नए साल पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लिखी देशवासियों को समर्पित कविता, अभी तो सूरज उगा है... 

नए साल पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लिखी देशवासियों को समर्पित कविता, अभी तो सूरज उगा है... 

नए साल पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लिखी देशवासियों को समर्पित कविता, अभी तो सूरज उगा है... 

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कोविड-19 महामारी से प्रभावित साल 2020 की विदाई और नए साल के आगमन पर देशावासियों को शुभकामनाएं दीं और साथ ही एक कविता भी साझा की जिसके माध्यम से उन्होंने अंधेरों और मुश्किलों को पीछे छोड़ कर नए संकल्पों व नई उम्मीदों के साथ आगे बढ़ने का संदेश दिया. देशवासियों को समर्पित इस कविता का शीषक है ‘अभी तो सूरज उगा है’.

ज्ञात हो कि कोविड-19 महामारी की वजह से पिछले साल लोगों को बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ा. कई लोगों ने अपने प्रिय जनों को खोया तो कई लोगों को आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ा. प्रधानमंत्री ने अपनी कविता के माध्यम से लोगों को प्रोत्साहित करने की कोशश की और देशवासियों को नई ऊर्जा और नए संकल्पों के साथ आगे बढ़ने का संदेश दिया.

प्रधानमंत्री की यह कविता नागरिकों को सरकार से जुड़ने और सुशासन के लिए योगदान देने का अवसर प्रदान करने वाले डिजिटल मंच ‘‘माई गांव’’ की ओर से ट्वीटर पर साझा की गई.

कविता का वीडियो साझा करते हुए ट्वीट में कहा गया कि नए साल के पहले दिन की शुरुआत हम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लिखित तथा मंत्रमुग्ध व प्रोत्साहित कर देने वाले गीत अभी तो सूरज उगा है’ से करते हैं.  इससे पहले, मोदी ने नए वर्ष के आगमन पर देशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दीं तथा उनके सुख, समृद्धि और स्वस्थ जीवन की कामना की. उन्होंने ट्वीट किया कि आप सभी को वर्ष 2021 की बधाई. यह साल आपके जीवन में सुख, समृद्धि और उत्तम स्वास्थ्य लेकर आए. उम्मीद और कल्याण की भावना प्रबल हो.
सोर्स भाषा
 

और पढ़ें