Mumbai चार‌‌ लड़कियों के‌ रोड ट्रिप पर‌ आधारित 'मियामी से न्यूयॉर्क' है एक मज़ेदार फ़िल्म

चार‌‌ लड़कियों के‌ रोड ट्रिप पर‌ आधारित 'मियामी से न्यूयॉर्क' है एक मज़ेदार फ़िल्म

चार‌‌ लड़कियों के‌ रोड ट्रिप पर‌ आधारित 'मियामी से न्यूयॉर्क' है एक मज़ेदार फ़िल्म

स्टार्स : 5 में से 4 Stars

मुंबई: फ़िल्म 'दिल चाहता है' से लेकर 'ज़िंदगी मिलेगी ना दोबारा' तक और उसके बाद भी रोड ट्रिप पर आधारित कई हिंदी फ़िल्में बनीं हैं. मगर इन सब फ़िल्मों में एक समान बात ये थी कि इनमें लड़कों को रोड ट्रिप पर जाते हुए दिखाया गया है. लेकिन हाल ही में रिलीज़ हुई फ़िल्म 'मियामी से न्यूयॉर्क'(Miami Se New York) रोड ट्रिप जानेवाले लड़कों की नहीं, बल्कि लड़कियों की कहानी को बयां करती है जिसे बड़े पर्दे पर बेहद दिलचस्प ढंग से पेश किया गया है.

फ़िल्म‌ में दिखाया गया है कि चार सहेलियों में से एक लड़की की जल्द ही शादी होनेवाली है और और ऐसे में शादी से पहले चारों लड़कियां रोड ट्रिप के ज़रिए मज़े के लिए एक अमेरिकी शहर से दूसरे अमेरिकी शहर जाने का फ़ैसला करती हैं.

'मियामी से न्यूयॉर्क' में चार सहेलियों की दोस्ती और आपसी रिश्ते को ज़िंदगी के जश्न के तौर पर पेश किया गया है. फ़िल्म में रोड ट्रिप पर निकलीं लड़कियां - आशा, शायना, मिलिंडा और आंशु इस सफ़र में ख़ूब मस्ती तो करती ही हैं, मगर इन सभी को इस सफ़र के दौरान कुछ ऐसे अनुभव हासिल होते हैं जिनके ज़रिए उन्हें अपने बारे में कई तरह का आत्मबोध होता है. फ़िल्म में इन चार लड़कियों के माध्यम से प्यार से लेकर दिल टूटने और दोस्ती जैसे कई तरह के जज़्बातों को टटोला गया है, लेकिन एक बेहद अलहदा अंदाज़ में.

'मियामी से न्यूयॉर्क' एक ऐसी आधुनिक फ़िल्म है जो लड़कियों‌ की आंतरिक इच्छाओं, उनकी ख़्वाहिशों को‌ मज़ेदार तरीके से एक रोड ट्रिप के ज़रिए लोगों के सामने पेश करती है. साथ ही ये फ़िल्म‌ उनकी कमियों, असुरक्षा की उनकी भावनाओं, उनकी जीत, उनकी हार, उनकी हंसी-ख़ुशी और उनके ग़मों पर‌ भी फ़ोकस करती है. ऐसे में आप भी इस फ़िल्म से खुद को आसानी से रिलेट कर‌ पाएंगे.

प्रीशा फ़िल्म्स के बैनर तले बनी और राकेश यू साकट द्वारा निर्मित 'मियामी से न्यूयॉर्क' की कहानी आपको अंत तक बांधे रखती है. निहाना मिनाज़ (आंशु), निखर कृष्णानी (शायना), जेनेल लैक्ले (मिलि) और रोहिणी चंद्रा (आशा) ने अपने-अपने किरदारों के साथ न्याय ही नहीं किया है, बल्कि अपने अभिनय से फ़िल्म को और भी दर्शनीय बना दिया है. 

फ़िल्म को दिलचस्प अंदाज़ में पेश करने वाले निर्देशक जॉय ऑगस्टीन(Joy Augustine) की छाप फ़िल्म‌ पर‌ साफ़तौर पर‌ देखी जा सकती है. फ़िल्म के लोकेशन्स के साथ-साथ फ़िल्म के कई सीन बेहद मनमोहक और दर्शनीय हैं. फ़िल्म के गीत अर्थपूर्ण और विजू शाह का संगीत गुनगुनाने लायक है. 

'मियामी से न्यूयॉर्क' एक मज़ेदार फ़िल्म है जो आपको एक रोमांचक यात्रा पर ले जाती है और फ़िल्म के शुरू होते ही कुछ ही देर में आपको लगने लगता है कि आप भी चार लड़कियों के साथ रोड ट्रिप‌ पर निकल पड़े हैं. इस फ़िल्म को आप ज़रूर देखें क्योंकि यह फ़िल्म आपका भरपूर‌ मनोरंजन करेगी और साथ ही आपको दोस्ती के नये मायने भी समझाएगी.

और पढ़ें