भाजपा ने पांच साल में शिक्षा विभाग का किया बंटाधार - डोटासरा

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/01/06 08:34

नागौर। प्रदेश सरकार में शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा आज एक दिवसीय दौरे पर नागौर जिले के दौरे पर रहे । मंत्री बनने के बाद पहली बार नागौर जिले में पंहुचने पर डोटासरा का जगह जगह कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया । इस दौरान डोटासरा सालासर से रिंगण गांव में आयोजित अभिनंदन समारोह में शिरकत करने पंहुचे। गौरतलब है कि रिंगण गांव में मंत्री डोटासरा का ननिहाल है और यहां ननिहाल द्वारा मंत्री बनने के बाद यहां अभिनंदन समारोह आयोजित किया गया। 

समारोह में डोटासरा का रिंगण गांव के ग्रामीणों द्वारा स्वागत किया इस दौरान जिले से नवनिर्वाचित विधायक चेतन डूडी, मुकेश भाकर और रामनिवास गावड़िया और पूर्व सांसद ज्योति मिर्धा का भी स्वागत किया गया। इस दौरान डोटासरा ने संबोधित करते हुए कहा कि में आज जिस मुकाम तक पंहुचा उसमे मेरे ननिहाल का बहुत बड़ा योगदान है, इस दौरान डोटासरा भावुक भी हो गए। शिक्षा मंत्री का स्वतंत्र प्रभार दिए जाने को लेकर बोलते हुए कहा कि काफी बड़ा विभाग है और उसमें कई चुनोतियाँ भी है मगर हम चुनोतियाँ का सामना करते हुए ईमानदारी से काम करेंगे। हमारी सरकार गांव और गरीब की शिक्षा के लिए फिक्रमंद रहती है और हम आज भी शिक्षा को लेकर फिक्रमंद है। 

इस दौरान भाजपा की पूर्ववर्ती सरकार पर बोलते हुए कहा कि भाजपा ने पांच साल में शिक्षा विभाग का बंटाधार करके रख दिया और भाजपा ने अपनी राजनीतिक विचारधारा थोंपने के लिए शिक्षा विभाग को राजनीति की प्रयोगशाला बनाकर रख दिया, भाजपा ने अपने राजनीतिक स्वार्थपूर्ति के लिए जो भारती भवन से पर्ची आती थी उस पर काम होता था भाजपा सरकार केवल पांच सालों में हमारा इतिहास एयर गौरव हटाने का काम किया और पुस्तकों में परिवर्तन करने के साथ साथ साइकलों का रंग बदलने के अलावा प्रदेश की 22 हजार स्कूल नियम विरुद्ध बंद कर दिए गए। 

उन्होने कहा कि हम अधिकारियों और शिक्षाविदों के साथ मिलकर एक कमेटी बनाकर शिक्षा में सुधार करने की कोशिश करेंगे और कोशिस करेंगे कि गरीब को उचित और गुणवत्ता वाली शिक्षा मिल सके इसको लेकर प्रयास करेंगे। इस दौरान डोटासरा ने महाराणा प्रताप के बारे में बोलते हुए कहा कि महाराणा प्रताप का शौर्य वीरता साहस और संघर्ष राजस्थान के कण कण में बसा हुआ है। भाजपा केवल महाराणा प्रताप के बहाने मुद्दे ढूढं रही है। हमारा इतिहास कोई गोविंद सिंह डोटासरा नही बदल सकता, हम महाराणा प्रताप के इतिहास और गौरव को पढ़ते आये है। इतिहास को कोई नही हटा रहा। 

इस दौरान प्रतियोगी परीक्षाओं की तिथियां आगे बढ़ाने को लेकर बातचीत करते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने जाते जाते कई भर्तियां की परीक्षा का कैलेंडर RPSC को थमा दिया जिससे आये दिन परीक्षार्थियों की परीक्षाएं हो रही है जिससे अभ्यर्थी अपनी तैयारी सही नही कर पा रहे है छात्रों और युवाओ की मांग को देखते हुए कुछ भर्ती की परीक्षा तिथियां में बदलाव किया जाएगा। 
नरपत ज़ोया
संवाददाता
1St इंडिया 
नागौर

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in