देहरादून उत्तराखंड में लडाई राज्य गठित करने वालों और उसके निर्माण में रोड़ा अटकाने वालों के बीच : मोदी

उत्तराखंड में लडाई राज्य गठित करने वालों और उसके निर्माण में रोड़ा अटकाने वालों के बीच : मोदी

उत्तराखंड में लडाई राज्य गठित करने वालों और उसके निर्माण में रोड़ा अटकाने वालों के बीच : मोदी

देहरादून: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में लडाई राज्य का गठन करने वालों और उसके गठन में हर संभव रोड़ा अटकाने की साजिश करने वालों के बीच है. विधानसभा चुनाव के लिए प्रदेश में 14 फरवरी को होने वाले मतदान से पहले हरिद्वार में वर्चुअल रैली 'विजय संकल्प सभा' को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने केंद्र और राज्य की पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारों पर आरोप लगाया कि पार्टी की इच्छा के विपरीत उत्तराखंड का गठन होने के कारण उन्होंने राज्य में विकास नहीं होने दिया और आज तक अपनी भड़ास निकाल रहे हैं.

उन्होंने जनता से सवाल किया, आप बताइए, जो लोग उत्तराखंड को राज्य के रूप में देखना ही नहीं चाहते थे, वे लोग उत्तराखंड का विकास होते देखना चाहेंगे क्या? प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड हमारे लिए देवभूमि है लेकिन कांग्रेस के लिए यह एटीएम है, तिजोरी है और वह यहां के प्राकृतिक संसाधनों को लूटते रहना चाहती है. राज्य और केंद्र की पूर्ववर्ती कांग्रेस/संप्रग सरकारों को 'डबल ब्रेक' सरकारों की संज्ञा देते हुए मोदी ने कहा कि उनके कार्यकाल में ऋषिकेश—कर्णप्रयाग रेलवे लाइन का काम शुरू नहीं करना उनकी इस विकास विरोधी रूख का जबरदस्त उदाहरण है.

उन्होंने कहा कि इस परियोजना पर एक दशक पहले काम शुरू होना था लेकिन पिछली ब्रेक वाली सरकार इस पर ब्रेक पर ब्रेक लगाती रही. उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार में जहां इस परियोजना के लिए मात्र चार करोड़ रुपये दिए गए वहीं डबल इंजन सरकार में इसके लिए साढे पांच हजार करोड़ रुपये दिए जा चुके हैं.इसी प्रकार, उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली-देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग के काम को भी कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश से मंजूरी नहीं मिलने के बहाने लटका रखा है.

 

कांग्रेस पर उत्तराखंड के सपनों का गला घोंटने और उसे विकास की यात्रा में दशकों पीछे धकेलने का अक्षम्य पाप करने का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि ब्रेक लगाने वाले फिर मौके की तलाश में हैं लेकिन उत्तराखंड की जनता उन्हें कभी माफ नहीं करेगी.मोदी ने जनता से 14 फरवरी को मतदान करते समय कांग्रेस के गुनाहों को याद रखने की भी अपील की. उन्होंने जनता से पुष्कर सिंह धामी के युवा नेतृत्व वाली डबल इंजन सरकार के पक्ष में मतदान करने का आग्रह किया ताकि बड़ी विकास परियोजनाएं निर्बाध रूप से चलती रहें.

हरिद्वार में रिंग रोड के लिए 1,500 करोड़ रुपये की मंजूरी दिए जाने का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि उत्तराखंड और हरिद्वार का विकास हमारे लिए पुण्य का कार्य है लेकिन कांग्रेस हरिद्वार नहीं बल्कि 'घर द्वार और परिवार' के लिए काम करती है.प्रधानमंत्री ने हरिद्वार में हर की पौडी पर गंगा नदी को नहर घोषित करने को लेकर कांग्रेस की आलोचना की और आरोप लगाया कि उसने (कांग्रेस) खनन माफिया को पनपने का मौका देने के लिए ऐसा किया. उन्होंने कहा कि लूट और झूठ का इतना बड़ा षडयंत्र इनकी कारस्तानी है.

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर उत्तराखंड में तुष्टिकरण का जहर घोलने की कोशिश करने का भी आरोप लगाया और कहा कि कांग्रेस नेता विश्वविद्यालय के नाम पर जो तुष्टिकरण यहां कर रहे हैं, वह उत्तराखंड के लोगों की आंखें खोलने को काफी है. इसके पहले भी सत्ता में रहने के दौरान इन्होंने उत्तराखंड की संस्कृति और पहचान को बिगाड़ने के लिए कई खेल खेले थे. कांग्रेस के 'चार धाम, चार काम' नारे पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि अगर इन्होंने चारों धामों की पहले सुध ले ली होती तो लोगों को पलायन नहीं करना पड़ता. उन्होंने कहा कि केदारनाथ पुनर्निर्माण का काम भी प्रदेश में डबल इंजन की सरकार के आने पर ही शुरू हो सका.

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के दोबारा सत्ता में आने का दावा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि योगी जब आते हैं तो अपराधी माफिया वहां से भागते हैं और अगर यहां कांग्रेस की सरकार होती तो वे भागकर यहीं छिप जाते. उन्होंने लोगों से इस संबंध में आगाह करते हुए प्रदेश की जनता से कांग्रेस को फिर से मौका नहीं देने की अपील की.(भाषा) 

और पढ़ें