जयपुर पीसीसी में मंत्री दरबार, खेल मंत्री अशोक चांदना ने की जनसुनवाई

पीसीसी में मंत्री दरबार, खेल मंत्री अशोक चांदना ने की जनसुनवाई

पीसीसी में मंत्री दरबार, खेल मंत्री अशोक चांदना ने की जनसुनवाई

जयपुर: प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में आज खेल मंत्री अशोक चांदना ने जन सुनवाई की. इस दौरान मंत्री चांदना ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नागरिकों की समस्याएं सुनी. वहीं इस मौके पर चांदना ने निकाय चुनाव हाइब्रिड फॉर्मूले को लेकर कहा कि सरकार ने यह फैसला सोच समझकर किया होगा. यदि कोई कमी-बेसी है तो आलाकमान इस संबंध में कोई निर्णय ले सकता है. 

तबादलों और खेल-कौशल विकास से जुड़ी समस्याएं:
पीसीसी में आज अधिकांश समस्याएं तबादलों और उनके विभाग खेल व कौशल विकास से जुड़ी हुई थी. चांदना ने अधिकांश समस्याओं के लिए मौके पर ही अधिकारियों को निस्तारण के निर्देश दिए. मंत्री ने कहा कि तबादलों को लेकर लोग अभी आ रहे हैं, जो कमी रह गई है, उसे भी दूर किया जाएगा. अशोक चांदना ने हाइब्रिड फॉर्मूले को लेकर कहा राज्य सरकार ने जो फैसला लिया है, सोच समझ कर लिया है, लेकिन अगर पार्टी आलाकमान कोई बदलाव करता है तो यह उनका अधिकार है. मैं कैबिनेट का हिस्सा नहीं हूं, इसलिए मुझे इस फैसले के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी. 

जनसुनवाई से पहले सीएम से मिले चांदना: 
अशोक चांदना ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट को लेकर दी गई बड़ी राहत के फैसले की सराहना की और कहा की इससे प्रदेश के बड़े वर्ग के युवाओं को लाभ मिलेगा. इससे पहले खेल मंत्री ने सुबह मुख्यमंत्री आवास जाकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात की और मांग की है कि भाजपा सरकार में यूथ कांग्रेस के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं के खिलाफ दर्ज मुकदमों को जल्द से जल्द वापस लिया जाए. राजनीतिक नियुक्तियों में भी यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता को उचित भागीदारी देने की अपील की. वहीं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का भी इस मामले पर बयान आ गया. 

पैरा खिलाड़ी ने लगाया आरोप:
आज पीसीसी में खेल जगत से जुड़े लोग भी जनता दरबार मे अपनी फरियाद लेकर पहुंचे. एक पैरा खिलाड़ी ने खेल परिषद के अधिकारियों पर आरोप लगाया कि तीन साल से इनामी राशि नहीं दी जा रही. अशोक चांदना ने मंत्री के रूप में पहली बार पीसीसी में जन सुनवाई की. इस दौरान उन्होंने लोगों की समस्याएं तो सुनी, लेकिन कुछ समस्या अन्य विभागों से जुड़ी थी. 

... संवाददाता योगेश शर्मा के साथ नरेश शर्मा की रिपोर्ट 

और पढ़ें