कोरोना संकट के बीच मोदी सरकार के बड़े ऐलान, MSME को 20 हजार करोड़ लोन के प्रस्ताव को मंजूरी

नई दिल्ली: कोरोना वायरस संकट के बीच सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय कैबिनेट की बैठक हुई. बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि कैबिनेट ने ऐतिहासिक फैसले लिए हैं. किसानों, मजदूरों और छोटे कारोबारियों को ध्यान में रखते हुए निर्णय लिया गया है. मोदी कैबिनेट की बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस शुरू हो गई है. किसान और उद्योग को लेकर कई अहम फैसले लिए गए हैं. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि MSME को 20 हजार करोड़ लोन के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है, जिससे नौकरी के बढ़ेंगे अवसर. कैबिनेट के फैसले से करोड़ों किसानों को लाभ होगा.

प्रेस कॉन्फ्रेंस की खास बातें...
-MSME को लोन देने की व्यवस्था
-किसानों और छोटे उद्योगों को लेकर फैसले हुए
-व्यावसाय आसान करने की दिशा में काम
-MSME अर्थव्यवस्था की रीढ़ है
-MSME में नई नौकरियां पैदा होंगी
-MSME को पर्याप्त फंड दिया
-MSME के लिए ढांचा करने में मदद होगी
-MSME के लिए 50 हजार करोड़ का इक्विटी निवेश
-रेहड़ी,पटरी वालों के लिए सुक्ष्म ऋण योजना
-MSME के लिए 20 हजार करोड़ के लोन का प्रावधान

केजरीवाल सरकार का ऐलान, दिल्ली के सारे बॉर्डर एक सप्ताह के लिए सील

-सैलून,मोची और पान की दुकानों को भी लाभ
-रेहड़ी,पटरी वालों के लिए सूक्ष्म ऋण योजना
-50 लाख रेहड़ी,पटरी वालों को होगा योजना से लाभ
-प्रति फुटपाथ दुकानदार को देंगे 10 हजार का कर्ज
-3 लाख रुपए लोन तक 2 फीसदी बैंक ब्याज की छूट
-किसानों के लिए कर्ज भुगतान की तारीख 31 अगस्त
-फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य लागू किया

-सरकार गरीबों को लेकर संवेदनशील
-80 करोड़ लोगों को राशन दिया गया
-MSME को नए सिरे से पारित किया गया
-मधुमक्खी पालन पर मदद,500 करोड़ की मदद
-पशुपालन को बढ़वा देने के लिए 15 हजार करोड़
-जानवरों को बीमारी से बचाने के लिए 13 हजार करोड़
-मछली पालन को बढ़ावा देने के लिए 20 हजार करोड़
-मंडी कानून में बदलाव होगा

दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून पहुंच गया केरल, अगले 24 घंटे में लक्षद्वीप में भारी बारिश की संभावना

और पढ़ें