Live News »

पांच दिनों से लापता युवक का सुनसान कुंए में मिला शव

पांच दिनों से लापता युवक का सुनसान कुंए में मिला शव

आहोर (जालोर)। आहोर थाना क्षेत्र के पादरली गांव में पिछले पांच दिनों से लापता युवक का शव आज एक सुनसान कुंए में मिलने से क्षेत्रभर में सनसनी फैल गई। पादरली गांव निवासी चेतनदास वैष्णव 10 जनवरी बिना बताए घर से गायब हो गया था। जिसकी गुमशुदगी रिपोर्ट उसके परिजनों ने आहोर थाने में दर्ज करवा रखी है। 

पुलिस और परिजन पिछले पांच दिनों से जिस युवक की तलाश कर रही थी। उसी युवक की आज गांव के पास ही एक सुनसान कुएं में लाश मिलने से गांव में जबरदस्त दहशत का माहौल बन गया। सूचना मिलते ही आहोर थानाधिकारी नाथूसिंह चारण जाब्ते के साथ मौके पर पहुंचे और उच्चाधिकारियों को भी अवगत कराया। जिस पर जालोर डिप्टी अमरसिंह चंपावत भी मौके पर पहुंचे। घटनास्थल पर गांव सहित आसपास के गांवों से भी लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। 

स्थानीय लोगों की मदद से मृतक के शव को बाहर निकाला गया और पादरली गांव के ही सरकारी अस्पताल में लाया गया। जहां शव का पोस्टमार्टम कर परिजनों को सुपुर्द किया गया। पुलिस ने परिजनों की रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पूरे मामले का खुलासा हो पायेगा।

और पढ़ें

Most Related Stories

कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपए ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व दलाल गिरफ्तार

कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपए ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व दलाल गिरफ्तार

जालोर: जिले के आहोर में कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपये ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व उसके दलाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. क्षेत्र के चार युवक इस लुटेरी दुल्हन के जाल में फंस कर ठगी के शिकार हुए है. जानकारी के मुताबिक पिछले महीने रूपसिंह, धनाराम, अमृत भाई व जगदीश ने आहोर पुलिस थाने मे रिपोर्ट पेश कर गुजरात निवासी कल्पना बेन व अन्य लोगों के खिलाफ शादी के नाम पर धोखाधड़ी करने व घर से गहने व रूपये ले जाने का मामला दर्ज कराया था. मामले की तहकीकात के लिए थाने के एएसआई अखाराम व टीम ने गुजरात के जामनगर मे दबिश देकर लूटेरी दुल्हन कल्पना बैन व दलाल विमल दामा को गिरफ्तार कर आहोर लाया गया.

कुंआरे युवकों को शादी के नाम पर रूपये ऐंठने का यह एक सक्रिय गिरोह:  
पुलिस ने बताया कि कुंआरे युवकों को शादी के नाम पर रूपये ऐंठने का यह एक सक्रिय गिरोह है. जो मोटी रकम लेकर युवक के साथ शादी रचने का ढोंग करती है और चार पांच दिन तक घर वालो का विश्वास जीतकर मौका पा कर गहने व नकदी लेकर फरार हो जाती है. दुल्हन को भगाने मे इस गिरोह की प्रमुख भूमिका रहती है. इस सारे काम मे नाम व पत्ते झूठे दिए जाते है. लूटेरी दुल्हन ने शादी के नाम पर लाखों रुपए लूटने की जानकारी मिली है. जांच अधिकारी ने बताया कि गिरोह के अन्य सदस्य लक्ष्मी प्रजापत व शानदाबेन की तलाश की जा रही है. पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर ठगी की रकम बरामद करने का प्रयास कर रही है. 

Open Covid-19