Live News »

कोरोना संकट के बीच मोदी सरकार के बड़े ऐलान, MSME को 20 हजार करोड़ लोन के प्रस्ताव को मंजूरी

नई दिल्ली: कोरोना वायरस संकट के बीच सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक हुई. बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि कैबिनेट ने ऐतिहासिक फैसले लिए हैं. किसानों, मजदूरों और छोटे कारोबारियों को ध्यान में रखते हुए निर्णय लिया गया है. मोदी कैबिनेट की बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू हो गई है. किसान और उद्योग को लेकर कई अहम फैसले लिए गए हैं. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि MSME को 20 हजार करोड़ लोन के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है, जिससे नौकरी के बढ़ेंगे अवसर. कैबिनेट के फैसले से करोड़ों किसानों को लाभ होगा.

प्रेस कॉन्फ्रेंस की खास बातें...
-MSME को लोन देने की व्यवस्था
-किसानों और छोटे उद्योगों को लेकर फैसले हुए
-व्यावसाय आसान करने की दिशा में काम
-MSME अर्थव्यवस्था की रीढ़ है
-MSME में नई नौकरियां पैदा होंगी
-MSME को पर्याप्त फंड दिया
-MSME के लिए ढांचा करने में मदद होगी
-MSME के लिए 50 हजार करोड़ का इक्विटी निवेश
-रेहड़ी,पटरी वालों के लिए सुक्ष्म ऋण योजना
-MSME के लिए 20 हजार करोड़ के लोन का प्रावधान

केजरीवाल सरकार का ऐलान, दिल्ली के सारे बॉर्डर एक सप्ताह के लिए सील

-सैलून,मोची और पान की दुकानों को भी लाभ
-रेहड़ी,पटरी वालों के लिए सूक्ष्म ऋण योजना
-50 लाख रेहड़ी,पटरी वालों को होगा योजना से लाभ
-प्रति फुटपाथ दुकानदार को देंगे 10 हजार का कर्ज
-3 लाख रुपए लोन तक 2 फीसदी बैंक ब्याज की छूट
-किसानों के लिए कर्ज भुगतान की तारीख 31 अगस्त
-फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य लागू किया

-सरकार गरीबों को लेकर संवेदनशील
-80 करोड़ लोगों को राशन दिया गया
-MSME को नए सिरे से पारित किया गया
-मधुमक्खी पालन पर मदद,500 करोड़ की मदद
-पशुपालन को बढ़वा देने के लिए 15 हजार करोड़
-जानवरों को बीमारी से बचाने के लिए 13 हजार करोड़
-मछली पालन को बढ़ावा देने के लिए 20 हजार करोड़
-मंडी कानून में बदलाव होगा

दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून पहुंच गया केरल, अगले 24 घंटे में लक्षद्वीप में भारी बारिश की संभावना

और पढ़ें

Most Related Stories

भारत में नकली अयोध्या बताकर घर में ही घिरे पीएम केपी ओली

भारत में नकली अयोध्या बताकर घर में ही घिरे पीएम केपी ओली

काठमांडू: नेपाल (Nepal) के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली (KP Sharma Oli) ने दावा किया कि भारत ने सांस्कृतिक अतिक्रमण के लिए नकली अयोध्या का निर्माण किया है. जबकि, असली अयोध्या नेपाल में है. ओली ने सवाल किया कि उस समय आधुनिक परिवहन के साधन और मोबाइल फोन (संचार) नहीं था तो राम जनकपुर तक कैसे आए? उन्होंने दावा किया कि लेकिन, हमने भारत में स्थित अयोध्या के राजकुमार को सीता नहीं दी. बल्कि नेपाल के अयोध्या के राजकुमार को दी थी. अयोध्या एक गांव हैं जो बीरगंज के थोड़ा पश्चिम में स्थित है. भारत में बनाया गया अयोध्या वास्तविक नहीं है. 

Rajasthan Political Crisis: आज फिर होगी कांग्रेस विधायक दल की बैठक, सचिन पायलट को भी बुलाया 

बेतुकी टिप्पणी पर वे अब घर में घिरते नजर आ रहे:  
वहीं ओपी की इस बेतुकी टिप्पणी पर वे अब घर में घिरते नजर आ रहे हैं. सोशल मीडिया पर ओली के इस बयान का मजाक किया जा रहा है, इसके साथ नेपाल के कई बड़े नेता भी इस टिप्पणी को लेकर आपत्ति जाहिर कर रहे हैं. इससे पहले भी नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (NCP) पहले ही ओली को भारत विरोधी बयानों के लिए चेतावनी दे चुकी है. 

धर्म राजनीति और कूटनीति से ऊपर: 
नेपाली लेखक और पूर्व विदेश मंत्री रमेश नाथ पांडे ने ट्वीट किया है कि धर्म राजनीति और कूटनीति से ऊपर है. यह एक बड़ा भावनात्मक विषय है. अबूझ भाव और ऐसी बयानबाज़ी से आप केवल शर्मिंदगी महसूस करते हैं. और अगर असली अयोध्या बीरगंज के पास है तो फिर सरयू नदी कहाँ है?

आदि-कवि ओली द्वारा रचित कल युग की नई रामायण सुनिए:
वहीं नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री बाबू राम भट्टाराई ने ओली के बयान पर व्यंग्य करते हुए लिखा है कि आदि-कवि ओली द्वारा रचित कल युग की नई रामायण सुनिए, सीधे बैकुंठ धाम का यात्रा करिए.

कांग्रेस विधायक दानिश अबरार बोले, सरकार के पास बहुमत से ज्यादा नंबर हैं

इस तरह के निराधार, अप्रमाणित बयानों से बचना चाहिए:
राष्ट्रीय प्रजातांत्री पार्टी के सह-अध्यक्ष कमल थापा ने ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री के लिए इस तरह के निराधार, अप्रमाणित बयानों से बचना चाहिए. थापा ने ट्वीट किया कि  ऐसा लग रहा है कि पीएम तनावों को हल करने के बजाय नेपाल-भारत संबंधों को और खराब करना चाहते हैं. सिर्फ कमल ही नहीं नेपाल राष्ट्रीय योजना आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष स्वर्णिम वागले ने चेतावनी दी कि भारतीय मीडिया पीएम के ऐसे बयान से विवादास्पद सुर्खियां बटोर सकता है और बना सकता है. 

सुंदर पिचाई ने किया एलान, Google भारत में करेंगी 75,000 करोड़ रुपए का निवेश

सुंदर पिचाई ने किया एलान, Google भारत में करेंगी 75,000 करोड़ रुपए का निवेश

नई दिल्ली: Google अगले 5 से 7 वर्ष में भारत में 75,000 करोड़ रुपए का निवेश करेगा. इसकी घोषणा सोमवार को Google के सीईओ सुंदर पिचाई ने की. खबरों के मुताबिक पिचाई ने कहा कि भारत की डिजिटल अर्थव्यवस्था को गति देने में मदद करने के लिए 75,000 करोड़ रुपए का फंड देंगे.

डिजिटलीकरण कोष की घोषणा करने के लिए उत्साहित हूं:
Google फॉर इंडिया इवेंट को संबोधित करते हुए पिचाई ने कहा कि यह नवीनतम कदम भारत के भविष्य और इसकी डिजिटल अर्थव्यवस्था में कंपनी के विश्वास का प्रतिबिंब है. पिचाई ने कहा कि आज मैं भारत के डिजिटलीकरण कोष की घोषणा करने के लिए उत्साहित हूं. अगले 5-7 सालों में हम भारत में 75,000 करोड़ रुपए या 10 बिलियन अमरीकी डालर का निवेश करेंगे. 

पीसीसी दफ्तर में वापस लगाए गए पायलट के पोस्टर, खुद प्रियंका गांधी कर रहीं मध्यस्थता !

पीएम मोदी ने की सुंदर पिचाई से मुलाकात:
इससे पहले पीएम मोदी ने सुंदर पिचाई से हुई बातचीत की जानकारी देते हुए ट्वीट में लिखा, आज सुबह सुंदर पिचाई के साथ बातचीत हुई. हमने कई विषयों पर बात की, खास तौर से तकनीक के जरिए भारत के किसानों, युवाओं और उद्यमियों के जीवन को बदलने के विषय में बातचीत की.

सावन के दूसरे सोमवार को हुई शिव मंदिरों में पूजा अर्चना, भोले शंकर का हुआ अभिषेक

CBSE Results: 12वीं का रिजल्ट हुआ जारी, cbseresults.nic.in पर करें चेक

CBSE Results: 12वीं का रिजल्ट हुआ जारी, cbseresults.nic.in पर करें चेक

नई दिल्ली: CBSE 12वीं के स्टूडेंट्स का इंतजार खत्म हो गया है. सीबीएसई ने 12वीं क्लास के रिजल्ट घोषित कर दिए हैं. मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि सीबीएसई ने 12वीं के रिजल्ट घोषित कर दिए हैं. आप इसे http://cbseresults.nic.in/ पर देख सकते हैं.

Rajasthan Political Crisis: सचिन पायलट का बड़ा बयान, कहा- 25 विधायक मेरे साथ बैठे  

बतादें कि सीबीएसई ने सुप्रीम कोर्ट को इस बात की जानकारी दी थी कि वह 10वीं और 12वीं की पेंडिंग परीक्षाओं को रद्द कर दिया है और रिजल्ट 15 जुलाई तक जारी कर देंगें. 

Rajasthan Political Crisis: सचिन पायलट के लिए कांग्रेस के दरवाजे हमेशा खुले, जेपी को खरीद-फरोख्त का मौका देना अनुचित- सुरजेवाला  

इस साल 88.78 फीसदी छात्रों ने 12वीं सीबीएसई परीक्षा उत्तीर्ण की:
बोर्ड की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक इस साल 88.78 फीसदी छात्रों ने 12वीं सीबीएसई परीक्षा उत्तीर्ण की. इस साल परीक्षा में त्रिवेंद्रम, बेंगलुरु और चेन्नई प्रदर्शन के मामले में टॉप थ्री रहे हैं. इस साल जहां दिल्ली जोन में 94.39% परिणाम आया है, वहीं लड़कियों का प्रतिशत 92.15 प्रतिशत रहा. बता दें कि इस साल लड़कियों ने लड़कों से 5.96% बेहतर प्रदर्शन किया है.

Covid-19 Update: पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 28 हजार नए मामले, देश में अब करीब साढ़े 8 लाख कोरोना पॉजिटिव केस

Covid-19 Update: पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 28 हजार नए मामले, देश में अब करीब साढ़े 8 लाख कोरोना पॉजिटिव केस

नई दिल्ली: देशभर में लगातार कोरोना वायरस के मामले बढ़ते जा रहे है. रोजाना मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है. रविवार को पहली बार 24 घंटे में रिकॉर्ड 28 हजार से ज्यादा कोरोना के नए मामले सामने आये है. अब तक देश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 8 लाख 49 हजार के पार पहुंच गई है. 

अब तक 22 हजार से ज्यादा मौतें:
स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में अबतक 8 लाख 49 हजार 553 लोग कोरोना पॉजिटिव हो चुके है. इनमें से 22 हजार 674 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 5 लाख 34 हजार लोग ठीक भी हुए हैं. गत 24 घंटों में कोरोना वायरस के 28 हजार 637 नए मामले सामने आए और 551 मौतें हुईं.आपको बता दें कि अमेरिका और ब्राजील के बाद हर दिन सबसे ज्यादा मरीज भारत में सामने आ रहे है. 

विधायक खरीद फरोख्त प्रकरण: अपनी संबंधता सूची से कांग्रेस ने तीन विधायकों के नाम हटाए

अब 3 लाख के करीब एक्टिव केस:
अगर बात करें आंकड़ों की. तो उनके मुताबिक देश में इस समय 2 लाख 92 हजार 258 कोरोना के एक्टिव केस हैं. इनमें से सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र राज्य में हैं. महाराष्ट्र में 99 हजार से ज्यादा पॉजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है. इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर दिल्ली, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है. इन 5 राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं. 

अमिताभ बच्चन और अभिषेक बच्चन की रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव,  फैंस में छाई मायूसी

Corona Impact: दिल्ली की सभी यूनिवर्सिटी में परीक्षाएं रद्द, पिछले नतीजों को आधार पर होगा प्रमोशन

Corona Impact: दिल्ली की सभी यूनिवर्सिटी में परीक्षाएं रद्द, पिछले नतीजों को आधार पर होगा प्रमोशन

नई दिल्ली: कोरोना संकट की वजह से दिल्ली विश्वविद्यालयों की परीक्षा रद्द कर दी गई है. डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली राज्य के जितने भी युनिवर्सिटी  हैं उनकी आगामी परीक्षा रद्द कर दी जाएगी. 

कोरोना पिछले 100 साल का सबसे बड़ा स्वास्थ्य एवं आर्थिक संकट- RBI गवर्नर

परीक्षा लेना और डिग्री न देना होगा अन्याय: 
उन्होंने कहा कि सभी बच्चों को अगले सेमेस्टर में प्रमोट कर दिया जाएगा. सिसोदिया ने कहा कि सभी यूनिवर्सिटीज़ को फाइनल एग्ज़ाम कैंसिल कर छात्रों के इवैल्युएशन का कोई पैमाना तैयार कर डिग्री जल्द से जल्द देने के लिए कहा गया है. कोरोना के कारण से परीक्षा लेना और डिग्री न देना अन्याय होगा. 

सेंट्रल यूनिवर्सिटीज भी ले निर्णय:
यह निर्णय स्टेट यूनिवर्सिटीज़ के लिए लिया गया है. उन्होंने दिल्ली के अंदर आने वाली सभी सेंट्रल यूनिवर्सिटीज़ के लिए केंद्र को निर्णय लेना है. इसके लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को पत्र लिख निवेदन किया है कि दिल्ली सरकार जैसा फैसला देश की दूसरी सेंट्रल यूनिवर्सिटीज़ के लिए भी लिया जाए.

प्रदेश की राजनीति में बढ़ती हलचल ! 26 कांग्रेस विधायकों ने भाजपा पर लगाया सरकार को अस्थिर करने का आरोप

कोरोना पिछले 100 साल का सबसे बड़ा स्वास्थ्य एवं आर्थिक संकट- RBI गवर्नर

कोरोना पिछले 100 साल का सबसे बड़ा स्वास्थ्य एवं आर्थिक संकट- RBI गवर्नर

नई दिल्ली: भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के बैंकिंग एंड इकोनॉमिक्स कॉन्क्लेव में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि कोरोना वायरस पिछले 100 साल का सबसे बड़ा स्वास्थ्य एवं आर्थिक संकट है. कोरोना महामारी को देखते हुए ये कार्यक्रम इस बार वर्चुअल आयोजित हो रहा है. कॉन्क्लेव की थीम 'बिजनेस और अर्थव्यवस्था पर कोरोना का प्रभाव' रखी गई है. दो दिवसीय कॉन्क्लेव शुक्रवार को शुरू हुआ था और आज इसे आरबीआई गवर्नर ने संबोधित किया. 

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में पहली बार आए 27 हजार से ज्यादा नए मामले, देश में 8 लाख से पार हुआ मरीजों का आंकड़ा 

पिछले 100 सालों में सबसे खराब स्वास्थ्य और आर्थिक संकट:  
इस कार्यक्रम में शक्तिकांत दास ने कहा कि कोरोना वायरस पिछले 100 सालों में सबसे खराब स्वास्थ्य और आर्थिक संकट है. कोरोना की वजह से उत्पादन और नौकरियों पर नेगेटिव प्रभाव पड़ा है. इसने दुनिया भर में मौजूदा व्यवस्था, श्रम और कैपिटल के मूवमेंट को कम किया है. ऐसे में मौजूदा संकट में अर्थव्यवस्था को सहयोग देने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक ने कई कदम उठाए हैं. 

RBI के लिए विकास पहली प्राथमिकता:
उन्होंने कहा कि RBI के लिए विकास पहली प्राथमिकता है. वित्तीय स्थिरता भी उतनी ही महत्त्वपूर्ण है. RBI ने उभरते जोखिमों की पहचान करने के लिए अपने ऑफसाइट निगरानी तंत्र को मजबूत किया है. रिजर्व बेंक गवर्नर ने कहा कि ''कोरोना वायरस महामारी से एनपीए बढ़ेगा और पूंजी का क्षरण होगा.''

प्रदेश की राजनीति में बढ़ती हलचल ! 26 कांग्रेस विधायकों ने भाजपा पर लगाया सरकार को अस्थिर करने का आरोप 

भारतीय अर्थव्यवस्था के वापस सामान्य स्थिति की ओर लौटने के संकेत:
आगे शक्तिकांत दास ने कहा कि लॉकडाउन के प्रतिबंध हटने के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था के वापस सामान्य स्थिति की ओर लौटने के संकेत दिखने शुरू हो गये हैं. उन्होंने कहा कि संकट के समय में भारतीय कंपनियों और उद्योगों ने बेहतर काम किया. दबाव में फंसी संपत्ति से निपटने के लिये वैधानिक अधिकार संपन्न ढांचागत प्रणाली की जरूरत है.


 

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में पहली बार आए 27 हजार से ज्यादा नए मामले, देश में 8 लाख से पार हुआ मरीजों का आंकड़ा

Coronavirus Updates: पिछले 24 घंटे में पहली बार आए 27 हजार से ज्यादा नए मामले, देश में 8 लाख से पार हुआ मरीजों का आंकड़ा

नई दिल्ली: भारत में लगातार कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 27,114 नए मामले सामने आए हैं और 519 लोगों की मौत हुई है. ऐेस में अब देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 8,20,916 हो गई है. जिनमें से 2,83,407 सक्रिय मामले हैं, 5,15,386 लोग ठीक हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और अब तक 22,123 लोगों की मौत हो चुकी है. 

विधायक खरीद-फरोख्त प्रकरण में भारत भाई और अशोक सिंह से पूछताछ करेगी SOG  

देश में कोरोना से रिवकरी रेट 62.78%:  
स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी किये गये आंकड़ों के अनुसार फिलहाल देश में कोरोना से रिवकरी रेट 62.78% है. CMR द्वारा अब तक जांच किये गये सैंपल्स में पॉज़िटिविटी रेट 9.59% है. वहीं 10 जुलाई तक COVID19 के लिए 1,13,07,002 नमूनों का परीक्षण किया गया, इनमें से 2,82,511 नमूनों का परीक्षण शुक्रवार को किया गया था.

देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में:
देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं. महाराष्ट्र में 95 हजार से ज्यादा संक्रमितों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है. इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर दिल्ली, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है. इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं.

प्रदेश की राजनीति में बढ़ती हलचल ! 26 कांग्रेस विधायकों ने भाजपा पर लगाया सरकार को अस्थिर करने का आरोप 

दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश भारत:
वहीं भारत कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश है. अमेरिका, ब्राजील के बाद कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित भारत है. लेकिन अगर प्रति 10 लाख आबादी पर संक्रमित मामलों और मृत्युदर की बात करें तो अन्य देशों की तुलना में भारत की स्थिति बहुत बेहतर है. 

Coronavirus Updates: पहली बार आए 26 हजार से ज्यादा नए मामले, देश में अब 7.93 लाख केस

Coronavirus Updates: पहली बार आए 26 हजार से ज्यादा नए मामले, देश में अब 7.93 लाख केस

नई दिल्ली: देश में लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, ​पिछले 24 घंटों में कोरोना के 26,506 नए मामले सामने आए हैं, जब​कि 475 मरीजों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. ऐसे में अब देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 7,93,802 हो गई है. जिनमें से 2,76,685 सक्रिय मामले हैं, 4,95,513 लोग ठीक हो चुके हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और अब तक 21,604 लोगों की मौत हो चुकी है. 

 अखिलेश, प्रियंका, दिग्विजय और सुरजेवाला ने उठाए विकास दुबे के एनकाउंटर पर सवाल, जमकर साधा निशाना 

देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में:  
देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं. इसके बाद दूसरे नंबर पर तमिलनाडु, तीसरे नंबर पर दिल्ली, चौथे नंबर पर गुजरात और पांचवे नंबर पर पश्चिम बंगाल है. इन पांच राज्यों में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं. 

भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश: 
कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का तीसरा सबसे प्रभावित देश है. अमेरिका, ब्राजील के बाद कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित भारत है. लेकिन अगर प्रति 10 लाख आबादी पर संक्रमित मामलों और मृत्युदर की बात करें तो अन्य देशों की तुलना में भारत की स्थिति बहुत बेहतर है. 

कांग्रेस का 'मिशन पंचायत '! अदालती आदेशों के बाद पायलट कैंप सक्रिय 

दुनियाभर में मरने वालों की संख्या पांच लाख 57 हजार से ज्यादा: 
दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना के कहर से लगातार जूझ रही है. वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, इस वायरस से मरने वालों की संख्या पांच लाख 57 हजार से ज्यादा हो गई है और संक्रमितों का आंकड़ा एक करोड़ 23 लाख 89 हजार को पार कर गया है. जबकि 71 लाख 87 हजार से ज्यादा लोगों ने कोरोना को मात दी है. 


 

Open Covid-19