज्यादा नए मामले, देश में अब 7.93 लाख केस

Coronavirus Updates: पहली बार आए 26 हजार से ज्यादा नए मामले, देश में अब 7.93 लाख केस

नई दिल्ली: देश में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, ​पिछले 24 घंटों में कोरोना के 26,506 नए मामले सामने आए हैं, जब​कि 475 मरीजों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. ऐसे में अब देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 7,93,802 हो गई है. जिनमें से 2,76,685 सक्रिय मामले हैं, 4,95,513 लोग ठीक हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और अब तक 21,604 लोगों की मौत हो चुकी है. 

 अखिलेश, प्रियंका, दिग्विजय और सुरजेवाला ने उठाए विकास दुबे के एनकाउंटर पर सवाल, जमकर साधा निशाना 

देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में:  
देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं. इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर दिल्ली, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है. इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं. 

भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश: 
कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश है. अमेरिका, ब्राजील के बाद कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित भारत है. लेकिन अगर प्रति 10 लाख आबादी पर संक्रमित मामलों और मृत्युदर की बात करें तो अन्य देशों की तुलना में भारत की स्थिति बहुत बेहतर है. 

कांग्रेस का 'मिशन पंचायत '! अदालती आदेशों के बाद पायलट कैंप सक्रिय 

दुनियाभर में मरने वालों की संख्या पांच लाख 57 हजार से ज्यादा: 
दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना के कहर से लगातार जूझ रही है. वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, इस वायरस से मरने वालों की संख्या पांच लाख 57 हजार से ज्यादा हो गई है और संक्रमितों का आंकड़ा एक करोड़ 23 लाख 89 हजार को पार कर गया है. जबकि 71 लाख 87 हजार से ज्यादा लोगों ने कोरोना को मात दी है. 


 

Open Covid-19