जून के प्रथम सप्ताह में सहकार फसली ऋण वितरण को पुख्ता व्यवस्था के साथ लागू किया जाए- मंत्री आंजना

Nirmal Tiwari Published Date 2019/05/30 08:21

जयपुर: सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने कहा कि सहकारिता में लोगों का विश्वास बना रहे यह हम सभी की जिम्मेदारी है. इसी लक्ष्य को ध्यान में रख कर कार्यो की क्रियान्विति को अंतिम रूप प्रदान किया जाए. उन्होंने कहा कि किसानों एवं आमजन के हितों से जुड़ी योजनाओं एवं निर्णयों का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे यह सुनिश्चित किया जाए.

आंजना बुधवार को अधिकारियों के साथ यहां अपेक्स बैंक के कॉन्फ्रेन्स हॉल में सहकारिता विभाग से जुड़े विभिन्न बिन्दुओं की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि अधिकारी एवं कर्मचारी सत्यनिष्ठा के साथ दायित्वों का निर्वहन करे. किसानों के दुर्घटना बीमा की प्रक्रिया की समीक्षा की जाएगी तथा बीमा विशेषज्ञ को सम्मिलित करते हुए एक समिति गठित की जाएगी. यह समिति किसानों को बीमा लाभ के अच्छे विकल्प सुझाएगी. समिति की रिपोर्ट के आधार पर किसानों के हित में सर्वश्रेष्ठ बीमा पॉलिसी को पारदर्शिता एवं जवाबदेही के साथ लागू किया जाएगा. 

किसानों के बीमा क्लेम के भुगतान में देरी करने पर कम्पनी के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के निर्देश 
बीमा कम्पनी द्वारा किसानों के बीमा क्लेम के भुगतान में देरी करने पर कम्पनी के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के निर्देश देते हुए कहा कि किसानों के लंबित बीमा क्लेम को शीघ्र दिलवाया जाए तथा संबंधित जिलों के अधिकारियों की बीमा कम्पनी के साथ सामूहिक बैठक कर लंबित प्रकरणों का निस्तारण करे. आंजना ने कहा कि जून के प्रथम सप्ताह में सहकार फसली ऋण पोर्टल से ऋण वितरण को पुख्ता व्यवस्था के साथ लागू किया जाए. उन्होंने कहा कि नए सदस्यों को बनाने के लिए विशेष कार्यक्रम बनाकर सहकारिता से जोड़ने की कार्यवाही को अंजाम दे. 

किसानों के साथ लापरवाही करने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा
सहकारिता मंत्री ने कहा कि किसानों के साथ लापरवाही करने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. 8 मई तक सरसों एवं चना तथा 10 मई तक गेहूं की उपज बेचान करने वाले सभी किसानों को हुए भुगतान पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि समय पर किसान का भुगतान होने से किसान परिवार को बहुत बड़ी राहत मिलती है. आंजना ने निर्देश दिये की पूर्व में हुई खरीद में लगभग 70 किसानों को भुगतान आईएफएससी कोड की वजह से नहीं हो पाए थे उनका भुगतान राजफैड द्वारा किया जाए. फसल खरीद के लिए परिवहन एवं हैण्डलिंग की व्यवस्था जिला स्तरीय कमेटी द्वारा की जाए. उन्होंने कहा कि इस बार हुई इस व्यवस्था से परिवहन एवं हैण्डलिंग की कम दरे प्राप्त हुई है जो संस्था के हित में है. आंजना ने हानि में चल रहे सुपर उपहार मार्केट के लिए एक्शन प्लान बनाने के निर्देश देते हुए कहा कि पूरे राज्य में कार्य कर रहे ऐसे उपभोक्ता भण्डारों को लाभ में लाने के लिए विस्तृत कार्य योजना बनाकर अमल में लाई जाए.

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in