Live News »

भाजपा ने पांच साल में शिक्षा विभाग का किया बंटाधार - डोटासरा

भाजपा ने पांच साल में शिक्षा विभाग का किया बंटाधार - डोटासरा

नागौर। प्रदेश सरकार में शिक्षा राज्यमंत्री गोविंद सिंह डोटासरा आज एक दिवसीय दौरे पर नागौर जिले के दौरे पर रहे । मंत्री बनने के बाद पहली बार नागौर जिले में पंहुचने पर डोटासरा का जगह जगह कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया । इस दौरान डोटासरा सालासर से रिंगण गांव में आयोजित अभिनंदन समारोह में शिरकत करने पंहुचे। गौरतलब है कि रिंगण गांव में मंत्री डोटासरा का ननिहाल है और यहां ननिहाल द्वारा मंत्री बनने के बाद यहां अभिनंदन समारोह आयोजित किया गया। 

समारोह में डोटासरा का रिंगण गांव के ग्रामीणों द्वारा स्वागत किया इस दौरान जिले से नवनिर्वाचित विधायक चेतन डूडी, मुकेश भाकर और रामनिवास गावड़िया और पूर्व सांसद ज्योति मिर्धा का भी स्वागत किया गया। इस दौरान डोटासरा ने संबोधित करते हुए कहा कि में आज जिस मुकाम तक पंहुचा उसमे मेरे ननिहाल का बहुत बड़ा योगदान है, इस दौरान डोटासरा भावुक भी हो गए। शिक्षा मंत्री का स्वतंत्र प्रभार दिए जाने को लेकर बोलते हुए कहा कि काफी बड़ा विभाग है और उसमें कई चुनोतियाँ भी है मगर हम चुनोतियाँ का सामना करते हुए ईमानदारी से काम करेंगे। हमारी सरकार गांव और गरीब की शिक्षा के लिए फिक्रमंद रहती है और हम आज भी शिक्षा को लेकर फिक्रमंद है। 

इस दौरान भाजपा की पूर्ववर्ती सरकार पर बोलते हुए कहा कि भाजपा ने पांच साल में शिक्षा विभाग का बंटाधार करके रख दिया और भाजपा ने अपनी राजनीतिक विचारधारा थोंपने के लिए शिक्षा विभाग को राजनीति की प्रयोगशाला बनाकर रख दिया, भाजपा ने अपने राजनीतिक स्वार्थपूर्ति के लिए जो भारती भवन से पर्ची आती थी उस पर काम होता था भाजपा सरकार केवल पांच सालों में हमारा इतिहास एयर गौरव हटाने का काम किया और पुस्तकों में परिवर्तन करने के साथ साथ साइकलों का रंग बदलने के अलावा प्रदेश की 22 हजार स्कूल नियम विरुद्ध बंद कर दिए गए। 

उन्होने कहा कि हम अधिकारियों और शिक्षाविदों के साथ मिलकर एक कमेटी बनाकर शिक्षा में सुधार करने की कोशिश करेंगे और कोशिस करेंगे कि गरीब को उचित और गुणवत्ता वाली शिक्षा मिल सके इसको लेकर प्रयास करेंगे। इस दौरान डोटासरा ने महाराणा प्रताप के बारे में बोलते हुए कहा कि महाराणा प्रताप का शौर्य वीरता साहस और संघर्ष राजस्थान के कण कण में बसा हुआ है। भाजपा केवल महाराणा प्रताप के बहाने मुद्दे ढूढं रही है। हमारा इतिहास कोई गोविंद सिंह डोटासरा नही बदल सकता, हम महाराणा प्रताप के इतिहास और गौरव को पढ़ते आये है। इतिहास को कोई नही हटा रहा। 

इस दौरान प्रतियोगी परीक्षाओं की तिथियां आगे बढ़ाने को लेकर बातचीत करते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने जाते जाते कई भर्तियां की परीक्षा का कैलेंडर RPSC को थमा दिया जिससे आये दिन परीक्षार्थियों की परीक्षाएं हो रही है जिससे अभ्यर्थी अपनी तैयारी सही नही कर पा रहे है छात्रों और युवाओ की मांग को देखते हुए कुछ भर्ती की परीक्षा तिथियां में बदलाव किया जाएगा। 
नरपत ज़ोया
संवाददाता
1St इंडिया 
नागौर

और पढ़ें

Most Related Stories

नौतपा के चौथे दिन भी जमकर तपी मरूधरा, भीषण गर्मी और लू का प्रकोप,  गर्मी में श्रीगंगानगर ने चूरू को पछाड़ा 

नौतपा के चौथे दिन भी जमकर तपी मरूधरा, भीषण गर्मी और लू का प्रकोप,  गर्मी में श्रीगंगानगर ने चूरू को पछाड़ा 

जयपुर: 25 मई से शुरू हुए नौतपा के चौथे दिन भी मरूधरा में सूर्य देव लगातार उगल रहे हैं. नौतपा के दौरान राजस्थान के कई जिलों में तापमान में लगातार बढ़ोतरी हो रही है जिसकी वजह से दिनचर्या में काफी बदलाव आया है. लोग लॉकडाउन और तेज गर्मी की वजह से अनावश्यक रूप से घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं जिसकी वजह से खासतौर से दोपहर बाद सड़कों और बाजारों में सन्नाटा पसरा रहता है. वही लोग तेज गर्मी से बचाव के लिए एसी और कूलर का सहारा ले रहे हैं तो वहीं कुछ शीतल पेय पदार्थों का इस्तेमाल कर तेज गर्मी से राहत लेने की कोशिश कर रहे हैं. 

कोरोना संकट के बीच सीएम गहलोत के अहम फैसले, 2 अहम परियोजनाओं पर लगाई मुहर

भीषण गर्मी और लू का प्रकोप जारी:
प्रदेश में भीषण गर्मी और लू का प्रकोप जारी है. गर्मी में गुरुवार को श्रीगंगानगर ने चूरू को पछाड़ा दिया है. श्रीगंगानगर में गुरुवार को 46.9डिग्री तापमान दर्ज किया गया है. जबकि चूरू में 46.6 डिग्री तापमान दर्ज हुआ है. बीकानेर में 45.2,जैसलमेर में 45.4, कोटा में 45 दर्ज किया गया है.

बाड़मेर तापमान 44.3 दर्ज:
वहीं बात करें बाड़मेर की, तो यहां पर 44.3 डिग्री तापमान दर्ज किया गया है,अजमेर 41.1,डबोक 39.4,जोधपुर 42.3, राजधानी जयपुर में 44.1 डिग्री तापमान दर्ज हुआ है. मौसम विभाग से गुरुवार को येलो अलर्ट जारी कर रखा है. येलो अलर्ट के तहत 6 संभागों में हीट वेव की चेतावनी की गई है. 

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान के 33 जिलों में कोरोना वायरस की दस्तक, पिछले 24 घंटे में 7 मरीजों की मौत, 251 नए केस आये सामने

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान के 33 जिलों में कोरोना वायरस की दस्तक, पिछले 24 घंटे में 7 मरीजों की मौत, 251 नए केस आये सामने

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान के 33 जिलों में कोरोना वायरस की दस्तक, पिछले 24 घंटे में 7 मरीजों की मौत, 251 नए केस आये सामने

जयपुर: राजस्थान में लगातार कोरोना वायरस के मामले बढते जा रहे है. पिछले 24 घंटे में 7 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 251 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. अलवर, बांसवाड़ा, दौसा, जयपुर, करौली, नागौर और दूसरे राज्य के 1-1 मरीज की मौत हो गई. सर्वाधिक 69 पॉजिटिव केस अकेले झालावाड़ में सामने आये है. अजमेर में 6, भरतपुर 12, भीलवाड़ा 1, बीकानेर 7, बूंदी 1, चूरू 5, दौसा 4, डूंगरपुर 1, हनुमानगढ़ 3, जयपुर 7, जालोर-1, झुंझुनूं-7, जोधपुर 64, कोटा 9, नागौर 9, पाली 32, सवाई माधोपुर-1, सीकर 10, सिरोही 1 और दूसरी राज्य का एक पॉजिटिव मरीज सामने आया है. राजस्थान में कुल  मौत का आंकड़ा 180 पहुंच गया है. वहीं पॉजिटिव मरीजों की संख्या 8067 पहुंच गई है. इन पॉजिटिव मरीजों में प्रवासियों की संख्या 2 हजार 199 शामिल है.

जयपुर में कोरोना का बढ़ता दायरा:
राजधानी जयपुर में कोरोना का दायरा बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 1 एक मरीज की मौत हो गई. 7 मरीज पॉजिटिव मरीज सामने आये है. भोजपुरा में 1, नंदलालपुरा में-2, SMS हॉस्पिटल में 1, मानसरोवर में 1, कैलाशपुरी आमेर रोड 1 और शास्त्री नगर में 1 पॉजिटिव केस सामने आया है. जयपुर में अब तक 85 लोगों की मौत हो चुकी है. जबकि कुल मरीजों की संख्या 1 हजार 909 पहुंच गई है. 

नहीं बढ़ रहा फ्लाइट्स का संचालन, कोलकाता के लिए एयर कनेक्टिविटी शुरू होने का इंतजार

राजस्थान में राहत की खबर:
राजस्थान में बढ़ते पॉजिटिव केस के बीच राहत की खबर है. प्रदेश में 4566 केस अब तक पॉजिटिव से नेगेटिव हुए है. 3913 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है. जबकि शेष क्वॉरंटीन पीरियड पूरा होने पर घर भेजे जाएंगे. राजस्थान में फिलहाल कोरोना के 3202 एक्टिव केस है. इनमें 2149 प्रवासी राजस्थानी भी शामिल है.

राजस्थान के हर जिले तक पहुंचा कोरोना:
राजस्थान के हर जिले तक कोरोना वायरस ने दस्तक दे दी है. 33वें जिले के रूप में बूंदी में भी कोरोना की चपेट में आ गया है. 87 दिन बाद बूंदी जिले में पहला केस बुधवार को सामने आया है. अब तक सर्वाधिक जयपुर में सामने आए 1909 पॉजिटिव केस है, अजमेर में 311, अलवर में 51, बांसवाड़ा में 85, बारां में 8, बाड़मेर में 92, भरतपुर में 165, भीलवाड़ा में 134, बीकानेर में 94, बूंदी 1, चित्तौड़गढ़ में 175, चूरू में 90, दौसा में 50, धौलपुर में 45, डूंगरपुर में 332, श्रीगंगानगर में 5, हनुमानगढ़ में 21, जैसलमेर में 68, जालोर 154, झालावाड़ में 204, झुंझुनूं में 109, जोधपुर में 1311, करौली में 12, कोटा में 422, नागौर में 421, पाली में 394, प्रतापगढ़ में 13, राजसमंद में 135
सवाईमाधोपुर में 19, सीकर में 164, सिरोही 141, टोंक में 163, उदयपुर में 523, दूसरे राज्यों के 13 मरीज अब तक कोरोना पॉजिटिव, इसके अलावा इटली के दो, ईरान से आए 61 यात्री पॉजिटिव, BSF के 50 जवान अब तक पॉजिटिव आ चुके है.

कोरोना संकट के बीच सीएम गहलोत के अहम फैसले, 2 अहम परियोजनाओं पर लगाई मुहर

नहीं बढ़ रहा फ्लाइट्स का संचालन, कोलकाता के लिए एयर कनेक्टिविटी शुरू होने का इंतजार

जयपुर: घरेलू फ्लाइट्स का संचालन शुरू हुए गुरुवार को चौथा दिन है, लेकिन जयपुर इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर अभी भी फ्लाइट्स का संचालन नहीं बढ़ पा रहा है. हालांकि आज अपेक्षाकृत रूप से यात्रीभार अधिक देखा जा रहा है. लेकिन इसके बावजूद गुरुवार को 20 में से 11 फ्लाइट रद्द रही हैं. फ्लाइट संचालन के चौथे दिन भी पश्चिम बंगाल के लिए एयर कनेक्टिविटी शुरू नहीं हो सकी है. जयपुर से पश्चिम बंगाल के कोलकाता के लिए इंडिगो एयरलाइन ने एक फ्लाइट शुरू करने का शेड्यूल दिया है, लेकिन पश्चिम बंगाल की राज्य सरकार के विरोध के कारण अभी तक इस फ्लाइट को उड़ान भरने की मंजूरी नहीं मिल सकी. एयरपोर्ट प्रशासन से जुड़े सूत्रों का कहना है कि शुक्रवार से कोलकाता के लिए फ्लाइट शुरू हो सकती है.

मुम्बई के लिए फिर रद्द हुई इंडिगो की फ्लाइट:
हालांकि गुरुवार को भी कुल फ्लाइट्स की संख्या में कमी देखी गई है. बुधवार को जहां जयपुर एयरपोर्ट से 10 फ्लाइट संचालित हुई थीं, वहीं आज 9 फ्लाइट ही संचालित हो रही हैं. दरअसल चार एयरलाइंस ने जयपुर एयरपोर्ट से कुल 20 फ्लाइट संचालित करने के लिए शेड्यूल दिया था. इनमें सर्वाधिक 8 फ्लाइट का शेड्यूल स्पाइसजेट एयरलाइन ने दिया था. इंडिगो ने 6 फ्लाइट, एयर इंडिया और एयर एशिया ने तीन-तीन फ्लाइट संचालित करने की बात कही थी, लेकिन पिछले चार दिनों में अभी तक एक भी दिन सभी 20 फ्लाइट संचालित नहीं हो सकी हैं. गुरुवार को 11 फ्लाइट्स जयपुर एयरपोर्ट से रद्द की गई हैं. स्पाइसजेट की 6, इंडिगो की 2, एयर एशिया की 2 और एयर इंडिया की 1 फ्लाइट रद्द हुई है.

धौलपुर के सैपऊ में तूफान से गिरा मकान, मलबे में दबने से 3 लोगों की मौत 

ये 11 फ्लाइट आज रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 5:45 बजे सूरत जाने वाली फ्लाइट SG-2763 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 7:20 बजे जालंधर जाने वाली फ्लाइट SG-2750 हुई रद्द
- इंडिगो की सुबह 6:40 बजे मुंबई जाने वाली फ्लाइट 6E-218 हुई रद्द
- एयर इंडिया की सुबह 7:35 बजे आगरा जाने वाली फ्लाइट 9I-687 हुई रद्द
- इंडिगो की शाम 4:45 बजे कोलकाता जाने वाली फ्लाइट 6E-6156 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 8 बजे मुंबई जाने वाली फ्लाइट SG-279 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 9:45 बजे उदयपुर जाने वाली फ्लाइट SG-6632 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 11:15 बजे अमृतसर जाने वाली फ्लाइट SG-3522 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की दोपहर 2:15 बजे गुवाहाटी जाने वाली फ्लाइट SG-448 हुई रद्द
- एयर एशिया की सुबह 9:15 बजे बेंगलूरु जाने वाली फ्लाइट I5-1721 हुई रद्द
- एयर एशिया की शाम 5:15 बजे पुणे जाने वाली फ्लाइट I5-1427 हुई रद्द

हालांकि यात्रीभार में दिख रही अपेक्षाकृत बढ़ोतरी:
जिस तरह से एयरलाइंस अपने शेड्यूल के मुताबिक फ्लाइट संचालित नहीं कर रही हैं, उससे यात्रियों के लिए परेशानी बढ़ गई है. दरअसल जिन यात्रियों ने फ्लाइट में पहले से बुकिंग कर ली है, उनके टिकट को रद्द किया जा रहा है. इसके एवज में यात्रियों को उनकी राशि भी नहीं लौटाई जा रही है, बल्कि उनकी राशि को क्रेडिट शेल के रूप में एयरलाइन अपने पास ही रख रही हैं. ऐसे में यदि यात्रियों का दुबारा कोई शेड्यूल नहीं बैठता है तो उन्हें इसका रिफंड कभी नहीं मिल सकेगा. हालांकि एयरलाइंस का कहना है कि यात्री अगले एक साल की अवधि में इस क्रेडिट शेल की राशि से टिकट बुक करवा सकते हैं. आपको बता दें कि इस कारण जिन यात्रियों ने मुम्बई, जालंधर, सूरत आदि शहरों से आने या जाने के लिए टिकट बुक करवा रखे थे, उन्हें इसका नुकसान झेलना पड़ रहा है. अब देखना होगा कि फ्लाइट्स के रद्द होने का यह सिलसिला कितने दिनों तक जारी रहेगा.

COVID-19 की वैक्सीन बनाने में 30 ग्रुप कर रहे है काम, अक्टूबर तक मिल सकती है सफलता:  डॉ. राघवन

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

स्पीक अप इंडिया अभियान: सोशल मीडिया पर जुड़े कांग्रेसी, केन्द्र सरकार से की मांग, गरीब मजदूरों, श्रमिकों को मिले सीधे पैसा

जयपुर: कांग्रेस ने गुरुवार को देशभर में सोशल मीडिया कैम्पेन चलाया. देश भर के कांग्रेस नेता और कार्यकर्ताओं की इसमें भागीदारी रही. राजस्थान से भी बड़ी तादाद में कांग्रेस नेता कैम्पेन से जुड़े. प्रवासी श्रमिकों ,कामगार ,मजदूर,मध्यम वर्ग,छोटे व्यापारियों की मांग केन्द्र सरकार के सामने रखी. डिप्टी सीएम और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने फेसबुक पर कहा कि जरुरत है प्रवासी श्रमिकों की पीड़ा को दूर करना,ये कार्य केन्द्र को करना चाहिए. कांग्रेस के कई नेता सोशल अभियान से जुड़े अविनाश पांडे ,डॉ रघु शर्मा समेत प्रमुख मंत्री विधायक और पदाधिकारी शामिल हुए. 

राजस्थान से ये दिग्गज हुए शामिल:
राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के आह्वान के बाद पूरी कांग्रेस गरीब कामगारों की आवाज बुलंद कर रही है, जिन्होंने लॉकडाउन में दंश झेला उनकी आवाज बुलंद की जा रही. स्पीक इंडिया कार्यक्रम के तहत कांग्रेस के प्रमुख नेता और कार्यकर्ता सोशल मीडिया अभियान में शामिल हुए. डिप्टी सी एम सचिन पायलट, कांग्रेस के राजस्थान प्रभारी अविनाश पांडे ,चिकित्सा और स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ,मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी शामिल समेत दिग्गज शामिल हुए. 

SMS अस्पताल को कोरोना फ्री करने की तैयारी, चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया ने व्यवस्थाओं का लिया जायजा

जेब तक सीधा पैसा पहुंचाया जाये:
सचिन पायलट ने फेसबुक पर कहा कि कांग्रेस पार्टी चाहती है ऐसे लोगों की मदद की जाए जो इनकम टैक्स तक नहीं दे पा रहे,उनकी जेब तक सीधा पैसा पहुंचाया जाये. पायलट ने सोशल मीडिया अभियान के जरिये केन्द्र सरकार से यहीं मांग की. पायलट ने कहा कि मनरेगा में राजस्थान में अच्छा काम किया है. कांग्रेस राज्य प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि केंद्र सरकार से हमारी मांग है कि मध्यम वर्ग ,छोटे उधोग धंधो की मदद की जाये,मनरेगा में रोजगार 200दिन किया जाये,प्रवासी श्रमिकों को नि शुल्क सेवा से घर पहुंचाया जाये. चिकित्सा और स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने कैम्पेन में भाग लिया और कांग्रेस की पहल का स्वागत किया. रघु शर्मा ने कहा कि महामारी से त्रस्त गरीब लोगों की मदद करना केन्द्र का नैतिक अधिकार हम उन्हें उनकी भूमिका याद दिला रहे.

COVID-19 की वैक्सीन बनाने में 30 ग्रुप कर रहे है काम, अक्टूबर तक मिल सकती है सफलता:  डॉ. राघवन

सोशल मीडिया कैम्पेन में टॉप पर रही:
ऐसा कहा जा रहा है कि राजस्थान की कांग्रेस सोशल मीडिया कैम्पेन में टॉप पर रही. मंत्री परिषद के तकरीबन सभी सदस्य , विधायक ,पीसीसी के पदाधिकरी, जिला अध्यक्ष, अग्रिम संगठनों के अध्यक्ष ,ब्लॉक अध्यक्ष शामिल हुए. मुख्य सचेतक महेश जोशी अपने श्रीगंगानगर दौरे के दौरान सोशल मीडिया अभियान से जुडे. फेसबुक,ट्विटर, इंस्टाग्राम पर कांग्रेस गुरुवार को छाई रही. जाहिर है बीजेपी को कांग्रेस उसी हथियार से घेरने में जुटी जिसके लिये बीजेपी को महारत हासिल थी,सोशल मीडिया रुपी हथियार के जरिये केन्द्र सरकार को घेरा जा रहा.

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट

फांसी के फंदे पर लटकी मिली विवाहिता, पीहर पक्ष ने लगाया दहेज हत्या का आरोप

फांसी के फंदे पर लटकी मिली विवाहिता, पीहर पक्ष ने लगाया दहेज हत्या का आरोप

सैपऊ(धौलपुर): सैपऊ थाना क्षेत्र में दहेज की खातिर एक विवाहिता की हत्या कर देने का मामला सामने आया है. पुलिस की ओर से मृतका का पोस्टमार्टम कराकर शव पीहर पक्ष को सुपुर्द कर दिया. तभी पीहर पक्ष के लोग शव को ले जा रहे थे इसी दरमियान ट्रैक्टर के द्वारा शव ले जाते समय रास्ते में पीहर पक्ष तथा ससुराली जनों के बीच विवाद हो गया. दोनों पक्षों के बीच हुए विवाद के चलते रास्ते में लोगों की भीड़ जमा हो गई. दाह संस्कार के लिए शव ले जाने पर हुए विवाद की सूचना पर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों से समझाइश के प्रयास किए गए. 

'अंतर्राष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता' दिवस: महिलाएं स्वच्छ व स्वस्थ रहकर ही अपने परिवार को स्वस्थ रख पाएंगी- ममता भूपेश  

पुलिस से पीहर पक्ष के लोग उलझ गए:
इस दरमियान समझाइश कर रही पुलिस से पीहर पक्ष के कुछ महिला और पुरुष उलझ गए. पुलिस और इन लोगों के बीच काफी देर तक गहमागहमी होती रही. इस दरमियान पुलिस के साथ कुछ लोगों के द्वारा हाथापाई कर देने की बात भी सामने आई है. हालांकि पुलिस अधिकारियों की ओर से इस तरह की घटना से इनकार किया गया है. सूचना पाकर पुलिस उपाधीक्षक विजय कुमार मौके पर पहुंचे और पुलिस के साथ अभद्र व्यवहार कर रहे कुछ लोगों को हिरासत में लिया तथा दोनों पक्ष के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की. उधर सबको पीहर पक्ष के लोगों के साथ दाह संस्कार के लिए रवाना किया गया. 

पीहर पक्ष ने लगाया दहेज हत्या का आरोप:
आपको बता दें कि सैपऊ थाना क्षेत्र के पथैना गांव निवासी अंजलि की 6 माह पूर्व उत्तर प्रदेश के चीत गांव में सम्मेलन के द्वारा शादी हुई थी. जिसकी आज मौत हो गई है. घर पर फांसी के फंदे पर लटका हुआ शव मिला है. घटना को लेकर परिजनों की ओर से दहेज हत्या का आरोप लगाया गया है. मृतका के भाई सचिन ने बताया कि शादी के दिन से ही ससुराली जनों के द्वारा दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाता था जिसकी खातिर आज उसकी हत्या कर दी गई है. पुलिस उपाधीक्षक विजय कुमार ने बताया कि महिला की मौत के बाद पोस्टमार्टम कार्यवाही करा कर शव पीहर पक्ष को सौंप दिया है. तथा दर्ज कराए गए मामले के आधार पर कार्यवाही शुरू कर दी है. 

राज्य में एनपीआर रजिस्टर बनाने के सॉफटवेयर के नाम पर घोटाला, हाईकोर्ट ने 6 अधिकारियों को जारी किया नोटिस 

पुलिस के साथ भी लोग अभद्रता करने पर उतारू हो गए:
पुलिस कार्रवाई के बाद दाह संस्कार के लिए शव ले जाते समय दोनों पक्षों के लोगों के बीच रास्ते में तकरार हो गई. इस दरमियान मौके पर पहुंची पुलिस के साथ भी लोग अभद्रता करने पर उतारू हो गए. इस दरमियान शव ले जाने पर काफी देर तक पहले दोनों पक्षों के बीच हंगामा फिर पुलिस से तकरार होती दिखी. 

'अंतर्राष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता' दिवस: महिलाएं स्वच्छ व स्वस्थ रहकर ही अपने परिवार को स्वस्थ रख पाएंगी- ममता भूपेश

'अंतर्राष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता' दिवस: महिलाएं स्वच्छ व स्वस्थ रहकर ही अपने परिवार को स्वस्थ रख पाएंगी- ममता भूपेश

जयपुर: महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री ममता भूपेश ने कहा कि अपने परिवार को स्वस्थ रखने के लिए महिलाओं को पहले स्वयं के स्वास्थ्य पर ध्यान देना होगा. उन्होंने कहा कि महिलाएं स्वच्छ व स्वस्थ रह कर ही अपने परिवार को स्वस्थ रख सकती है. 

राज्य में एनपीआर रजिस्टर बनाने के सॉफटवेयर के नाम पर घोटाला, हाईकोर्ट ने 6 अधिकारियों को जारी किया नोटिस 

भूपेश गुरुवार को अन्तर्राष्ट्रीय माहवारी स्वच्छता दिवस पर अपने निवास पर महिला अधिकारिता विभाग द्वारा सोशल एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए आयोजित राष्ट्रीय कार्यक्रम में बोल रही थी. उन्होंने बताया कि 28 मई जो कि 28 दिन के अंतराल पर 5 दिवस के माहवारी दिवस के प्रतीक के रूप में महिलाओं के स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए जागरूकता हेतु आयोजित किया जाता है. 

महिलाएं अपने स्वास्थ्य को नजरअंदाज नहीं करें:
इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के चलते महिलाएं अपने स्वास्थ्य को नजरअंदाज नहीं करें. आज हमारा प्रदेश, देश एवं संपूर्ण विश्व जिन विषम परिस्थितियों से गुजर रहा है उनमें महिलाओं को अपने घर एवं परिवार जनों की देखभाल पहले की तुलना में अधिक सजग होकर करने की जरूरत है. ऎसी स्थिति में महिलाएं अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखेंगी तभी अपने परिवार को भी स्वस्थ रख पाऎंगी. इसके लिए जरूरी है कि महिलाएं अपने 5 दिनों में स्वच्छता विधियों एवं साधनों का प्रयोग करें. 

आगामी समय में निसंदेह हमारे लिए वित्तीय परिस्थितियां चुनौतीपूर्ण रहेंगी: 
भूपेश ने यह भी कहा कि आगामी समय में निसंदेह हमारे लिए वित्तीय परिस्थितियां चुनौतीपूर्ण रहेंगी इसलिए हमारे प्रदेश की बेटियां और बहनें मजबूती से अपने को संभाले एवं परिवार को स्वस्थ एवं सुरक्षित रखें और एक स्वस्थ भारत का निर्माण करें. 

प्रत्येक 10 महिलाओं को इसके लिए जागरूक करेंगी:
इस अवसर पर उपस्थित पांच महिला लाभार्थियों को जागरूकता संदेश के साथ सेनेटरी नैपकिन तथा साबुन का वितरण किया गया एवं कार्यक्रम समाप्ति के पश्चात जयपुर जिले की विभिन्न जगहों पर लाभार्थी महिलाओं को भी सैनेटरी नैपकिन तथा साबुन का वितरण करवाया गया. कार्यक्रम में उपस्थित सभी महिलाओं ने संकल्प भी लिया कि वे अपने आसपास की प्रत्येक 10 महिलाओं को इसके लिए जागरूक करेंगी. 

सोशल मीडिया की अफवाह पर परिजनों ने जताई कोरोना पॉजिटिव की आंशका, एसडीएम ने कराया दाह संस्कार 

इस मौके पर ये अधिकारी रहे मौजूद:
इस मौके पर विभाग के शासन सचिव के के पाठक, निदेशक समेकित बाल विकास सेवाएं डॉ. प्रतिभा सिंह, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की ब्रांड एंबेसडर अनुपमा सोनी ,महिला सुरक्षा एवं सलाह केंद्र की राज्य स्तरीय स्टीयरिंग कमेटी की सदस्य निशा सिद्धू ,मीनाक्षी माथुर एवं डॉक्टर मेनका व विभाग के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे. 

राज्य में एनपीआर रजिस्टर बनाने के सॉफटवेयर के नाम पर घोटाला, हाईकोर्ट ने 6 अधिकारियों को जारी किया नोटिस

राज्य में एनपीआर रजिस्टर बनाने के सॉफटवेयर के नाम पर घोटाला, हाईकोर्ट ने 6 अधिकारियों को जारी किया नोटिस

जयपुर: देश में राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर को लेकर कि जा रही कवायद में राज्य के सूचना विभाग की कंपनी राजकॉम्प ने सॉफटवेयर के नाम पर ही 2 करोड़ से अधिक का घोटाला किया है. बिना सॉफटवेयर के बिना निर्माण और बिना कम्प्यूटर में इंस्टाल किये ही करीब 2 करोड़ 40 लाख का भुगतान किया गया. मामले में शिकायत के बाद भी कार्यवाही नहीं करने पर राजस्थान हाईकोर्ट ने तत्कालिन यूआईडी आधार के अतिरिक्त निदेशक हंसराज यादव, आधार उपनिदेशक रणवीरसिंह, प्रोजेक्ट अधिकारी सीताराम स्वरूप, तत्कालिन वित्त निदेशक निलेश शर्मा, मैनेजेर वित्त कौशल गुप्ता, राजकॉम्प एमडी और एसीबी महानिदेशक को हाईकोर्ट ने नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है. खण्डपीठ ने प्रकरण की अगली सुनवाई 6 जुलाई को तय की है. 

सोशल मीडिया की अफवाह पर परिजनों ने जताई कोरोना पॉजिटिव की आंशका, एसडीएम ने कराया दाह संस्कार 

टेण्डर में अतिशय लिमिटेड को 2 करोड़ 40 लाख का वर्क आर्डर दिया: 
पब्लिक अगेंस्ट करप्शन संस्था की ओर से दायर जनहित याचिका में एडवोकेट पूनम चंद भंडारी और डॉ टी एन शर्मा ने अदालत को बताया कि 7 मार्च 2018 को निकाले गये टेण्डर में अतिशय लिमिटेड को 2 करोड़ 40 लाख का वर्क आर्डर दिया गया. इस आर्डर के तहत 36 लाख रूपये सॉफटवेयर के निर्माण के लिए, 1 करोड़ 4 लाख रूपये सपोर्ट के लिए जारी किये गये. लेकिन कंपनी द्वारा ना तो ऐसा कोई सॉफ्टवेयर बनाया गया और ना ही किसी भी कम्प्यूटर में इंस्टाल ही किया गया. फिर भी सॉफ्टवेयर बनाने के लिए एक करोड़ 36 लाख और सपोर्ट एवं हेल्प डेस्क के नाम पर 26 लाख से अधिक का भुगतान कर दिया गया.

फेफड़े मजबूत करने के लिए खाएंगे ये चीजें तो रोगों से रहेंगे दूर 

6 अधिकारियों को नोटिस जारी कर जवाब तलब:
याचिका मे कहा गया कि सिरोही, टोंक और गंगानगर जिलों से प्राप्त आरटीआई  सूचना के अनुसार इन तीन जिलों मे सॉफ्टवेयर इंस्टाल ही नहीं किया गया है. मामले की शिकायत एसीबी में किेय जाने के बावजूद कोई कार्यवाही नहीं की गयी. बहस सुनने के बाद जस्टिस सबीना की खण्डपीठ ने राज्य के एसीबी महानिदेशक सहित 6 अधिकारियों को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है. 

सोशल मीडिया की अफवाह पर परिजनों ने जताई कोरोना पॉजिटिव की आंशका, एसडीएम ने कराया दाह संस्कार

सोशल मीडिया की अफवाह पर परिजनों ने जताई कोरोना पॉजिटिव की आंशका,  एसडीएम ने कराया दाह संस्कार

भीलवाड़ा: जिले के करेड़ा में कोरोना पॉजिटिव से नेगटिव होकर सकुशल घर पहुंची 3 माह की मासूम बच्ची की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा खड़ा कर दिया. कारण यह रहा की सोशल मीडिया पर कांट छांट कर एक खबर को प्रस्तुत किया गया. उसी खबर को तथ्यात्मक मानते हुए परिजनों ने प्रशासन को आड़े हाथ ले लिया जिसके बाद प्रशासनिक अधिकारी सहित थानाधिकारी जगदीश प्रसाद ने समझाइश कर मामले को शांत कराया.

कांग्रेस का बड़ा ऑनलाइन अभियान, सोनिया गांधी ने की हर परिवार को 7500 रुपये प्रति माह देने की मांग 

अस्पताल से उसे डिस्चार्ज कर घर भेज दिया गया:
हुआ यूं कि करेड़ा थाना क्षेत्र के एक परिवार को गत दिनों(कोविड-19) संक्रमण हो गया. जिन्हें जिला अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया. परिवार की महिला व एक 3 माह की बच्ची की कोरोना रिपोर्ट नेगिटिव आने के बाद अस्पताल से उसे डिस्चार्ज कर घर भेज दिया गया. बुधवार को बच्ची की तबियत बिगड़ने के बाद नजदीकी अस्पताल ले जाया गया वहां प्राथमिक उपचार कर घर ले गए जहां बच्ची ने दम तोड़ दिया. उसी दरमियान किसी व्यक्ति में सोशल मीडिया पर बच्ची के कोरोना पॉजिटिव होने की तथ्यहीन खबर वायरल कर दी. जिससे परिजनों के मन मे एक गलत धारण बन गई कि जब बच्ची कोरोना पॉजिटिव थी तो उसे नेगिटिव बता कर घर क्यो भेज दिया गया.

फेफड़े मजबूत करने के लिए खाएंगे ये चीजें तो रोगों से रहेंगे दूर 

बच्ची के पिता को भीलवाड़ा में क्वॉरेंटाइन: 
आज सुबह जब घरवालों ने बच्ची का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया तो उपखंड अधिकारी महिपाल सिंह, तहसीलदार हरेंद्र सिंह, नायब तहसीलदार ओमप्रकाश शर्मा, थाना प्रभारी जगदीश प्रसाद आदि ने मौके पर पहुंचकर परिजनों से समझाइस की. उपखंड अधिकारी महिपाल सिंह ने गड्डा खोदकर बच्ची का अंतिम संस्कार का कार्यक्रम करवाया. वहीं बताया गया कि बच्ची के पिता को भीलवाड़ा में क्वॉरेंटाइन किया हुआ है. 

Open Covid-19