धरातल पर नहीं आ पा रहे रिसर्जेंट राजस्थान और 'ग्राम' में हुए कृषि सेक्टर के एमओयू

Dinesh Kumar Dangi Published Date 2017/12/22 07:35

जयपुर। रिसर्जेंट राजस्थान और ग्लोबल एग्रीटेक मीट में निवेश को बढ़ावा देने के लिए एग्रीकल्चर सेक्टर के लिए हुए एमओयू अभी तक धरातल पर नहीं उतर पा रहे  हैं। लैंड कन्वर्जन और अधिकारियों के निष्क्रियता के चलते एमओयू प्रोग्रेस आगे नहीं बढ़ रही है। इसको लेकर कृषि पंत भवन में इनवेस्टर्स की एक अहम बैठक हुई, जिसमें कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने निवेशकों से चर्चा करते हुए उनकी समस्याएं सुनी।

बैठक के दौरान निवेशकों ने सबसे ज्यादा समस्या पानी, लैंड कन्वर्जन और जमीन अलॉटमेंट की बताई। इस पर मंत्री ने अधिकारियों को फकटाकर लगाते हुए आगे से किसी भी तरह की लापरवाही नहीं होने की चेतवानी दी। बता दे कि रिसर्जेंट राजस्थान में 4 हजार 140 करोड़ रुपए के 20 एमओयू हुए थे, जिसमें 12 एमओयू पूरे हो चुके हैं। वहीं चार ड्रॉप हो गए हैं और शेष चार पाइपलाइन में है।

वहीं जयपुर, कोटा और उदयपुर ग्लोबल राजस्थान एग्रीटेक मीट (ग्राम) में टोटल 6 हजार करोड़ रुपए के 78 एमओयू हुए थे, जिसमें से सिर्फ 8 एमओयू हुए हैं और 18 एमओयू प्रक्रियाधीन है। कृषि मंत्री ने बताया कि रेवन्यू विभाग को लैंड से जुड़ी समस्याएं जल्द समाधान करने के निर्देश दे दिए हैं। वहीं जिले में जहां दिक्कत आ रही है, वहां एक सहायक नोडल अधिकारी लगाने पर सहमति बनी है।

बहरहाल ऐसे में, रिसर्जेंट राजस्थान और 'ग्राम' जैसे बड़े बड़े आयोजनों के माध्यम से हुए इतने सारे एमओयू में से महज गिनती के ही एमओयू पूरे होने को लेकर निवेश के लिए किए जाने वाले प्रयासों पर सवालिया निशान खड़े हो गए हैं। साफ है कि एमओयू को लालफीताशाही के चलते अमलीजामा नहीं पहनाया जा रहा हैं, जिससे ये एमओयू धरातल पर नहीं उतर पा रहे हैं।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

विजय माल्या के प्रत्यर्पण पर आज आ सकता है बड़ा फैसला

संसद सत्र हंगामेदार रहने के आसार
प्रधानमंत्री कार्यालय के PRO जगदीश ठक्कर का निधन
धौलपुर जेल से कैदी का वीडियो वायरल
मासूम बच्चो की प्रस्तुतियों ने मोहा मन
प्रेरक वक्ता राम चंदानी ने दिए सफलता के मूल मंत्र, जिंदगी वैसी बनाएं जैसी जीना चाहते है
मासूम बच्चो की प्रस्तुतियों ने मोहा मन
थम गई सरिस्का के बाघ ST-4 की साँसे
loading...
">
loading...