जबलपुर: मोदी ने वैज्ञानिकों को भारत में कोविड-19 रोधी टीका विकसित करने के लिए प्रेरित किया: खटीक

मोदी ने वैज्ञानिकों को भारत में कोविड-19 रोधी टीका विकसित करने के लिए प्रेरित किया: खटीक

मोदी ने वैज्ञानिकों को भारत में कोविड-19 रोधी टीका विकसित करने के लिए प्रेरित किया: खटीक

जबलपुर: केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र कुमार खटीक ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के वैज्ञानिकों और डॉक्टरों को चिकित्सा अनुसंधान करने के लिए प्रेरित किया, जिसके कारण भारत में कोविड-19 रोधी टीके का विकास हुआ. केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री ने शनिवार को यहां पत्रकारों से कहा कि यह पहली बार है कि हमें किसी वायरस से लड़ने के लिए टीके प्राप्त करने हेतु किसी अन्य देश पर निर्भर होने की आवश्यकता नहीं है. 

केंद्र सरकार की उपलब्धियां जनता तक पहुंचे:
खटीक भाजपा की जन आर्शीवाद यात्रा शुरू करने के लिए जबलपुर दौरे पर हैं. जन आर्शीवाद यात्रा केंद्र सरकार की नीतियों और उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाने के लिए निकाली जा रहा है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैज्ञानिकों और डॉक्टरों को चिकित्सा अनुसंधान करने के लिए प्रेरित करने की पहल की जिसके कारण देश में कोविड-19 रोधी टीके का विकास हुआ. उन्होंने कहा कि इसकी विपरीत कई देशों में पोलियो के खिलाफ टीकाकरण लगभग पूरा होने के तीन से चार साल बाद भारत में पोलियो रोधी टीकाकरण शुरू किया गया था. 

60 करोड़ कोविड-19 टीके की लगी खुराक:
उन्होंने कहा कि देश में अब तक लगभग 60 करोड़ कोविड-19 रोधी टीके की खुराकें दी गई हैं. केंद्र सरकार की योजनाओं पर बोलते हुए मंत्री ने कहा कि सड़कों, उद्योगों और रेलवे के बुनियादी ढांचे को मजबूत करके भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए अगले 25 वर्षों के लिए प्रधानमंत्री के नेतृत्व में 100 लाख करोड़ रुपये की अमृत काल नामक एक रोडमैप तैयार किया गया है. सोर्स-भाषा

और पढ़ें