कर्जमाफी पर शिवराज सिंह ने की गुमराह करने वाली बयानबाजी- मंत्री आंजना

Nirmal Tiwari Published Date 2019/08/21 10:21

जयपुर: सहकारिता मंत्री उदय लाल आंजना ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कर्जमाफी के संदर्भ में भ्रमित बयानबाजी कर ना सिर्फ किसानों को गुमराह करने का प्रयास है अपितु यह स्वस्थ राजनीति के भी विपरीत है. तथ्यरहित ऐसी औछी बयानबाजी पूर्व मुख्यमंत्री के स्तर पर शोभा नहीं देती है. अच्छा होता कि पूर्व मुख्यमंत्री चौहान ने ऐसे अनर्गल बयान से पहले तथ्यों की जानकारी लेकर अपना व्यक्तव्य दिया होता. 

चुनावी वायदों का निर्वाह किया: 
उन्होंने कहा कि उनको और भाजपा के अफवाह मीडिया को बताना चाहते हैं कि कांग्रेस ने हमेशा अपने चुनावी वायदों का निर्वाह किया है और उसी के फलस्वरूप हमने सत्ता में आते ही मात्र 48 घण्टों में कर्जमाफी का साहसिक कदम उठाकर कृषि क्षेत्र तथा किसानों को यह संदेश दिया कि हम उनकी आर्थिक विषमताओं एवं जीविकोपार्जन को लेकर अत्यन्त संवेदनशील है.

किसानों को ऋणमाफी से वंचित होना पड़ा: 
आंजना ने कहा कि इसके सापेक्ष पूर्ववर्ती भाजपा सरकार की कर्जमाफी की गलत नीतियों की वजह से प्रदेश के लाखों किसानों को ऋणमाफी से वंचित होना पड़ा. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने बायोमैट्रिक सत्यापन की प्रक्रिया अपनाकर राज्य के सहकारी बैंकों के लगभग 21 लाख किसानों को अल्पकालीन फसली ऋणमाफी का वास्तविक लाभ दिया है. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in