टीम प्रबंधन को लेकर फिर बोले आमिर, कहा- मिसबाह की अगुवाई वाले स्टाफ के हटने के बाद देश के लिए उपलब्ध रहूंगा

टीम प्रबंधन को लेकर फिर बोले आमिर, कहा- मिसबाह की अगुवाई वाले स्टाफ के हटने के बाद देश के लिए उपलब्ध रहूंगा

टीम प्रबंधन को लेकर फिर बोले आमिर, कहा- मिसबाह की अगुवाई वाले स्टाफ के हटने के बाद देश के लिए उपलब्ध रहूंगा

कराची: पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की मौजूदा व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए संन्यास की घोषणा करने वाले बायें हाथ के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने सोमवार को कहा कि मुख्य कोच मिसबाह उल हक के नेतृत्व वाले सहयोगी स्टाफ के हटने के बाद वह फिर से पाकिस्तान के प्रतिनिधित्व करने के लिए तैयार है.

आमिर ने कोच मिसबाह और वकार युनूस पर लगाया था उनकी छवि को खराब करने का आरोपः
टेस्ट क्रिकेट से पहले ही संन्यास ले चुके 28 साल के आमिर ने न्यूजीलैंड दौरे के लिए नहीं चुने जाने के बाद पिछले महीने बोर्ड पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. उन्होंने इसके बाद मिसबाह और गेंदबाजी कोच वकार युनूस पर उनकी छवि को खराब करने का आरोप लगाया.
 
आमिर ने कहा- मैं पाकिस्तान के प्रतिनिधित्व लिए तभी उपलब्ध रहूंगा जब यह प्रबंधन हट जाएगाः
आमिर ने ट्वीट किया कि मैं यह स्पष्ट करना चाहूंगा कि मैं पाकिस्तान के प्रतिनिधित्व लिए तभी उपलब्ध रहूंगा जब यह प्रबंधन हट जाएगा. इसलिए कृपया अपनी कहानी बेचने के लिए फर्जी खबरें फैलाना बंद करें.

आमिर ने ड्रेसिंग रूम में डरावने माहौल को खत्म करने के लिए भी कहा थाः
आमिर ने पिछले सप्ताह कहा था कि पाकिस्तान की ड्रेसिंग रूम के माहौल में बदलाव की काफी जरूरत है. उन्होंने मीडिया से कहा कि खिलाड़ियों को खुद के लिए समय और स्वतंत्रता दें. ड्रेसिंग रूम में इस डरावने माहौल को खत्म करें, यही खिलाड़ी आपके लिए मैच जीतेंगे.

स्पॉट फिक्सिंग के आरोप आमिर को पांच सालों तक झेलना पड़ा था प्रतिबंधः
आमिर ने 2019 में सीमित ओवरों के प्रारूप पर ध्यान देने के लिए टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहा था. उन्होंने 36 टेस्ट में 119 विकेट लिए है. स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में वह 2010 से 2015 तक पांच साल के लिए प्रतिबंधित भी रहे थे.
सोर्स भाषा

और पढ़ें