VIDEO: मंत्री डॉ.रघु शर्मा ने स्पीकर सीपी जोशी पर उठाए सवाल, कालीचरण पर भी लगाए भ्रष्टाचार के आरोप

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/06/28 04:55

जयपुर: विधानसभा बजट सत्र का दूसरा दिन आज हंगामेदार रहा. NHM भर्ती प्रकरण पर विधायक कालीचरण सराफ ने चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा पर चार्जेज लगाया. इस पर मंत्री रघु शर्मा ने खुलकर अपना पक्ष रखते हुए कहा कि हमने भ्रष्टाचार को रोका है. भ्रष्टाचार के पोषक सदन में आकर गुमराह करने का काम कर रहे है. उन्होंने कहा कि भर्ती को लेकर मुझे जानकारी नहीं थी. ट्वीटर पर 2500 भर्ती होने की जानकारी थी इस पर हमने खुशी जाहिर की थी इसमें गलत नहीं था लेकिन कब होगी ये नहीं बताया.

स्पीकर ने मुझे बोलने नहीं दिया
मंत्री रघु शर्मा ने NHM भर्ती घोटाले पर मीडिया के सामने अपना पक्ष रखते हुए स्पीकर की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि मुझे अफसोस इस बात का है कि स्पीकर ने मुझे बोलने नहीं दिया. मैंने अध्यक्ष को इसके लिए अपना विरोध जता दिया. इसके लिए मैं सदन के नेता से इसकी शिकायत भी करूंगा. शर्मा ने कहा कि हमने भ्रष्टाचार रोका है कोई गुनाह नहीं किया है. 

1 बार नहीं 50 बार ऐसी भर्तियां रोकेंगे
उन्होंने कहा कि हम हर भ्रष्टाचार को रोकने का काम करेंगे, 1 बार नहीं 50 बार ऐसी भर्तियां रोकेंगे. जहां भ्रष्टाचार की बू आती है, वो भ्रष्टाचार की बात कर रहे है जिनके किस्से पूरे 5 साल रहे थे. मैंने आज स्पीकर से ऐतराज जताया था लेकिन दुर्भाग्य से स्पीकर ने मुझे जनता की बीच अपना पक्ष रखने का मौका नहीं दिया. जनता के बीच सच्चाई जानी चाहिए, एक झूठ 100 बार बोलने से वो सच नहीं होता. 

कालीचरण सराफ पर लगाया दोनों हाथों से लूटने का आरोप
इस दौरान मंत्री रघु शर्मा नें कालीचरण सराफ के मंत्री रहने पर दोनों हाथों से लूटने का आरोप लगाते हुए उनके दोनों बेटों पर चिकित्सा महकमें को बदनाम करने का भी आरोप लगाया. साथ ही उन्होंने कहा कि उनके पेट्रोल पंप अधिकारी उन्हें भ्रष्टाचार के पैसे दे देकर आ रहे थे. इस स्थित के बाद मैंने चिकित्सा विभाग संभाला है. साथ ही उन्होंने भ्रष्टाचार करने वाले ऐसे लोग बख्शे नहीं जाएंगे. मंत्री रघु शर्मा ने पांच साल की NHM भर्ती की जांच करवाने की भी बात कही. 
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in