वो अटल हस्तियां जिन्होंने 2018 में दुनिया से विदा ली...

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/12/30 04:15

नई दिल्ली। इस साल हमने अपने-अपने क्षेत्रों की दिग्गज हस्तियों को खो दिया। इनमें भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी ,गीतकार कवि नीरज और तमिलनाडु के दिग्गज नेता करुणानिधि जैसी शख्सियतें शामिल रहीं। 

1. अटल बिहारी वाजपेयी अब तक नौ बार लोकसभा के लिए चुने गए। 1962 से 1967 और 1986 में वो राज्यसभा के सदस्य भी रहे। 16 मई 1996 को वो पहली बार प्रधानमंत्री बने, लेकिन लोकसभा में बहुमत साबित न कर पाने की वजह से 31 मई 1996 को उन्हें त्यागपत्र देना पड़ा। इसके बाद 1998 तक वो लोकसभा में विपक्ष के नेता रहे।  पूर्व दिवंगत प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व में पोकरण दो का सफल परीक्षण हुआ, जिसके बाद देश परमाणु शक्ति से लैस हो गया। 2015 में सरकार ने इन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया था 2014 में पीएम मोदी नरेंद्र मोदी ने 25 दिसंबर को इनके जन्मदिन को गुड गवर्नेंस डे के रूप में मनाने की घोषणा की थी। इनका लंबी बिमारी के चलते 94 साल की उम्र में 16 अगस्त को निधन हो गया। इनके सम्मान में तिरंगा आधा झुका रखा। 

2. करुणानिधि को प्यार से कलाइग्नर या कलाकार कहा जाता था। वह 5 बार तमिलनाडु के सीएम रहे। इनके नाम लगातार 11 बार विधायक बने रहने का रिकॉर्ड है। तमिलनाडु को सामाजिक और आर्थिक रूप से तरक़्क़ीपसंद राज्य बनाने में उनका बड़ा योगदान रहा।  भारतीय राजनीति में करुणानिधि का योगदान अतुलनीय है। वो देश के सबसे सीनियर राजनेताओं में से एक थे।करुणानिधि पांच बार राज्य के मुख्यमंत्री रहे और क़रीब 60 साल तक विधायक रहे। करुणानिधि निजी तौर पर कोई चुनाव नहीं हारे। उनका जन्म आज के तमिलनाडु के नागापट्टिनम ज़िले एक निम्नवर्गीय परिवार में 3 जून 1924 को हुआ था।

3. दूसरी और स्टीफन हॉकिंग का 76 साल की उम्र में निधन हो गया। वे आइंस्टीन के बाद दूसरे बड़े भौतिक विज्ञानी हैं।दुनिया भर में मशहूर भौतिक विज्ञानी और कॉस्मोलॉजिस्ट हॉकिंग को ब्लैक होल्स पर उनके काम के लिए जाना जाता है। 8 जनवरी, 1942 को इंग्लैंड को ऑक्सफर्ड में सेंकड वर्ल्ड वॉर के समय स्टीफन हॉकिंग का जन्म हुआ था। 1988 में उन्हें सबसे ज्यादा चर्चा मिली थी, जब उनकी पहली पुस्तक 'ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम: फ्रॉम द बिग बैंग टु ब्लैक होल्स' मार्केट में आई। 

इसके बाद कॉस्मोलॉजी पर आई उनकी पुस्तक की 1 करोड़ से ज्यादा प्रतियां बिकी थीं। इसे दुनिया भर में साइंस से जुड़ी सबसे ज्यादा बिकने वाली पुस्तक माना जाता है।  1963 में स्टीफन हॉकिंग जब सिर्फ 21 साल के थे, तब उन्हें Amyotrophic Lateral Sclerosis (ALS) नाम की बीमारी हो गई। इसके चलते उनके अधिकतर अंगों ने धीरे-धीरे काम करना बंद कर दिया था। इस बीमारी से पीड़ित लोग आमतौर पर 2 से 5 साल तक ही जिंदा रह पाते हैं, लेकिन वह दशकों जिए। 2014 में स्टीफन हॉकिंग की प्रेरक जिंदगी पर आधारित फिल्म 'द थिअरी ऑफ एवरीथिंग' रिलीज हुई थी। 

4.  पद्मभूषण से सम्मानित हिंदी के साहित्यकार, कवि, लेखक और गीतकार गोपालदास सक्सेना 'नीरज' का 19 जुलाई 2018 को निधन हो गया।  उनकी कलम से निकले गीतों के लिए उन्हें तीन बार फ़िल्म फेयर पुरस्कार भी मिला। 

'कारवाँ गुजर गया गुबार देखते रहे', 'जीवन की बगिया महकेगी', 'काल का पहिया घूमे रे भइया!', 'बस यही अपराध मैं हर बार करता हूँ, आदमी हूं- आदमी से प्यार करता हूं', 'ए भाई! ज़रा देख के चलो', 'शोखियों में घोला जाए फूलों का शबाब', 'लिखे जो खत तुझे', 'दिल आज शायर है', 'खिलते हैं गुल यहां', 'फूलों के रंग से', 'रंगीला रे! तेरे रंग में' जैसे गीतों को लिखकर वो सदा के लिए अमर हो गए। नीरज का जन्म 4 जनवरी 1925 को उत्तर प्रदेश के इटावा में हुआ था। नीरज अपने जीवन भर कविता लिखने में लगे रहे। जीवन में प्रत्येक क्षण को उन्होंने भोगा। लेकिन उनका बचपन ग़रीबी में बीता था।

5. अमरीका के 41वें राष्ट्रपति जॉर्ज एच. वॉकर बुश का 94 साल की उम्र में 30 नवंबर 2018 को निधन हो गया। 1980 के दशक में राष्ट्रपति रोनल्ड रीगन के प्रशासन के दौरान उन्होंने उप राष्ट्रपति की भूमिका निभाई। बाद में वे 1989 से 1993 तक देश के राष्ट्रपति रहे।

6.  दुनिया को स्पाइडरमैन, आयरन मैन, और द हल्क जैसे सुपरहीरोज देने वाले मार्वल कॉमिक्स के जनक, स्टेन ली का 13 नवंबर 2018 को 95 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। स्टेन ली अपने गढ़े हुए किरदारों के लिए काफी लोकप्रिय थे, इसी लिए उन्होंने साल 1998 में एक कॉन्ट्रैक्ट किया। इस कॉन्ट्रैक्ट में तय हुआ कि अगर मार्वल के किसी भी किरदार पर फिल्म बनती है तो प्रॉफिट का 10 प्रतिशत देना होगा। स्टेन ली बचपन से ही बड़े ही क्रिएटिव थे। उनका जन्म 28 दिसम्बर 1922 में हुआ था।

7. केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार का 58 साल की उम्र में 12 नवंबर 2018 को निधन हो गया। वे कैंसर की बिमारी से पीड़ित थे।  अनंत कुमार के पास दो मंत्रालय थे। साल 2014 से वह रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय संभाल रहे थे। जुलाई 2016 से उन्हें संसदीय कार्यमंत्री का कार्यभार भी मिला हुआ था। भाजपा नेता अनंत कुमार का जन्म 22 जुलाई 1959 को बेंगलुरु में हुआ था। साल 1996 से वह दक्षिणी बेंगलुरु का लोकसभा में प्रतिनिधित्व कर रहे थे।

8. मशहूर बॉलीवुड अदाकारा और पद्मश्री से सम्मानित श्रीदेवी का 24 फरवरी 2018 को दुबई के एक होटल में बाथटब में डूबने ने निधन हो गया। 54 साल की श्रीदेवी होटल के बाथटब में डूबी हुई मिली थीं।

9. पूर्व लोकसभा स्पीकर सोमनाथ चटर्जी का 89 साल की उम्र में 13 अगस्त 2018 को निधन  हो गया वे 10 बार सांसद बने। उन्हें किडनी की बीमारी थी, काफी लंबे समय से वह कोलकाता के अस्पताल में ही भर्ती थे। वह 2004 से 2009 तक लोकसभा के अध्यक्ष रह चुके थे।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in